logo
Breaking

डांस मेरी लाइफ का इंट्रेस्टिंग पार्ट: मेघना नायडू

मेघना नायडू एक के बाद एक टीवी सीरियल कर रही हैं।

डांस मेरी लाइफ का इंट्रेस्टिंग पार्ट: मेघना नायडू
मुंबई. म्यूजिक वीडियो ‘कलियों का चमन’ से पॉपुलर हुर्इं मेघना नायडू फिल्मों के बाद अब छोटे पर्दे पर भी एक्टिव हैं। इन दिनों वह जीटीवी के सीरियल ‘एक मां जो लाखों के लिए बनी अम्मा’ में अपनी जबरदस्त अदाएं बिखेर रही हैं। इस सीरियल और डांसिंग करियर से जुड़ी बातें मेघना नायडू से।
लगता है मेघना नायडू का मन छोटे पर्दे पर रम गया है, तभी तो वो एक के बाद एक सीरियल कर रही हैं। ‘जोधा अकबर’ और ‘ससुराल सिमर का’ जैसे बड़े सीरियल के साथ उन्होंने रियालिटी शोज भी किए। आजकल मेघना जीटीवी के सीरियल ‘एक मां जो लाखों के लिए बनी अम्मा’ में नजर आ रही हैं। इस सीरियल को उन्होंने क्या सोचकर एक्सेप्ट किया, पूछने पर बताती हैं, ‘सीरियल का कॉन्सेप्ट बड़ा यूनिक है। यह सास-बहू के सीरियल से हटकर है। स्टोरी से लेकर स्टारकास्ट तक जबरदस्त है। वूमेन डॉन को लेकर इसकी कहानी को बुना गया है। इसी वजह से मैं इसमें काम करने के लिए राजी हुई।’
मेघना का कैरेक्टर काफी अलग है। उनके कैरेक्टर का नाम हनान है, जो एक डांसर है। हनान अम्मा की पड़ोसन है, वह उनके पति पर डोरे डालती है। एक्चुअली, हनान बहुत चंचल है, खूब अदाएं मारती है। वह हमेशा अपनी हरकतों से अम्मा को सताती रहती है। वो दिल की बुरी नहीं है, लेकिन उसके कैरेक्टर में थोड़े ग्रे शेड्स भी हैं। मेघना यह भी बताती हैं, ‘अपने कैरेक्टर हनान के लिए मैंने खूब मेहनत की है। इस सीरियल में मैं नॉर्मल ह्यूमन बीइंग कैरेक्टर प्ले कर रही हूं। सच कहूं तो मुझे हनान बनने के लिए अपनी अदाओं पर काफी वर्क करना पड़ रहा है। इसके लिए मैंने रेखाजी की फिल्म ‘उमराव जान’ से इंस्पिरेशन ली है। मुझे इस सीरियल में उर्दू डायलॉग्स बोलने पड़ रहे हैं, शेरो-शायरी भी करनी पड़ती है। उर्दू को सही ढंग से बोलने के लिए भी मैंने खूब मेहनत की है।
मेघना नायडू सीरियल में मुजरा भी करती नजर आएंगी। वह कहती हैं, ‘मुझे तो बॉलीवुड डांसिंग का क्रेज है। आप सुबह चार बजे भी ‘चिकनी चमेली’, ‘कलियों का चमन...’ या किसी सॉन्ग पर डांस करने को कहें तो मैं शुरू हो जाऊंगी, मुझे कोई परेशानी नहीं होगी। लेकिन मुजरा या इंडियन क्लासिकल डांस करने में मुझे थोड़ी दिक्कत होती है, प्रैक्टिस करनी पड़ती है।’ छोटे पर्दे पर मेघना ने जितने भी सीरियल किए हैं। उनमें उनके कैरेक्टर में ज्यादातर नेगेटिव रहे हैं। क्या उन्हें नेगेटिव रोल से खास लगाव है? वह जवाब देती हैं, ‘ऐसा कुछ नहीं है। वैसे आॅडियंस को नेगेटिव रोल ही ज्यादा एंटरटेन और अट्रैक्ट करते हैं। नेगेटिव शेड्स वाले कैरेक्टर ही कहानी में ट्विस्ट लाते हैं।’ म्यूजिक वीडियो ‘कलियों का चमन’ से डांसिंग क्वीन की पहचान पार्इं मेघना के लिए डांस लाइफ का बहुत ही अहम हिस्सा बन चुका है। वह कहती हैं, ‘बिना डांस के मेरी लाइफ बहुत ही बोरिंग हो जाएगी। डांस मेरी लाइफ का इंट्रेस्टिंग पार्ट है। मैं आज भी स्टेज शो देती रहती हूं। डांस तो मैं कभी छोड़ ही नहीं सकती।’
मेघना नायडू ने फिल्मों में भी काम किया है। वह चहकते हुए बताती हैं, ‘मेरा करियर अब तक बहुत ही शानदार रहा है। इनफेक्ट, मुझे कई अच्छी फिल्में भी मिली हैं, जिसके बारे में मैंने कभी नहीं सोचा था। मैंने यह भी कभी नहीं सोचा था कि टीवी सीरियल में काम करूंगी, लेकिन अब कर रही हूं। छोटे पर्दे पर मुझे बहुत मजा आ रहा है। हां, मेरा करियर ग्राफ उतना अच्छा नहीं गया, जितना होना चाहिए था। इसके लिए मैं खुद को ही दोष दूंगी, कुछ कमी है तभी ऐसा है। ’ फिल्मों में मेघना नायडू का टैलेंट सिर्फ आइटम डांस तक ही सीमित रहा है, क्या वह इससे आगे नहीं जाना चाहतीं? मुस्कुराते हुए मेघना जवाब देती हैं, ‘अच्छा ही है न। अगर सब मुझे डांसिंग में बेहतर मानते हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं है। जब डांसिंग से ही मुझे पॉपुलैरिटी मिल रही है तो मैं उसे क्यों न इस्तेमाल करूं। आज भी बहुत सी एक्ट्रेस हैं, जिन्हें एक्टिंग तो आती है लेकिन डांस नहीं आता। वे जब मुझसे मिलती हैं, तो कहती हैं कि- वाउ आपका डांस बहुत अच्छा लगा। इस तरह मुझे तो खुद पर बहुत प्राउड होता है।’
एज बढ़ने के साथ और ज्यादा निखरता है डांसर
देखा गया है कि एक डांसर की यंग एज में ही डिमांड रहती है, उम्र बढ़ने के साथ उसकी डिमांड कम हो जाती है। लेकिन मेघना इस बात को नहीं मानतीं, वह कहती हैं, ‘मेरा तो मानना है कि डांसर का एक्सपीरियंस जितना ज्यादा होता जाता है, उसका आॅरा अलग ही नजर आता है। उदाहरण के लिए हेमा मालिनी, माधुरी दीक्षित और शोभना नारायण को ही लीजिए। ये बचपन से ही डांस से जुड़ी रही हैं और आज भी डांस कर रही हैं। हेमा जी और माधुरी जी आज भी डांस करने लग जाएं तो ऐसा लगता है कि उनमें कोई चेंज नहीं आया है। इसलिए यह सिर्फ एक धारणा बनी हुई है कि एज बढ़ने के साथ अदाएं और लोच कम हो जाती है। एक्चुअली, एज बढ़ने के साथ और ज्यादा निखरता है डांसर।’
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top