Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

''कड़वी हवा'' से बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता की हुई ऐसी हालात, रुला देगा ये वीडियो

संजय मिश्रा को देख लोगों की नजरें ठहर गईं और आंखों से आंसू बह निकले हैं।

बॉलीवुड अभिनेता संजय मिश्रा जब किसी किरदार को परदे पर उतारते हैं तो लोगों की नजरें ठहर सी जाती हैं। हाल में संजय मिश्रा की कड़वी हवा फिल्म का ये ट्रेलर काफी वायरल हो रहा है।

और हो भी क्यों ट्रेलर काफी मार्मिक और संजीदा जिसे देख हर किसी की आंख भर आएगी।

बॉलीवुड में मसाला और कर्मिशल फिल्में हमेशा से चर्चा का विषय बनती रही हैं। इसी चकाचौंक में कई गंभीर फिल्में भी अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रही हैं।

इन फिल्मों ने समाज में अपनी जड़ें मजबूत कर रही समस्याओं को दिखाकर दर्शकों का ध्यान अपनी ओर खीचा है। 'आई एम कलाम' और 'जलपरी' जैसी फिल्मों का निर्माण करने वाले नील माधव पांडा अब कड़वा हवा के साथ लौटे हैं।

यह भी पढ़ें- सलमान खान पर बड़ा खुलासा, ढाई साल का हो चुका है बेटा, ये है नाम

'कड़वी हवा' का ट्रेलर रिलीज हो गया है। जल संकट पर आधारित यह फिल्म सूखाग्रस्त बुंदेलखंड की है और ये सच्ची कहानी पर है।

मौजूदा समय में दुनिया के सामने सबसे बड़ी समस्या जलवायु परिवर्तन की सामने आ रही है। इससे होने वाले बदलावों के बाद आने वाली तबाहियों पर सारी दुनिया चिंतित है। इसी कड़ी में एक ओर गंभीर फिल्म आई है, जिसमें बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार संजय मिश्रा और रणवीर शौरी अहम भूमिका निभा रहे हैं।

यह भी पढ़ें- हरियाणवी क्वीन सपना बोली- नहीं पता शारीरिक संबध क्या है, कार्टून बुक्स पढ़ती हूं मैं

फिल्म में संजय मिश्रा एक अंधे वृद्ध की भूमिका निभा रहे हैं, जो सूखाग्रस्त बुन्देलखण्ड में रह रहा है। उनके बेटे ने खेती के लिए कर्ज लिया है, लेकिन सूखे के कारण फसल अच्छी नहीं हो सकी और अब उसे कर्ज चुकाने की चिंता सता रही है।

ट्रेलर में संजय मिश्रा का एक डायलॉग है, 'हमारे यहां जब बच्चा जन्म लेता है तो हाथ में तकदीर की जगह कर्जे की रकम लिख के लाता है, जो आपको काफी भावुक कर देगा।'

दूसरा में रणवीर शौरी फिल्म में रिकवरी एजेंट का किरदार निभा रहे हैं। वह ओडिशा से विस्थापित होकर आया है। ग्लोबल वार्मिंग के कारण समुद्र का जलस्तर बढ़ रहा है और उसे डर है कि उसका घर भी कहीं ना डूब जाए। रिकवरी एजेंट लोन वसूलना चाहता है, ताकि वह अपने परिवार को सुरक्षित स्थान पर ले जा कर सके।

फिल्म के ट्रेलर में विरोधाभास स्थितियों का जिक्र किया गया है। एक तरफ एक तरफ ओडिशा में पानी का होना तबाही की वजह बन रहा है, तो दूसरी तरफ बुंदेलखंड में पानी का न होना।

Next Story
Top