Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मधुबाला की पुन्यतिथि: मधुबाला के ये डायलॉग सिखा देंगे प्यार की अहमियत

बॉलीवुड में मधुबाला को एक ऐसी अभिनेत्री के रूप में याद किया जाता जिन्होंने अपनी दिलकश अदाओं और दमदार अभिनय से लगभग चार दशक तक फिल्म प्रेमियों का भरपूर मनोरंजन किया। मधुबाला का असली नाम मुमताज बेगम देहलवी था। उनका जन्म दिल्ली में 14 फरवरी 1933 को हुआ था। उनके पिता अताउल्लाह खान दिल्ली में रिक्शा चालक थे। एक भविष्यवक्ता ने उनके बारे में भविष्यवाणी की कि मधुबाला बड़ी होकर बहुत शोहरत पाएगी। इस भविष्यवाणी को अताउल्लाह खान ने गंभीरता से लिया और वह मधुबाला को लेकर मुंबई आ गये। यहां पर मधुबाला ने फिल्मों में बेहतरीन काम किया। 23 फरवरी 1969 दिल की बीमारी से उनकी मौत हो गई। आज हम उनके फिल्मी करियर के पांच बेहतरीन डायलॉग के बारे में बता रहे हैं।

मधुबाला की पुन्यतिथि: मधुबाला के ये डायलॉग सिखा देंगे प्यार की अहमियत
बॉलीवुड में मधुबाला को एक ऐसी अभिनेत्री के रूप में याद किया जाता जिन्होंने अपनी दिलकश अदाओं और दमदार अभिनय से लगभग चार दशक तक फिल्म प्रेमियों का भरपूर मनोरंजन किया। मधुबाला का असली नाम मुमताज बेगम देहलवी था। उनका जन्म दिल्ली में 14 फरवरी 1933 को हुआ था। उनके पिता अताउल्लाह खान दिल्ली में रिक्शा चालक थे। एक भविष्यवक्ता ने उनके बारे में भविष्यवाणी की कि मधुबाला बड़ी होकर बहुत शोहरत पाएगी। इस भविष्यवाणी को अताउल्लाह खान ने गंभीरता से लिया और वह मधुबाला को लेकर मुंबई आ गये। यहां पर मधुबाला ने फिल्मों में बेहतरीन काम किया। 23 फरवरी 1969 दिल की बीमारी से उनकी मौत हो गई। आज हम उनके फिल्मी करियर के पांच बेहतरीन डायलॉग के बारे में बता रहे हैं।
  • मेरी आंखों से मेरे ख्वाब न छीनिए शहजादे, मैं मर जाउंगी- मुगले आजम
  • कांटों को मुरझाने का खौफ नहीं होता- मुगले आजम
  • शहंशाह की इन बेहिसाब बख्शीशों के बदले, कनीज़ जलालुद्दीन मोहम्मद अकबर को अपना खून माफ करती है- मुगले आजम
  • जो आंखो के सामने होते हुए भी दिखाई न दे उनके बारे में उन्हीं से क्या पूछें- काला पानी
  • जो किसी का दिल दुखाने की गलती कर सकते हैं, वो उन्हें मना भी सकते हैं।- काला पानी
Next Story
Top