logo
Breaking

एड फिल्मों से कॉमेडी की दुनिया में कैसे पहुंची पूजा नायर, जानिए पूरी कहानी

पूजा नायर जल्द ही अक्षय कुमार की फिल्म ‘एयरलिफ्ट’ में भी नजर आएंगी।

एड फिल्मों से कॉमेडी की दुनिया में कैसे पहुंची पूजा नायर, जानिए पूरी कहानी
मुंबई. एड फिल्मों से छोटे पर्दे पर आर्इं पूजा नायर, इन दिनों बिंदास चैनल पर टेलीकॉस्ट हो रहे कॉमेडी सीरियल ‘कोटा टॉपर्स’ में एक साउथ इंडियन लड़की नैंसी के रोल में दर्शकों को खूब हंसा रही हैं। जल्द ही वह अक्षय कुमार की फिल्म ‘एयरलिफ्ट’ में भी नजर आएंगी। पूजा से हुई बातचीत पर आधारित अब तक की तय उनकी करियर जर्नी पर एक नजर।
पूजा नायर का एक्टिंग करियर ज्यादा लंबा नहीं है, लेकिन उन्होंने बहुत कम समय में एक अच्छी पहचान बना ली है। इन दिनों वह बिंदास चैनल पर आ रहे कॉमेडी सीरियल ‘कोटा टॉपर्स’ में नजर आ रही हैं। पूजा साउथ इंडियन हैं, यह संयोग है कि इस सीरियल में भी वह एक साउथ इंडियन लड़की का कैरेक्टर प्ले रही हैं। सीरियल ‘कोटा टॉपर्स’ से वह कैसे जुड़ीं, पूछने पर बताती हैं, ‘दरअसल, प्रोडक्शन हाउस बोधी ट्री को अपने इस सीरियल के लिए एक साउथ इंडियन लड़की की तलाश थी। कई लड़कियों का आॅडिशन लेने के बाद प्रोडक्शन हाउस का मेरे पास भी फोन आया। ऑडिशन में मुझे साउथ इंडियन स्टाइल में डायलॉग्स बोलने को कहा गया। यह मेरे लिए काफी आसान था, बस मैंने अपना रंग दिखाया और सेलेक्शन हो गया।’
‘कोटा टॉपर्स’ में अपने किरदार के बारे में पूजा बताती हैं, ‘सीरियल में मेरे किरदार का नाम नैंसी जॉली है। वह आईआईटी टॉपर बनने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है। लेकिन उसे छोटी-छोटी बातों के लिए भी मम्मी-पापा की याद आती रहती है। साउथ इंडियन होने की वजह से वह हिंदी जिस अंदाज से बोलती है, वह कॉमेडी बन जाती है। सब उसका मजाक उड़ाते हैं। असल में सीरियल में मेरे कैरेक्टर का मकसद भी कॉमेडी को क्रिएट करना है। मैं इस किरदार को निभाते खूब एंज्वॉय कर रही हूं।’
साउथ इंडियन कैरेक्टर निभाकर पूजा को क्या इस बात का डर नहीं लगा कि वह इस तरह के रोल के लिए टाइप्ड हो सकती हैं? इस सवाल पर वह मुस्करा देती हैं, कहती हैं, ‘अब वो समय नहीं रहा जब आर्टिस्ट कैरेक्टर की इमेज में बंध जाया करते थे। अब आर्टिस्ट ही नहीं, खुद प्रोड्यूसर्स-डायरेक्टर भी नए एक्सपेरिमेंट में बिलीव करते हैं। फिल्ममेकर्स भी अपनी फिल्मों और किरदारों को दोहराने से बचते हैं।’
सीरियल ‘कोटा टॉपर्स’ में सभी आर्टिस्ट नए हैं। ऐसे में आपस में काफी कॉम्पिटीशन तो रहता ही होगा? पूजा इस बात से इंकार करती हैं, ‘कॉम्पिटीशन नहीं, बल्कि फ्रेंडशिप ज्यादा देखने को मिली है। हम एक-दूसरे की हेल्प करते हैं, अच्छे सुझाव भी देते हैं। ‘कोटा टॉपर्स’ में हमारे सर बने हैं कैजाद कोतवाल। सीरियल के डायरेक्टर हैं अश्विनी कुमार और लेखक हैं प्रियंका गौरव। इन सभी के साथ काम करना, एक यादगार एक्सपीरियंस से गुजरना है।’
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारियां -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top