Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Exclusice Interview: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सोनाक्षी सिन्हा ने भारत में बदलाव के लिए दिए ये सुझाव

अपने अब तक के करियर में सोनाक्षी सिन्हा ने कई बड़े डायरेक्टर्स और स्टार्स के साथ काम काम किया है। इसके बावजूद उनका करियर उतार-चढ़ाव के दौर से गुजर रहा है। उनकी कई फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कमाल नहीं दिखा पा रही हैं।

Exclusice Interview: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सोनाक्षी सिन्हा ने भारत में बदलाव के लिए दिए ये सुझाव

अपने अब तक के करियर में सोनाक्षी सिन्हा ने कई बड़े डायरेक्टर्स और स्टार्स के साथ काम काम किया है। इसके बावजूद उनका करियर उतार-चढ़ाव के दौर से गुजर रहा है। पिछले कुछ सालों के दौरान ‘एक्शन जैक्सन’, ‘लिंगा’, ‘तेवर’, ‘ऑल इज वेल’, ‘नूर’, ‘इत्तेफाक’, ‘वेलकम टू न्यूयॉर्क’ जैसी उनकी कई फिल्में बुरी तरह से असफल रही हैं।

इसके बावजूद सोनाक्षी सिन्हा का दावा है कि वह अपनी फिल्मों की सफलता या असफलता की परवाह किए बगैर सिर्फ अपने काम को बेहतर ढंग से करने में यकीन करती हैं। इन दिनों वह आनंद एल. राय प्रोड्यूस्ड और मुदस्सर अजीज डायरेक्टेड फिल्म ‘हैप्पी फिर भाग जाएगी’ को लेकर एक्साइटेड हैं, जो हिट फिल्म ‘हैप्पी भाग जाएगी’ का सीक्वल है।

‘हैप्पी फिर भाग जाएगी’ एक सीक्वल फिल्म है। इसके फर्स्ट पार्ट में आप नहीं थीं। इस फिल्म से जुड़ने की वजह क्या रही?

मैंने पहली फिल्म ‘हैप्पी भाग जाएगी’ देखी थी। मुझे यह फिल्म बहुत पसंद आई थी। सीक्वल फिल्म की टीम भी वही है, कलाकार वही हैं, सिर्फ मैं और जस्सी गिल इस फिल्म में नए जुड़े हैं। मुझे लगा कि पूरी टीम एक बार फिर अच्छी फिल्म बनाएगी।

इसके अलावा जब डायरेक्टर मुदस्सर अजीज ने हमें कहानी सुनाई तो काफी पसंद आई। हम तो कहानी सुनते हुए हंस रहे थे। इस सटायर कॉमेडी फिल्म में बहुत कुछ पॉजिटिव है। मेरा किरदार भी काफी अलग है। इस फिल्म में पहले वाली हैप्पी भी है।

जब सीक्वल में पहली वाली हैप्पी यानी डायना पेंटी भी हैं तो आपके किरदार के लिए कितना स्कोप होगा?

मेरे किरदार का नाम भी हरप्रीत कौर उर्फ हैप्पी ही है। वह अमृतसर की रहने वाली पंजाबी लड़की है, जो कि अपने परिवार से बहुत प्यार करती है। लेकिन उसकी अपनी कुछ ख्वाहिशें हैं।

नई वाली हैप्पी, पुरानी हैप्पी की वजह से मुश्किल में फंस जाती हैं। इस बार फिल्म में पूरा मसला मिसटेकेन आइडेंटिटी का है। इस वजह से खूब कॉमेडी होती है। मेरा रोल फिल्म में बहुत इंपॉर्टेंट है।

आपने इससे पहले भी कई कॉमेडी फिल्में की हैं। इस फिल्म में क्या फर्क है?

हर फिल्म में कुछ न कुछ फर्क होता है। सबसे बड़ी बात यह है कि कॉमेडी का जॉनर मुझे बहुत पसंद है। मैं खुद बहुत फनी इंसान हूं। मुझे हंसना बहुत पसंद है। मैं हमेशा खुश रहना चाहती हूं। कॉमेडी फिल्मों में एक्टिंग करके मुझे ज्यादा खुशी मिलती है।

फिल्म ‘हैप्पी फिर भाग जाएगी’ के राइटर-डायरेक्टर मुदस्सर अजीज को लेकर क्या कहना चाहेंगी?

वह बहुत अच्छा लिखते हैं। सेट पर वह बहुत ही खुले दिमाग से आते हैं। उनकी भाषा बहुत अच्छी है। वह इतनी आसानी से सीन समझाते हैं कि कलाकार के तौर पर हमारे लिए एक्टिंग करना आसान हो जाता है। उनकी यह खूबी मुझे बहुत पसंद है।

लगभग हर तरह के किरदार आप निभा चुकी हैं। किस तरह के किरदार सबसे ज्यादा एंज्वॉय करती हैं?

मैं हर किरदार को निभाते हुए एंज्वॉय करती हूं। हर फिल्म और हर किरदार के साथ मुझे कुछ नया करने का मौका मिल जाता है। हां, फैमिली एंटरटेनर फिल्में करते हुए मैं खुद को ज्यादा कंफर्टेबल महसूस करती हूं। इसके अलावा मुझे ड्रामा बेस्ड फिल्में करना भी पसंद है।

लेकिन आप बायोपिक फिल्मों से दूरी बनाए हुए हैं?

आपने एकदम सही कहा। इन दिनों बायोपिक फिल्में काफी बन रही हैं। लेकिन मुझे अभी तक किसी बेहतरीन बायोपिक फिल्म का हिस्सा बनने का मौका नहीं मिला। मैं भी बायोपिक फिल्में करना चाहती हूं बशर्ते बहुत अच्छी कहानी हो, जो कि पूरी दुनिया तक पहुंचे।

आपके दिमाग में ऐसी कोई कहानी है?

मैं एक स्पोर्ट्स बायोपिक करना चाहती हूं, क्योंकि खुद भी स्पोर्ट्स से जुड़ी रही हूं। मैं वॉलीबॉल और टेनिस जैसे गेम्स में बहुत अच्छी हूं। इसके अलावा ऐसी कहानियों का हिस्सा बनना चाहती हूं, जो इंस्प्रेशनल हों।

आगे कौन-सी फिल्में कर रही हैं?

करण जौहर की फिल्म ‘कलंक’ की शूटिंग चल रही है। इसके बाद सलमान खान के साथ ‘दबंग 3’ की शूटिंग शुरू होगी। ‘यमाला पगला दीवाना फिर’ भी जल्द रिलीज होने वाली है, इसमें मैं सिर्फ एक गाने में नजर आऊंगी।

मुदस्सर अजीज एक फिल्म बना रहे हैं, जिसमें अर्जुन कपूर हैं और वह मुझे इस फिल्म के साथ जोड़ना चाहते हैं। उनसे बात हुई है। लेकिन अभी तक मैंने स्क्रिप्ट पढ़ी नहीं है, इसलिए हामी भरी नहीं है।

15 अगस्त को हम आजादी की 71वीं वर्षगांठ मनाने जा रहे हैं। आजादी के इस लंबे सफर में सोनाक्षी देश में क्या बदलाव देखती हैं?

देखिए, हमने अब तक बहुत कुछ पाया है, काफी कुछ किया है। लेकिन देश में बदलाव लाने के लिए अभी भी बहुत कुछ करने की जरूरत है। आज की तारीख में लोग इतने समझदार हो गए हैं कि हर किसी के पास अपने देश को बेहतर बनाने को लेकर कोई न कोई नया आइडिया कोई न कोई सुझाव है।

मेरी राय में अगर हर किसी को मौका दिया जाए तो बहुत कुछ हो सकता है। सबसे पहली जरूरत है भ्रष्टाचार को खत्म किया जाए। इसके अलावा स्वच्छता अभियान तेजी से बढ़ना चाहिए। हमारे प्रधानमंत्री ने स्वच्छता अभियान शुरू तो किया है, लेकिन उस पर पुरी तरह अमल नहीं हो रहा है।

मैं भी अपने स्तर पर देश को बेहतर बनाने के लिए प्रयास करती हूं, लेकिन अपने इस तरह के कामों की चर्चा नहीं करती। जब भी मौका मिलता है, मैं अपने मन की बात लोगों से करती हूं और उन्हें भी कुछ अच्छा काम करने के लिए इंस्पायर करती हूं।’

Next Story
Top