Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Director''s View: ''फोर्टी प्लस'' लोगों को एक नया हौसला-नई उम्मीद देगी

फिल्म ‘फोर्टी प्लस’ में चालीस पार की उम्र में अपने सपनों को पूरा करने और नई शुरुआत करने का मैसेज है। इस फिल्म को डेब्यूडेंट डायरेक्टर राजिंद्र वर्मा ने बनाया है। वह अपनी फिल्म की यूएसपी कंटेंट को ही मानते हैं।

Director

इन दिनों बॉलीवुड में जो नए डायरेक्टर आ रहे हैं, वे मसाला फिल्मों की बजाय सेंसिबल सब्जेक्ट को ही चुन रहे हैं। जल्द ही एक फिल्म रिलीज होने वाली है ‘फोर्टी प्लस’।

इसके डायरेक्टर राजिंद्र वर्मा हैं। बतौर राइटर-डायरेक्टर उनकी यह पहली फिल्म है। इससे पहले वह राइटर-प्रोड्यूसर के तौर पर एक फिल्म ‘पंख-ए डॉटर्स टेल’ बना चुके हैं, इसमें लड़कियों की आजादी और शिक्षा की बात की गई थी। अपनी अपकमिंग फिल्म ‘फोर्टी प्लस’ के बारे में डिटेल में बता रहे हैं राइटर-डायरेक्टर राजिंद्र वर्मा।

कंटेंट ही यूएसपी

मेरी फिल्म ‘फोर्टी प्लस’ का कंटेंट ही इसकी यूएसपी है। इसकी कहानी ऐसे लोगों की है, जो मुंबई में 20-25 साल की उम्र में स्ट्रगल करने आते हैं, उस वक्त निराशा के शिकार हो जाते हैं, जब उनकी उम्र 40 के पार हो जाती है।

उन्हें लगता है कि अब वह कभी हीरो या हीरोइन नहीं बन पाएंगे। सब शाहरुख और सलमान या किसी फेमस एक्ट्रेस को देखकर और उन्हें फॉलो करके तो आते हैं, लेकिन उनके स्टार्स बनने के पीछे के स्ट्रगल को कोई नहीं देखता है।

हमने इसमें इसी बात को दिखाने की कोशिश की है। फिल्म में वूमेन कैरेक्टर भी बहुत इंपॉर्टेंट हैं। यह फिल्म 40 साल की महिलाओं को एक मैसेज देती है कि इस उम्र बाद किसी का जीवन खत्म नहीं होता है, इसके बाद भी जिंदगी की नई शुरुआत हो सकती है।

40 साल पार करने के बाद भी कामयाबी मिल सकती है, बस आपको खुद पर यकीन होना चाहिए। इस तरह यह फिल्म चालीस की उम्र पार कर चुके लोगों को एक नया हौसला, नई उम्मीद देती है।

किरदारों के हिसाब से कास्टिंग

फिल्म की कास्टिंग मैंने किरदारों के हिसाब से ही की है। आजकल रियालिस्टिक सिनेमा का जमाना है, आप दर्शकों को बेवकूफ नहीं बना सकते हैं। 20-25 साल की लड़की को आप 40 प्लस के रोल में नहीं दिखा सकते हैं।

यही वजह है कि फिल्म में लीड कैरेक्टर हरियाणा की सुनीता डाबर और अन्नू भाटिया ने निभाया है। इसके अलावा मोनिका सिंह, साजिदा खान, विपिन परोचा और हंसी परमार भी फिल्म में नजर आएंगी। हंसी परमार फिल्म के एक डांस नंबर में है, जबकि साजिदा खान ने इस फिल्म में एक सूत्रधार का किरदार निभाया है।

रियल लोकेशन

आजकल फिल्मों में लोकेशन भी एक अहम रोल अदा करती है। यश बाबू एंटरटेनमेंट के बैनर तले बनी इस फिल्म को मुंबई, कुरुक्षेत्र (हरियाणा) और मनाली में शूट किया गया है। हर लोकेशन का फिल्म की कहानी से गहरा वास्ता है।

सिचुएशनल म्यूजिक

इस फिल्म का म्यूजिक सिचुएशनल है। फिल्म में तीन गाने हैं, जिसमें एक आइटम सॉन्ग है। आइटम नंबर के अलावा एक खूबसूरत-सा रोमांटिक सॉन्ग है। फिल्म का तीसरा सॉन्ग इमोशनल है।

फिल्म ‘फोर्टी प्लस’ का म्यूजिक विशाल शेलके का है, लिरिक्स लिखे हैं अनामिका गौर और गुलाम मोहम्मद खावर ने। फिल्म के गाने गाए हैं ऋतु पाठक, अरुण देव, रिया भट्टाचार्य और कृष ने।

Next Story
Top