Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जावेद अख्तर केस में कंगना रनौत को बॉम्बे हाई कोर्ट से नहीं मिली राहत, एक्ट्रेस की याचिका खारिज

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत लगभग हर वक्त ही सुर्खियों में रहती हैं। एक्ट्रेस कभी अपनी फिल्मों को लेकर के तो कभी अपने बयानों को लेकर के चर्चा का विषय बनी रहती है। अब हाल ही में एक्ट्रेस एक बार फिर खबरों में छायी हुईं है। खबर है कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना रनौत की जावेद अख्तर मानहानी केस को रद्द करने की याचिका को खारिज कर दिया है।

जावेद अख्तर केस में कंगना रनौत को बॉम्बे हाई कोर्ट से नहीं मिली राहत,  एक्ट्रेस की याचिका खारिज
X

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) लगभग हर वक्त ही सुर्खियों में रहती हैं। एक्ट्रेस कभी अपनी फिल्मों को लेकर के तो कभी अपने बयानों को लेकर के चर्चा का विषय बनी रहती है। अब हाल ही में एक्ट्रेस एक बार फिर खबरों में छायी हुईं है। खबर है कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना रनौत की जावेद अख्तर (Javed Akhtar) मानहानी केस को रद्द करने की याचिका को खारिज कर दिया है। इस बात की जानकारी न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने ट्वीट करते हुए दी थी। यहां देखिए ट्वीट....

आपको बता दें कि जावेद अख्तर ने कंगना पर मानहानी का मुकदमा दायर किया था। जिसमें जावेद अख्तर का कहना था कि एक्ट्रेस ने नेशनल टीवी पर उनकी इमेज को खराब करने वाली बातें कही हैं। जावेद ने अपनी याचिका में एक्ट्रेस के सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) को लेकर दिए गए इंटरव्यू का ज़िक्र किया था। कंगना ने सुशांत के निधन के बाद एक इंटरव्यू में जावेद अख्तर का नाम लेकर उनपर कई आरोप लगाए थे। जिसके बाद ही जावेद अख्तर ने कंगना के खिलाफ मानहानी का मुकदमा दायर कर दिया था।

कोर्ट में कंगना ने अपने वकील रिजवान सिद्दीकी के जरिए इस साल की शुरुआत में अंधेरी मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट द्वारा शुरू की गई मानहानि की कार्यवाही को चुनौती देते हुए कहा था कि अदालत मामले में अपना दिमाग लगाने में विफल रही है। जिसके जवाब में जावेद अख्तर के वकील जय भारद्वाज ने हाई कोर्ट को बताया कि मजिस्ट्रेट ने गीतकार की शिकायत और कंगना रनौत के इंटरव्यू के अंशों को देखने के बाद पुलिस जांच का निर्देश दिया था, जिसमें उन्होंने कथित मानहानिकारक कमेंट्स किये थे। बता दें कि इसी विवाद के चलते कंगना को अपना पासपोर्ट रिन्यू करवानें में भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था।

Next Story