Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेप वीडियो पर वेब सीरीज ला रहा है ये डायरेक्टर, बनाता है असल जिंदग‌ियों पर फिल्म

शांतनु श्रीवास्तव और अक्षित घिल्डियाल की जोड़ी ने इसे लिखा है। अच्छे खासे रिसर्च के बाद अंततः स्क्रिप्ट अंतिम दौर में है।

यमुनानगर: शादीशुदा महिला के साथ जेठों ने किया बलात्कार, पति ने भी बनाए अप्राकृतिक संबंध
X
प्रतीकात्मक फोटो

पिछले साल फिल्म 'सोन-चिरैया' फ्लॉप होने के बाद निर्देशक अभिषेक चौबे वेब सीरीज पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। वह अपनी उस वेब सीरीज की तैयारियों में लगे हैं, जो रेप के दौरान वीडियो बनाने की घटनाओं पर आधारित होगी। हालांकि चौबे ने दो साल पहले इस सीरीज दस अस्सी की घोषणा की थी परंतु उसके बाद काम आगे नहीं बढ़ा। कुछ लोगों को लगने लगे कि सीरीज ठंडे बस्ते में चली गई है। परंतु अब मीडिया में आई खबरों में कहा गया है कि इस साल के अंत तक वेब सीरीज की शूटिंग शुरू हो जाएगी।

सूत्रों का कहना है कि दस अस्सी एक बड़ा प्रोजेक्ट है और इसमें बहुत ज्यादा रिसर्च की मांग थी। यह असल जिंदगी की ऐसी घटनाओं को सामने लाएगी, जिनमें तथ्यों की पड़ताल बहुत जरूरी थी। शांतनु श्रीवास्तव और अक्षित घिल्डियाल की जोड़ी ने इसे लिखा है। अच्छे खासे रिसर्च के बाद अंततः स्क्रिप्ट अंतिम दौर में है। माना जा रहा है कि जंगली पिक्चर्स इसे प्रोड्यूस करेगा। जून के बाद इससे जुड़ी तस्वीर साफ हो जाएगी।


पश्चिमी यूपी की कहानी

सूत्रों अनुसार इस वेब सीरीज की कहानी पश्चिमी उत्तर प्रदेश से सामने आई उन रेप की घटनाओं पर आधारित होगी, जिनमें रेप के दौरान दरिंदों ने पीड़िता के वीडियो बनाए और उन्हें तीन सौ से तीन हजार रुपये तक बेच दिया। इसके बाद ये वीडियो बाजार से होते हुए मोबाइल-मोबाइल घूमे। कहानी के केंद्र में मेरठ, मुजफ्फरनगर और मुरादाबाद जैसे शहर होंगे।

सीरीज को पितृसत्तात्मक समाज में महिलाओं की दशा, सेक्स-अपराध और आधुनिक तकनीक की इन अपराधों को बढ़ाने में भूमिका पर केंद्रित किया गया है। यह एक हार्ड हिटिंग ड्रामा होगा। वेब सीरीज की शूटिंग उत्तर प्रदेश में की जाएगी। चौबे ने विशाल भारद्वाज की यूपी केंद्रित फिल्म ओमकारा के संवाद भी लिखे थे और 2016 में उड़ता पंजाब जैसी हार्ड हिंटिंग फिल्म बनाई थी। वेब सीरीज में विलंब का एक कारण यह भी बताया जा रहा था कि चौबे साजिद नाडियाडवाला के लिए तमिल हिट जिगरथंडा के हिंदी रीमेक की तैयारियों में लगे थे मगर क्रिएटिव डिफरेंस के कारण वह काम बना नहीं।

Next Story