Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Interview: ''ग्रेट ग्रैंड मस्ती'' से रातों रात लाइम लाइट में आईं कंगना शर्मा ने खोले कई राज

कंगना शर्मा ने साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री से करियर की शुरुआत की थी। दो साल पहले इंद्र कुमार डायरेक्टेड फिल्म ‘ग्रेट ग्रैंड मस्ती’ से उन्होंने बॉलीवुड में कदम रखा था।

Interview:

हरियाणा के करनाल की रहने वालीं कंगना शर्मा ने साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री से करियर की शुरुआत की थी। दो साल पहले इंद्र कुमार डायरेक्टेड विवेक ओबेराय, रितेश देशमुख और आफताब शिवदासानी स्टारर फिल्म ‘ग्रेट ग्रैंड मस्ती’ से उन्होंने बॉलीवुड में कदम रखा था।

अब वह फिल्म ‘दहिसर चेक नाका’ में नजर आएंगी, फिल्म में कंगना लीड रोल में हैं। इस फिल्म को हरीश पटेल प्रोड्यूस कर रहे हैं, फिल्म के डायरेक्टर हैं अनिल नर्यानी। बातचीत कंगना शर्मा से।

‘दहिसर चेक नाका’ किस तरह की फिल्म है?

आज से कुछ साल पहले मुंबई से सटे दहिसर चेक नाका पर देह व्यापार अड्डा था, वहां से लड़कियां देश से बाहर भेजी जाती थीं। इस फिल्म के डायरेक्टर ने इस बारे में काफी रिसर्च की।

देश में वूमेन ट्रैफिकिंग पर बहुत कम फिल्में बनती हैं। जब मैंने इस फिल्म की कहानी सुनी तो इसे करने के लिए तुरंत राजी हो गई। मैंने फिल्म ‘दहिसर चेक नाका’ में ज्योति नाम की एक लड़की का रोल किया है।

वह एक कश्मीरी लड़की है, एक गरीब परिवार की भोली-भाली लड़की। जब वह अपनी छोटी बहन को ढूंढ़ते हुए मुंबई आती है तो यहां उसे कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। वह वूमेन ट्रैफिकिंग करने वालों के खिलाफ आवाज उठाती है।

एक्टर रुसलान मुमताज इस फिल्म में एक नेगेटिव किरदार में दिखाई देंगे। मुकुल देव, नवीन प्रभाकर भी इस फिल्म में हैं। लेखक और निर्देशक अनिल नर्यानी की यह फिल्म अगले साल जून में रिलीज हो सकती है।

अपने रोल को निभाने के लिए आपने किस तरह की तैयारियां कीं?

इस फिल्म में मेरे काफी एक्शन सींस हैं। आज से तीन साल पहले जब मैं मुंबई आई थी तो मैंने एक्शन सींस करने की ट्रेनिंग ली थी, इसका फायदा मुझे मिला। लेकिन मैं इन दिनों मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग ले रही हूं।

फिल्म की शूटिंग कश्मीर, मुंबई के अलावा गुजरात और गोवा की रियल लोकेशंस पर होंगी। इसमें मेरा बोलने का अंदाज अलग होगा, कश्मीरी और उर्दू टोन होगा। इन दिनों मैं इस टोन को अपने बातचीत के तरीके में लाने की कोशिश कर रही हूं।

आपकी पहली बॉलीवुड फिल्म ‘ग्रेट ग्रैंड मस्ती’ थी, अब आप एक हार्ड हिटिंग सब्जेक्ट पर ‘दहिसर चेक नाका’ कर रही हैं, फिल्मों को चुनने का आपका क्राइटेरिया क्या है?

मैं अपनी एक अलग पहचान बनाना चाहती हूं, इसलिए मैं एक ही जॉनर की फिल्में नहीं करना चाहती। अगर मेरी पहली फिल्म कॉमेडी थी तो दूसरी फिल्म ‘दहिसर चेक नाका’ सस्पेंस, थ्रिलर है।

मैंने हाल ही में एक वेब सीरीज की थी, इसमें विजय राज, गणेश आचार्या, राजपाल यादव और जाकिर हुसैन जैसे नामी एक्टर हैं। आगे भी अलग-अलग तरह के रोल करना चाहती हूं, जो चैलेंजिंग हों।

अपनी अब तक की जर्नी को कैसे देखती हैं?

मेरे पैरेंट्स हरियाणा से हैं, लेकिन मेरा जन्म दिल्ली में हुआ। कुछ साल बाद हम फिर हरियाणा में शिफ्ट हो गए थे। हरियाणा में लड़कियों के लिए मॉडलिंग या एक्टिंग फील्ड में आना आसान नहीं होता है।

मेरा भी सफर आसान नहीं था, काफी स्ट्रगल करना पड़ा। पहली बार मैं अपने कुछ दोस्तों के साथ मुंबई आई थी, स्ट्रगल के दौरान बालाजी के एक कास्टिंग डायरेक्टर के जरिए मुझे इंद्र कुमार से मिलने का मौका मिला और ऑडिशन के बाद मुझे ‘ग्रेट ग्रैंड मस्ती’ मिल गई। तीन साल में मैंने बहुत कुछ सीखा है, इस तरह अपने करियर से खुश हूं।

आपका नाम कंगना शर्मा है, बॉलीवुड में कंगना रनोट टॉप पर हैं, उनके बारे में क्या कहेंगी?

कंगना रनोट बड़ी बेबाक हैं। कमाल की एक्ट्रेस हैं। उनकी बातों में सच्चाई होती है, जो कई लोगों को पसंद नहीं आती है। मुझे कंगना रनोट बहुत पसंद है। अगर कभी मौका मिला तो मैं उनके साथ काम करना चाहूंगी।

इन दिनों बॉलीवुड में मीटू कैंपेन चर्चा में है। इस पर कंगना शर्मा का क्या कहना है?

‘मी टू मुहिम पर मैं यह कहना चाहूंगी कि जब किसी के साथ कुछ होता है तो आप उसी समय आवाज उठाएं। मेरा कहना है कि लड़कियां अपने अधिकारों का सही इस्तेमाल करें, इनका गलत इस्तेमाल न करें। आपके एक स्टेटमेंट देने से किसी की पूरी जिंदगी खराब हो सकती है।’

Next Story
Top