Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Unnati Davara Interview: मणिकर्णिका में मैंने अपने रोल को नहीं बल्कि रोल ने मुझे चुनाः उन्नति दावरा

इस समय कंगना रनोट की फिल्म ‘मणिकर्णिका’ की खूब चर्चा है, बॉक्स ऑफिस पर भी यह फिल्म अच्छा कलेक्शन कर रही है, दर्शकों को भी खूब भा रही है। कंगना रनोट की एक्टिंग इस फिल्म की जान है, साथ ही कई और फीमेल एक्ट्रेसेस भी इस फिल्म का हिस्सा हैं, जिनके काम को सराहा जा रहा है। इसमें टीवी एक्ट्रेस अंकिता लोखंडे के अलावा उन्नति दावरा भी हैं। वह छत्तीसगढ़ के रायपुर से बिलॉन्ग करती हैं। 2010 में मिस इंडिया की फाइनलिस्ट रह चुकी हैं। एड फिल्में कर चुकी हैं, पंजाबी और बांग्ला फिल्में भी उन्होंने की हैं। फिल्म ‘मणिकर्णिका’ उनकी पहली हिंदी फिल्म है। इसमें कंगना रनोट के साथ स्क्रीन शेयर कर के वह काफी खुश हैं। बातचीत उन्नति दावरा से।

Unnati Davara Interview: मणिकर्णिका में मैंने अपने रोल को नहीं बल्कि रोल ने मुझे चुनाः उन्नति दावरा
X
इस समय कंगना रनोट की फिल्म ‘मणिकर्णिका’ की खूब चर्चा है, बॉक्स ऑफिस पर भी यह फिल्म अच्छा कलेक्शन कर रही है, दर्शकों को भी खूब भा रही है। कंगना रनोट की एक्टिंग इस फिल्म की जान है, साथ ही कई और फीमेल एक्ट्रेसेस भी इस फिल्म का हिस्सा हैं, जिनके काम को सराहा जा रहा है। इसमें टीवी एक्ट्रेस अंकिता लोखंडे के अलावा उन्नति दावरा भी हैं। वह छत्तीसगढ़ के रायपुर से बिलॉन्ग करती हैं। 2010 में मिस इंडिया की फाइनलिस्ट रह चुकी हैं। एड फिल्में कर चुकी हैं, पंजाबी और बांग्ला फिल्में भी उन्होंने की हैं। फिल्म ‘मणिकर्णिका’ उनकी पहली हिंदी फिल्म है। इसमें कंगना रनोट के साथ स्क्रीन शेयर कर के वह काफी खुश हैं। बातचीत उन्नति दावरा से।
सवाल- फिल्म ‘मणिकर्णिका’ रिलीज हो चुकी है, इस फिल्म में आपकी एक्टिंग को भी सराहा जा रहा है, इस रेस्पॉन्स को कैसे देखती हैं?
जवाब- अच्छा लगा रहा है कि मेरे काम को पहचान मिली। मुझे यकीन था कि इस फिल्म में मेरा जो रोल है, उसे दर्शक जरूर पसंद करेंगे। मैंने फिल्म ‘मणिकर्णिका’ में मुंदार का किरदार निभाया है। वह एक सजग योद्धा है, युद्ध कला में माहिर है। रानी लक्ष्मीबाई तक सटीक खबर पहुंचाती है। इस रोल में मुझे खतरनाक एक्शन सींस करने पड़े थे। जिसके लिए मैंने घुड़सवारी और तलवारबाजी सीखी। मेरे लिए फिल्म ‘मणिकर्णिका’ में काम करना एक यादगार बात है।
सवाल- इस फिल्म के लिए आपका सेलेक्शन कैसे हुआ?
जवाब- मैंने अपने रोल को नहीं बल्कि रोल ने मुझे चुना। दरअसल, तीन साल पहले ‘एम.एस. धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी’ के लिए मैंने लुक टेस्ट दिया था। लेकिन मुझे इसके लिए थोड़ी देरी हो चुकी थी और कास्ट फाइनल हो चुकी थी। उसके बाद मुझे तीन साल बाद ‘मणिकर्णिका’ के प्रोड्यूसर कमल जैन का फोन आया और उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या आपको घुड़सवारी आती है, उनका सवाल सुनकर मैं चौंक गई। दरअसल, मुझे घोड़े पर चढ़ने से डर लगता है। लेकिन जब मैंने रोल के बारे में सुना तो तुरंत तैयार हो गई। मैंने अपने डर को भुलाया और रोल की तैयारी में लग गई।
सवाल- फिल्म ‘मणिकर्णिका’ में कंगना रनोट, अंकिता लोखंडे और कई एक्ट्रेसेस हैं। उनके साथ काम करने का एक्सपीरियंस कैसा रहा?
जवाब- बहुत ही अच्छा रहा। इतनी सारी लड़कियां साथ होने के बावजूद कहीं कॉम्पिटिशन, जेलसी वाली फीलिंग नहीं थी। हर कोई अपने किरदार में डूबा हुआ था। सब लोग बहुत ही प्यार, मोहब्बत से रहे। शूटिंग के दौरान माहौल भी बहुत अच्छा था। कंगना के बारे में क्या कहूं, वह कमाल की एक्ट्रेस ही नहीं, बेहतरीन इंसान भी हैं। मैं फिल्म ‘मणिकर्णिका’ से पहले कंगना को ज्यादा नहीं जानती थी, उनके बारे में सिर्फ पढ़ा और सुना था। लेकिन पर्सनली जब मैं उनसे सेट पर मिली तो बहुत इंप्रेस हुई। वह एक मैच्योर एक्ट्रेस हैं। फिर उन्होंने जिस तरह बॉलीवुड में अपने लिए जगह बनाई है, वह हम सभी नॉन फिल्मी बैकग्राउंड की एक्ट्रेसेस के लिए एक इंस्प्रेशन है।
सवाल- बतौर डायरेक्टर भी कंगना ने फिल्म का कुछ हिस्सा शूट किया है। उनके डायरेक्शन में काम करना कैसा रहा?
जवाब- फिल्म के डायरेक्टर कृष को अपने कमिटमेंट्स की वजह से फिल्म की शूटिंग से ब्रेक लेना पड़ा। ऐसे में कृष के बाद अगर कोई फिल्म को पूरी तरह समझता था तो वह कंगना थीं। फिर उन्होंने डायरेक्शन का कोर्स भी किया हुआ है। जब मुझे पता चला कि कंगना फिल्म को डायरेक्ट करने वाली हैं तो खुशी भी हुई और डर भी लगा कि कहीं गलत शॉट पर उनसे डांट न पड़ जाए। लेकिन कंगना ने बहुत आसानी से डायरेक्शन के काम को संभाला। वह हर शॉट के बाद सभी की तारीफ करती थीं, सबको मोटिवेट करती थीं।
सवाल- अपने अब तक के सफर को आप कैसे देखती हैं, क्या आप करियर ग्रोथ से संतुष्ट हैं?
जवाब- मैं छत्तीसगढ़ के रायपुर की रहने वाली हूं, मेरा बचपन रायपुर में गुजरा है। हम गुजराती हैं, पापा बिजनेस मैन हैं, रायपुर में हमारा इंजीनियरिंग कॉलेज है। पापा चाहते थे कि मैं कॉलेज का काम संभाल लूं। लेकिन मुझे एक्टिंग में दिलचस्पी थी लिहाजा मैंने पढ़ाई के बाद ब्यूटी कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेना शुरू किया। चार साल तक कथक डांस की ट्रेनिंग भी ली। पंजाबी, बांग्ला फिल्में कीं। अब हिंदी में ‘मणिकर्णिका’ की है। इस तरह अपने आगे बढ़ते करियर से खुश हूं।

सवाल- आजकल फिल्म स्टार टीवी पर भी काम करने लगे हैं, क्या आप छोटे पर्दे पर काम करना चाहेंगी?
जवाब- छोटे पर्दे के कलाकारों का मैं बहुत सम्मान करती हूं, जितनी मेहनत वह करते हैं, वह करना आसान नहीं है। दरअसल, मैंने भी एक हिंदी टीवी सीरियल किया था, इसके सिर्फ चार एपिसोड शूट किए थे, उस दौरान मेरी हालत खराब हो गई थी। उसके बाद मैंने टीवी पर काम करने का आइडिया ड्रॉप कर दिया। वैसे भी मेरा सपना बड़े पर्दे पर करियर बनाना है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story