logo
Breaking

अपनों को खुश रखने की कोशिश हमेशा करनी चाहिए : मानसी श्रीवास्तव

मानसी श्रीवास्तव के एक्टिंग करियर की शुरुआत टीवी सीरियल ‘सुरवीन गूगल’ से हुई

अपनों को खुश रखने की कोशिश हमेशा करनी चाहिए : मानसी श्रीवास्तव
मुंबई. मानसी श्रीवास्तव के एक्टिंग करियर की शुरुआत टीवी सीरियल ‘सुरवीन गूगल’ से हुई, इसमें वह सेकंड लीड रोल में थीं। जल्द ही अपने एक्टिंग टैलेंट के दम पर मानसी को ‘दो दिल बंधे एक डोरी से’ में लीड रोल निभाने का मौका मिला।
इन दिनों वह कॉमेडी सीरियल ‘पीटरसन हिल’ में शताब्दी के रोल में नजर आ रही हैं। इसमें उनकी बेहतरीन कॉमिक टाइमिंग देखने को मिल रही है। वह कॉमेडी करके काफी खुश हैं। सीरियल और करियर से जुड़ी बातें मानसी श्रीवास्तव से।

सीरियल ‘पीटरसन हिल’ में आप शताब्दी नाम की लड़की का रोल प्ले कर रही हैं। शताब्दी तो ट्रेन का नाम है, क्या उससे आपके कैरेक्टर का कोई रिलेशन है?
शताब्दी का नाम इसलिए शताब्दी है, क्योंकि वह बहुत बहुत फास्ट बोलती है और शताब्दी ट्रेन भी बहुत फास्ट चलती है। वैसे हमारा पूरा शो ही ट्रेन और प्लेटफॉर्म के लोगों से जुड़ा है। मुझे यह नाम बहुत अच्छा लगा था, इसने मुझे बहुत अट्रैक्ट किया था। शताब्दी एक चुलबुली लड़की है, सबको खुश रखने की कोशिश करती है। मुझे शताब्दी का रोल प्ले करने में बहुत मजा आ रहा है। मैं मानती हूं कि 60-70 प्रतिशत मैं भी शताब्दी जैसी हूं।
आपने कहा कि शताब्दी सबको खुश रखने की कोशिश करती है। क्या रियल लाइफ में ऐसा पॉसिबल है कि हम हर किसी को खुश रख पाएं?
नहीं, ऐसा कर पाना बहुत मुश्किल है। क्योंकि हर शख्स का नेचर अलग होता है, हर किसी को कंविंस करना भी पॉसिबल नहीं है। लेकिन हम अपनी तरफ से कोशिश तो कर ही सकते हैं। कम से कम अपनों को खुश रखने की कोशिश हमेशा करनी चाहिए।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरा इंटरव्यू -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top