Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कीर्ति खरबंदा ने खोला साउथ सिनेमा का काला सच, देओल परिवार से जुड़ा ये राज भी किया उजागर

साउथ और हिंदी की फिल्मों में कीर्ति खरबंदा एक साथ काम कर रही हैं। लेकन हाल ही में उनकी फिल्म ''यमला पगला दीवाना फिर से'' रिलीज हुई है।

कीर्ति खरबंदा ने खोला साउथ सिनेमा का काला सच, देओल परिवार से जुड़ा ये राज भी किया उजागर

साउथ और हिंदी की फिल्मों में कीर्ति खरबंदा एक साथ काम कर रही हैं। उनकी कुछ हिंदी फिल्में सफल रहीं तो एक-दो फिल्में असफल भी रहीं। अब वह देओल फैमिली के साथ फिल्म ‘यमला पगला दीवाना फिर से’ में कॉमेडी करती नजर आएंगी।

कीर्ति फिल्म में धर्मेंद्र पाजी के साथ स्क्रीन शेयर करके खुद को लकी फील कर रही हैं। फिल्म ‘यमला पगला दीवाना फिर से’ के प्रमोशन के दौरान कीर्ति से मुलाकात हुई।

फिल्म ‘यमला पगला दीवाना फिर से’ में आपका रोल क्या है?

मैं खुश हूं कि इस फिल्म का हिस्सा बनी। देओल फैमिली के साथ काम करने का एक्सपीरियंस कमाल का रहा। धर्मेंद्र जी, सनी देओल और बॉबी देओल की फिल्में बचपन से देख रही हूं तो उनके साथ काम करने को लेकर एक्साइटेड थी। फिल्म में मैंने एक गुजराती लड़की का किरदार निभाया है। मैं पंजाबी हूं तो अपने रोल के लिए गुजराती भाषा बोलने की ट्रेनिंग ली।

सुना है कि आपने फिल्म में स्टंट भी किए हैं?

हां, फिल्म में मेरा रोल रफ-टफ है, मैंने स्टंट भी किए हैं। इसके लिए जिमनास्टिक की ट्रेनिंग ली। योगा भी रेग्युलर किया, जिससे इनर पावर को बढ़ा सकूं। इसके अलावा मेरा मानना है कि स्टंट करने के लिए कॉन्फिडेंट होना भी जरूरी है।

‘यमला पगला दिवाना फिर से’ का जॉनर कॉमेडी है, आपके लिए कॉमेडी करना कितना मुश्किल या आसान रहा?

मेरे हिसाब से कॉमेडी करना बहुत मुश्किल है। यही वजह है कि मैंने पहले खूब सारी कॉमेडी फिल्में देखीं, एक्टर्स की कॉमेडी टाइमिंग पर गौर किया। ऐसा करने से मुझे बहुत मदद मिली। फिर जब सेट पर पहुंची तो देओल फैमिली के साथ स्क्रीन शेयर करते हुए कॉमेडी करना बहुत आसान हो गया।

आप एक और मल्टीस्टारर फिल्म ‘हाउसफुल-4’ कर रही हैं?

मुझे ऐसा लगता है कि मेरे करियर का गोल्डन पीरियड चल रहा है। मुझे अच्छे कलाकारों के साथ काम करने का मौका मिल रहा है। ‘हाउसफुल-4’ में अक्षय कुमार, रितेश देशमुख के साथ काम करके खुश हूं।

आप हिंदी के साथ साउथ की फिल्में भी करती हैं। दोनों फिल्म इंडस्ट्री में कोई फर्क पाती हैं?

दोनों इंडस्ट्री में कोई फर्क नहीं है। मैंने दोनों जगह काम किया है। हर जगह प्रोफेशनल, अनप्रोफेशनल लोग होते हैं। मैंने ‘शादी में जरूर आना’ में काम किया था तो बहुत अच्छा एक्सपीरियंस हुआ, राजकुमार राव जैसे बेहतरीन को-एक्टर को जानने का मौका मिला। ऐसा ही ‘यमला पगला दीवाना फिर से’ को लेकर भी कहूंगी। साउथ में भी बेहतरीन कलाकारों, डायरेक्टर्स के साथ काम किया है और कर भी रही हूं।

साउथ इंडस्ट्री में एक्ट्रेस को वजन बढ़ाने के लिए फोर्स किया जाता है, यह बात कितनी सच है?

मुझे पता है कि यह कहा जाता है लेकिन ऐसा सच नहीं है। मैं साउथ फिल्म इंडस्ट्री में काम कर चुकी हूं। आप बताइए क्या मैं मोटी हूं? जबकि हिंदी फिल्म ‘शादी में जरूर आना’ के लिए मुझे थोड़ा वजन बढ़ाने के लिए कहा गया, जिससे एक नॉर्मल लड़की की तरह नजर आऊं। देखिए, मोटा या पतला होना एक्ट्रेस की मर्जी है, कोई किसी को फोर्स नहीं करता है।

बॉलीवुड में आप किस एक्ट्रेस-एक्टर के साथ काम करना चाहती हैं या किसको सबसे ज्यादा पसंद करती हैं?

दीपिका पादुकोण मेरी फेवरेट हैं, मेरी रोल मॉडल हैं। वह बहुत फेमस हैं, लेकिन उनमें कोई एटीट्यूड नहीं है। एकदम डाउन टू अर्थ हैं। दीपिका के अलावा मुझे अलिया भट्ट भी बहुत पंसद हैं, वह कमाल की एक्ट्रेस हैं। एक्टर्स में मुझे रणबीर कपूर, रणवीर सिह, सैफ अली खान और वरुण धवन के साथ काम करने की इच्छा है।

धरम जी के साथ फिल्म ‘यमला पगला दीवाना फिर से’ में आपने पहली बार काम किया है?

कीर्ति कहती हैं, ‘धरम जी बहुत ही अच्छे हैं। हमेशा बेटा-बेटा कह कर बात करते हैं। उनके साथ काम करना मेरे लिए गर्व की बात है। धरम जी लीजेंड एक्टर हैं, जमीन से जुड़े इंसान हैं। यही वजह है कि आज भी इंडस्ट्री वाले, दर्शक उन्हें बेइंतहा प्यार करते हैं। मैं भी धरम जी के साथ स्क्रीन शेयर करके लकी फील करती हूं।’

Next Story
Top