logo
Breaking

सब टीवी के पॉपुलर शो ''चिड़ियाघर'' के घोटक लेंगे संन्यास

चिड़िया घर एक जिंदादिल परिवार की कहानी है।

सब टीवी के पॉपुलर शो
मुंबई. सब टीवी के पॉपुलर शो ‘‘चिड़ियाघर‘‘ एक जिंदादिल परिवार की कहानी है। "चिड़ियाघर" नाम होते हुए भी इसमें पशु-पक्षी नहीं हैं। इस घर को घर के मुखिया केशरी नारायण ने अपनी पत्नी चिड़िया नारायण की याद में बनवाया है। यही कारण है कि इस घर का नाम "चिड़ियाघर" है।
इस पॉपुलर शो में हर बार कोई न कोई नई घटना घटती रहती है। क्योँकि इस चिड़ियाघर में सभी सदस्यों की कुछ न कुछ विशेष आदतें हैं जो उन्हें हर बार कुछ अलग करने पर मजबूर करती हैं। इस बार नंबर है परेश गणात्रा यानि घोटक का, जो इस संसार रूपी मोहमाया से संन्यास लेना चाहते हैं।
हाल ही में घोटक ने कई परेशानियों का सामना किया है, जिससे उसे तनाव और हताशा हो जाती है। इस मुश्किल समय में घोटक के दोस्त उसे मेडिटेशन करने का परामर्श देते हैं और घोटक का परिचय एक संत से करवाते हैं।
घोटक को संत ऊर्फ बाबा पर विश्वास होने लगता है और वह अच्छा महसूस करने लगता है। घोटक को मानसिक शांति मिलती है और परिणामों से बेहद खुश है तथा इसलिए गोमुख (सुमित अरोड़ा) और और कपि (सारंश वर्मा) के साथ शामिल होने का फैसला करता है।
कुछ दिनों बाद संत घोषणा करते हैं कि वह और उनके अनुयायी मेडिटेशन के लिये हिमालय पर जाने के लिये योजना बना रहे हैं। इस यात्रा को पूरा करने में उन्हें कई वर्षों का समय लग सकता है।
गोमुख और कपि इस रोमांचक सफर में घोटक के साथ चलने के लिये राजी हो जाते हैं, लेकिन जब ये दोनों अपने परिवार को इस फैसले की जानकारी देने का फैसला करते हैं, तो चिड़िया घर में स्थिति बदल जाती है।


नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, क्या कहना है परेश गणात्रा का -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top