logo
Breaking

मानिनी डे मिश्रा का मानना है, सच्चे प्यार में शब्दों की जरूरत नहीं होती

हमेशा क्वालिटी वर्क में बिलीव करती हैं मानिनी डे मिश्रा

मानिनी डे मिश्रा का मानना है, सच्चे प्यार में शब्दों की जरूरत नहीं होती
‘जस्सी जैसी कोई नहीं’ में परी का नेगेटिव रोल करने वाली मानिनी डे मिश्रा इन दिनों सब टीवी के साइलेंट रोमांटिक कॉमेडी सीरियल ‘रम पम पो’ में दर्शकों को खूब हंसा रही हैं। इस सीरियल में प्यार के सलोने अहसास खामोशी के अंदाज में दिखाए जा रहे हैं। प्यार में खामोशी और शब्द क्या मायने रखते हैं? हंसी-मजाक जिंदगी के लिए कितनी जरूरी हैं, बता रही हैं मानिनी डे मिश्रा।
साइलेंट रोमांटिक कॉमेडी सीरियल ‘रम पम पो’ में आप अलग अंदाज में नजर आ रही हैं, क्या खास लगा सीरियल में जो आपने इसमें काम करना एक्सेप्ट किया?
मैं हमेशा क्वालिटी वर्क करने में बिलीव करती हूं। इसलिए आप कम ही मुझे टीवी पर देखते हैं। जहां तक इस सीरियल की बात है, तो सब टीवी पर पहले ‘गुटगूं’ नाम का साइलेंट कॉमेडी सीरियल आया था। वह मुझे बहुत पसंद आया था। मैं भी इस तरह का काम करना चाहती थी। इसलिए जब मेरे पास ‘रम पम पो’ का ऑफर आया, मैंने इसे तुरंत एक्सेप्ट कर लिया। मैं एक एक्टर के तौर पर अपने काम से सैटिस्फाइड होना चाहती हूं, इसलिए सिर्फ सेलेक्टेड वर्क ही करती हूं।
साइलेंट कॉमेडी करना कितना मुश्किल लग रहा है?
एक्टर के लिए एक्सप्रेशन और डायलॉग बहुत मायने रखते हैं। ऐसे में अगर उससे एक सेंस के साथ परफॉर्म करना हो, तो मुश्किल होगी ही। साइलेंट कॉमेडी बहुत ही चैलेंजिग काम है। साइलेंट कॉमेडी का ग्रामर बहुत अलग होता है। इसमें एक्टर को बहुत एंप्रेसिव होना पड़ता है, बिना बोले बहुत कुछ करना पड़ता है। तभी दर्शक हमारी बात को समझ पाते हैं। साइलेंट कॉमेडी में बतौर एक्टर मेरी बहुत ग्रोथ होगी और क्रिएटिव सैटिस्फैक्शन मिलेगा। यह मेरे लिए एक बड़ी एचीवमेंट होगी।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरा इंटरव्यू -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top