Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Freida Pinto Interview: अब ''मोगली'' में नजर आएगी स्लमडॉग.... गर्ल, करेंगी ये अहम किरदार

फ्रीडा पिंटो की फिल्म लव सोनिया हाल ही में रिलीज हुई है। इसमें मनोज बाजपेयी, रिचा चड्ढा और मृणाल ठाकुर जैसे बेहतरीन भारतीय कलाकारों ने काम किया है।

Freida Pinto Interview: अब
X

हाल ही मे तबरेज नूरानी की इंटरनेशनल मूवी ‘लव सोनिया’ रिलीज हुई है। इसमें मनोज बाजपेयी, रिचा चड्ढा और मृणाल ठाकुर जैसे बेहतरीन भारतीय कलाकारों ने काम किया है।

यह फिल्म वूमेन ट्रैफिकिंग, प्रॉस्टिट्यूशन की अंधेरी दुनिया की कहानी कहती है। इस फिल्म में ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ से फेमस हुईं एक्ट्रेस फ्रीडा पिंटो भी हैं। उन्होंने ‘तृष्णा’, ‘इंमॉर्टल्स’ जैसी इंटरनेशनल मूवीज में काम किया है। फिल्म ‘लव सोनिया’ का हिस्सा बनकर वह खुश हैं।

लगभग एक दशक बाद आप हिंदुस्तान लौटी हैं, अपने देश आकर कैसा लग रहा है?

मैं 9-10 सालों से हॉलीवुड में हूं। लेकिन देखिए कितने अच्छे तरीके से हिंदी बोल लेती हूं। मुझे आज भी अपना देश, अपना भारतीय खाना और अपना कल्चर पसंद है। मैं आज भी दिल से हिंदुस्तानी हूं। बस हॉलीवुड फिल्मों में काम करने की वजह से ज्यादातर वहां रहना पड़ता है।

‘लव सोनिया’ में आपके रोल, एक्टिंग की तारीफ हो रही है, इसके लिए कितनी तैयारियां करनी पड़ीं?

तबरेज नूरानी इस फिल्म के डायरेक्टर हैं, वह ऑथेंटिक सब्जेक्ट पर फिल्में बनाते हैं। उन्होंने कोलकाता में कुछ सेक्स वर्कर्स से मिलकर फिल्म के लिए जानकारी हासिल की। उनकी रिसर्च से जो बातें निकलकर सामने आईं, हमने उस आधार पर किरदार निभाए। सेक्स वर्कर्स की जिंदगी के बारे में जानकर मुझे बहुत पीड़ा हुई।

क्या आपको लगता है कि इस फिल्म से प्रॉस्टिट्यूशन में धकेली गई महिलाओं की जिंदगी में कोई बदलाव आएगा?

हमारी फिल्म की कहानी, घटनाएं सब रियल हैं। जब लोग इस कड़वी सच्चाई को देखेंगे तो क्या किसी के दिल पर कोई असर नहीं होगा? क्या हम इतने पत्थर दिल हो चुके हैं?

फिल्म देखकर कोई रेड लाइट एरिया में जाकर सोशल वर्क नहीं करेगा? हमारी आबादी का 2 प्रतिशत भी अगर सेक्स वर्कर्स के बारे में अच्छा सोचने लगेगा तो बदलाव जरूर आएगा।

हॉलीवुड, बॉलीवुड के वर्किंग कल्चर में कितना फर्क महसूस करती हैं?

बॉलीवुड और हॉलीवुड के वर्किंग कल्चर में किसी जमाने में बहुत फर्क था, अब नहीं है। बॉलीवुड किसी जमाने में बहुत ज्यादा प्रोफेशनल नहीं था, सेट पर शूटिंग के समय ही स्क्रिप्ट लिखी जाती थी।

सुना है उस दौरान कहानियों में भी बदलाव हो जाते थे। शुक्र है अब जमाना बदल चुका है। अब बॉलीवुड, हॉलीवुड की तुलना में कम नहीं है। मैं बॉलीवुड में भी काम करने की तमन्ना रखती हूं।

हॉलीवुड इंडस्ट्री में क्या भारतीय कलाकारों को रेस्पेक्ट मिलती है?

प्रियंका चोपड़ा और दीपिका पादुकोण ने हॉलीवुड में काम किया तो बिना रेस्पेक्ट के तो नहीं किया होगा। कबीर बेदी साहब, ओम पुरी और इरफान खान ने भी हॉलीवुड फिल्मों में काम किया, क्या उन्हें रेस्पेक्ट से नहीं देखा गया? हो सकता है कि किसी को बुरा एक्सपीरियंस भी हुआ हो, यह भी सच्चाई है।

इंडियन एक्टर्स जब भी हॉलीवुड के लिए काम करते हैं, क्या आइडेंटिटी क्राइसिस की परेशानी होती है? क्या विदेशों में अपनी पहचान बनाना मुश्किल होता है?

कोई भी पौधा एक जमीन से निकालकर दूसरी जगह लगाया जाए तो उसका हश्र क्या होता है? वैसा ही कुछ हमारे साथ भी होता है। थोड़ा समय लगता है, एडजस्ट होने में। मेरे साथ भी ऐसा ही था।

एक्टर देव पटेल से आपकी दोस्ती के बारे में काफी सुनने को मिला था?

जी हां, हमारी दोस्ती 6-7 सालों से है। हमने साथ में फिल्में भी कीं, साथ में ग्रो भी हुए। अब लगातार उनके साथ फ्रेंडशिप निभाने के लिए अपने करियर को इग्नोर तो नहीं कर सकती न।

क्या कोई बॉलीवुड फिल्म भी कर रही हैं?

नेटफ्लिक्स और अमेजॉन के लिए वेब सीरीज कर रही हूं। वेब सीरीज एंटरटेनमेंट का बेहतरीन मीडियम है। यह लोग बहुत दमदार कहानियां लेकर आते हैं, इनकी शूटिंग भी जल्द खत्म हो जाती है। फिलहाल वेब सीरीज कर रही हूं।

सुना है आप ‘मोगली’ नाम की कोई फिल्म कर रही हैं?

जी हां मैं वॉर्नर ब्रदर्स की फिल्म ‘मोगली’ कर रही हूं। मैंने मोगली की मां का किरदार निभाया है। मेरा रोल छोटा है, लेकिन बड़ा दिलचस्प है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top