Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

''खुशफैमियां'' के बाद जश ने ''आतिशा'' के जरिए प्यार की तड़प का कराया एहसास

सिंगर जश न्यू जर्सी (अमेरिका) में रहती हैं। जश का पूरा नाम जशोधरा चटर्जी है। उनकी मां सिंगर हैं, मां से ही जश को सिंगिंग की इंस्प्रेशन मिली। उन्होंने सुरेंद्र कथुल्ला से भारतीय शास्त्रीय संगीत की शिक्षा हासिल की है।

सिंगर जश न्यू जर्सी (अमेरिका) में रहती हैं। जश का पूरा नाम जशोधरा चटर्जी है। उनकी मां सिंगर हैं, मां से ही जश को सिंगिंग की इंस्प्रेशन मिली। उन्होंने सुरेंद्र कथुल्ला से भारतीय शास्त्रीय संगीत की शिक्षा हासिल की है।

जश ने फेमस सिंगर कविता कृष्णमूर्ति की वर्कशॉप्स में भी भाग लिया और संगीत की बारीकियों को सीखा और समझा। लेकिन जश का सिंगर बनने का सफर शादी और मां बनने के बाद शुरू हुआ।

जश बताती हैं, ‘सिंगर बनने के मेरे सपने को पूरा करने में मेरे पति, मेरे ससुराल वाले और मेरी मम्मी का बहुत सपोर्ट रहा। इन सब के साथ के बिना सिंगर के तौर पर मैं अपना करियर शुरू ही नहीं कर पाती।

’जश का पहला सिंगल ‘क्यों मेरे दिल को’ पिछले साल रिलीज हुआ था, जो एक रोमांटिक, इमोशनल सॉन्ग था। इसी साल म्यूजिक कंपोजर अभिषेक रे के साथ उनका सिंगल ‘खुशफहमियां’ रिलीज हुआ, जिसे खूब पसंद किया गया।

अब जश का नया सिंगल ‘आतिशा’ रिलीज होने को है, जिसे लेकर वह बेहद उत्साहित हैं। नए सिंगल के बारे में जश बताती हैं, ‘सिंगल ‘आतिशा’ एक लव सॉन्ग है। आतिशा उर्दू के आतिश शब्द से बना है।

आतिश को आग कहते हैं। मोहब्बत भी किसी आग से कम नहीं है। जब मोहब्बत करने वाले से दूरी होती है तो ऐसा लगता है कि किसी आग में हम जल रहे हैं। इस अहसास को हमने अपने सिंगल ‘आतिशा’ में बयां किया है।

मैंने अभिषेक रे और गीतकार सैयद गुलरेज से कहा था कि मुझे एक ऐसा गाना चाहिए, जो दूसरे सिंगल ‘खुशफहमियां’ से एकदम अलग हो। मुझे बेहद खुशी है कि इन दोनों ने मिलकर शानदार सिंगल ‘आतिशा’ तैयार किया है।

इसमें कंपोजर अभिषेक ने रॉक स्टाइल के म्यूजिक का इस्तेमाल किया है। अभिषेक रे ने इस सॉन्ग को कंपोज करने के अलावा इसका मेल पार्ट गाया भी है। यह सिंगल जी म्यूजिक कंपनी के द्वारा श्रोताओं और दर्शकों तक पहुंचेगा।

सिंगल का वीडियो भी बहुत अच्छा है। सिंगल के वीडियो को हमने न्यू जर्सी में ही शूट किया है, इसे मुझ पर ही फिल्माया गया है। मेरे अलावा फायर डांसर्स भी वीडियो में हैं। आजकल लोग गाना सुनने के साथ-साथ उसे देखना भी पसंद करते हैं, इसलिए इसके वीडियो पर हमने काफी वर्क किया है।’

जश को यकीन है कि उनके दूसरे सिंगल ‘खुशफहमियां’ की तरह ‘आतिशा’ को भी श्रोताओं का प्यार मिलेगा। इसीलिए इन दिनों वह आगे के प्रोजेक्ट्स में बिजी हो गई हैं। इस सिंगल के बाद जश कंपोजर अभिषेक रे के साथ दो और सॉन्ग कर रही हैं, जो बिल्कुल अलग जॉनर के होंगे।

वह अपने आगे के सॉन्ग के बारे में बताती हैं, ‘अभिषेक रे के साथ मेरे दो सिंगल्स हो गए हैं। इसके बाद हम एक और सिंगल ‘तिलस्मी’ लेकर आएंगे। यह भी एक रोमांटिक नंबर होगा, लेकिन इसका म्यूजिक अलग किस्म का होगा।

तिलस्मी का मतलब होता है जादुई यानी मैजिकल। हमारा गीत भी जादुई अहसास कराने वाला होगा। वैसे फ्यूचर में मैं सिंगिंग में ज्यादा एक्टिव होना चाहती हूं, इसलिए जल्द ही मुंबई शिफ्ट होने की प्लानिंग में हूं।’

जश अपने हर गाने में लिरिक्स को बहुत ही ज्यादा इंपॉर्टेंस देती हैं। वह कहती हैं, ‘मुझे लगता है कि गाने के शब्द उसकी जान होते हैं। संगीत और गायकी से उसे सजाया जा सकता है।

मैं हमेशा नए शब्दों को अपने गानों में इस्तेमाल करने के लिए गीतकार को कहती हूं। इससे श्रोताओं के दिमाग में गीत के बोल हमेशा के लिए बस जाते हैं। पुराने गीत आज भी हमें याद हैं, क्योंकि उनके बोल बहुत ही अलग और खूबसूरत होते थे।

मुझे लता जी और आशा जी के तमाम पुराने गीत बेहद पसंद रहे हैं। ‘आज जाने की जिद न करो...’ मेरा ऑल टाइम फेवरेट सॉन्ग है। पुराने गानों में जो मैलोडी थी, वो आज के गीतों में गायब होती जा रही है। लेकिन नए सिंगर्स में मुझे जोनिता गांधी की आवाज पसंद है।’

Next Story
Top