Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रवि किशन का जया बच्चन को जवाब, 'जिस थाली में जहर होता है, उसमे छेद करना जरूरी होता है'

रवि किशन ने एक बार फिर जया बच्चन को जवाब दिया। 'जिस थाली में खाते है, उसी में छेद करते है।' के जवाब में रवि किशन ने कहा- 'जिस थाली में जहर होता है, उसमे छेद करना जरूरी होता है'

रवि किशन का जया बच्चन को जवाब,
X
रवि किशन जया बच्चन

फिल्म इंडस्ट्री में ड्रग्स के बढ़ते इस्तेमाल का मुद्दा भोजपुरी एक्टर और गोरखपुर से राज्यसभा सांसद रवि किशन ने संसद में मुद्दा उठाया। लेकिन उनके इस मुद्दो के लेकर जया बच्चन खफा नजर आई और अगले दिन रवि किशन का नाम लिए बिना ही उनपर निशाना साधा। जया बच्चन ने अपनी स्पीच में कहा- 'जो लोग इंडस्ट्री में काम करते है, वही ही इंडस्ट्री के बारे में बुरा-भला बोल रहे है। ये शर्मनाक है।', अपनी स्पीच को खत्म करते हुए जया बच्चन ने आखिर में कहा- 'जिस थाली में खाते है, उसी में छेद करते है।'

जया बच्चन (Jaya Bachchan) के इस बयान पर रवि किशन ने एक बार फिर निशाना साधा। 'जिस थाली में खाते है, उसी में छेद करते है', इस पर रवि किशन ने कहा कि जिस थाली में जहर होता है, उसमे छेद करना जरूरी होता है। रवि किशन ने ट्वीट में लिखा- 'जिस थाली में जहर हो उसमे छेद करना ही पड़ेगा, वरिष्ठ अभिनेता राजनेताओं को तो इसमें सहयोग ही करना चाहिए। जया जी के जमाने में केमिकल जहर नहीं था, लेकिन अब है। हमारी खूबसूरत इंडस्ट्री की महान पीढ़ी उनकी चपेट में आ रही है। हमे इसको बचाना है।'

इससे पहले भी रवि किशन (Ravi Kishan) ने जया बच्चन के वार पर पलटवार किया था। रवि किशन ने कहा था- 'मुझे जया जी से ये उम्मीद नहीं थी। मुझे लगा था कि मेरे कल के व्यक्तव्य पर जया जी आज समर्थन देंगी या तो उन्होंने मेरी बात सुनी ही नहीं। उनकी पार्टी अलग है, उनकी विचारधारा अलग है। मेरी पार्टी बीजेपी है, हमारी विचारधारा है गंदगी को देश से साफ करना। जितनी फिल्म इंडस्ट्री उनकी है उतना हक इस इंडस्ट्री पर मेरा भी है, मैं इंडस्ट्री को खोखला होने नहीं दूंगा भले मेरी जान चली जाए'

Next Story
Top