Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Independence Day 2018: अक्षय कुमार ने देशवासियों को दिया ये संदेश

इन दिनों अक्षय कुमार अपनी फिल्म ‘गोल्ड’ को लेकर चर्चा में हैं। खेल के साथ-साथ इसमें देशभक्ति की भावना भी है। अक्षय को अपने देश की कौन सी बात सबसे अच्छी लगती है? उनकी जिंदगी में सबसे यादगार 15 अगस्त कौन सा था? क्या उन्हें लगता है कि उनकी सामाजिक सरोकारों से जुड़ी फिल्मों की वजह से समाज में कोई बदलाव आया है? स्वतंत्रता दिवस पर देशवासियों को क्या संदेश देना चाहेंगे अक्षय कुमार?

Independence Day 2018: अक्षय कुमार ने देशवासियों को दिया ये संदेश

अक्षय कुमार पिछले कुछ सालों से ऐसी फिल्में कर रहे हैं, जिनमें सामाजिक सरोकारों से जुड़ी बातें हैं। ‘टॉयलेट-एक प्रेम कथा’ और ‘पैड मैन’ इसकी बानगी हैं। इन फिल्मों को दर्शकों ने भी खूब सराहा। अब उनकी फिल्म ‘गोल्ड’ आने वाली है। इस फिल्म में देशभक्ति का रंग है। समय-समय पर सोशल मीडिया के जरिए भी अक्षय कुमार ऐसी पहल कर चुके हैं, जिससे देश की रक्षा करने वाले जवानों के परिवार की सहायता हो सके। इस तरह एक कलाकार होने के साथ वह एक अच्छे नागरिक होने का फर्ज भी निभा रहे हैं। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अक्षय कुमार साझा कर रहे हैं देश-समाज से जुड़ी कुछ बातें...

सबसे यादगार 15 अगस्त आपकी जिंदगी का कौन सा रहा है?

स्कूल के दिनों में मेरी बड़ी तमन्ना थी कि झंडारोहण के समय मैं सबसे आगे रहूं। एक बार मेरी यह तमन्ना पूरी हुई। दरअसल, मैं बहुत ज्यादा होशियार स्टूडेंट नहीं था, लेकिन खेलों में आगे रहता था तो झंडारोहण के समय आगे खड़े होने का अवसर मिला। प्रिंसिपल और टीचर्स के साथ झंडा वंदन करते हुए मुझे बहुत गर्व महसूस हुआ था।

आपको आजकल सोशल मीडिया पर भारत कुमार नाम से पुकारा जा रहा है, क्या आप इसे एचीवमेंट मानते हैं?

मैं अक्षय कुमार ही ठीक हूं। लेकिन मेरा सपना है कि भारत का नाम दुनिया भर में रोशन हो। हर जगह हमारा देश बड़ी-बड़ी एचीवमेंट्स हासिल करें। जब ऐसा होगा तो मुझे बहुत खुशी मिलेगी।

आपको देश की कौन-सी बात सबसे अच्छी लगती है?

हमारे देश की बात ही निराली है। जो बात मुझे सबसे ज्यादा अच्छी लगती है, वह है रिश्ते-नाते, अपनापन। दुनिया भी हमारे इस अपनेपन की कायल है। चाहे हम लोगों में कितने भी डिफरेंसेस हैं, लेकिन एक प्यार की डोर है, जो हर देशवासी को आपस में जोड़े हुए है। हमारे देश में क्रिकेट को ज्यादा पसंद किया जाता है, लेकिन अब दूसरे खेलों में भी लोगों का रुझान बढ़ रहा है।

आप इसमें कोई योगदान देना चाहेंगे?

मैं एक एक्टर हूं, फिल्मों के जरिए खेलों को प्रमोट कर सकता हूं। यही वजह है कि जब मेरे पास फिल्म ‘गोल्ड’ का ऑफर आया तो मैंने एक्सेप्ट किया। यह फिल्म आजादी के बाद भारतीय हॉकी टीम के ओलंपिक मेडल जीतने की कहानी है। इसमें खेल भावना है, देशभक्ति की भावना है। दर्शकों को यह फिल्म जरूर पसंद आएगी। इसके अलावा आप जानती हैं कि मैं मार्शल आर्ट एक्सपर्ट हूं। आज भी कई लोगों को मार्शल आर्ट में ट्रेंड करने की कोशिश करता हूं।

आजकल बायोपिक फिल्में खूब बन रही हैं। आप किस तरह की बायोपिक करना चाहेंगे?

मैं उन महान लोगों से इंस्पायर हूं, जिन्होंने हमारे देश को आगे बढ़ाने के लिए बड़े और अच्छे काम किए हैं, लेकिन ऐसे कुछ लोगों को पहचान नहीं मिली, इतिहास में जगह नहीं मिली। ऐसे लोगों की बायोपिक करके दर्शकों तक उनकी कहानी पहुंचाना चाहता हूं।

आपकी पिछली फिल्में ‘टॉयलेट-एक प्रेम कथा’ और ‘पैड मैन’ देखकर क्या लोगों में बदलाव आया है?

मैं इस तरह की फिल्में लोगों को एंटरटेन करने के साथ अवेयर करने के लिए करता हूं। मैं मानता हूं कि इन फिल्मों को देखकर काफी लोगों में सुधार आया है। लोग साफ-सफाई को लेकर सजग हुए हैं।

स्वतंत्रता दिवस पर देशवासियों से क्या कहना चाहेंगे?

सबसे पहले सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं। मैं अपने देश से बहुत प्यार करता हूं और चाहता हूं कि भारत तरक्की की राह पर तेजी से आगे बढ़े। इसमें हम सबको योगदान देना होगा, प्रयास करने होंगे। भारत माता की जय!

Next Story
Top