Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rajinikanth Birthday: रजनीकांत के नाम है ये नायाब रिकॉर्ड, आज तक नहीं तोड़ पाए बड़े से बड़े साउथ एक्टर्स

12 दिसंबर को रजनीकांत 69 साल के हो जाएंगे। रजनीकांत साउथ के एकलौते ऐसे एक्टर है, जिनके नाम एक नायाब रिकॉर्ड है। उनके इस रिकॉर्ड को अब तक कोई भी साउथ का एक्टर नहीं तोड़ पाया है। खबर में जानिए, कि आखिर क्या है वो रिकॉर्ड ?

Rajinikanth Birthday: रजनीकांत का नाम है ये नायाब रिकॉर्ड, आज तक नहीं तोड़ पाए बड़े से बड़े साउथ एक्टर्सरजनीकांत

रजनीकांत 12 दिसंबर को 69वां जन्मदिन सेलिब्रेट करेंगे। उनका जन्म 12 दिसंबर 1950 में एक मराठी परिवार में हुआ। बचपन में उन्होंने आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा, जब बड़े हुए तो घर चलाने के लिए उन्हें कुली और बस कंडेक्‍टर के तौर पर काम करना पड़ा।

लेकिन अपनी मेहनत के दम पर आज वो इस मुकाम पर है कि आज पुरी दुनिया उनकी फैन है। रिलीज होने से पहले ही फिल्म को सुपरहिट मान लिया जाता है। रजनीकांत के नाम एक रिकॉर्ड है, जो अब तक कोई भी साउथ एक्टर नहीं तोड़ पाया है। फिर चाहे वो प्रभास हो या फिर महेश बाबू... कोई भी उनके इस रिकॉर्ड को तोड़ने में कामयाब नहीं हो पाया है।


दरअसल, रजनीकांत को आज तक किसी भी साउथ फिल्म में मरने वाला क्लाईमेक्स नहीं दिखाया गया। साउथ फिल्मों में रजनीकांत वाला किरदार को नहीं मारा गया है। इसके पीछे का कारण है डायरेक्टर्स का डर... डायरेक्टर्स को डर रहता है कि अगर वो रजनीकांत के किरदार को मरा दिखाएंगे तो उनके फैंस बवाल कर सकते है।

साउथ में अकेले रजनीकांत ऐसे एक्टर है, जिनको भगवान की तरह पूजा जाता है, उनके पोस्टर्स को दूध से नहलाया जाता है और मालाएं पहनाई जाती है। रजनीकांत कुछ भी करें, तो ट्रेंड बन जाता है, चाहे फिर वो अपने स्टाइल में चश्मा पहनना हो या फिर बैठना..


रजनीकांत का असली नाम शिवाजी राव गायकवाड़ है। उनके अंदर छिपे कलाकार को उनके दोस्त ने ढूंढ निकाला था। जिसके बाद रजनीकांत की मदद करते हुए दोस्त ने 1974 में मद्रास फिल्म इंस्टिट्यूट में एडमिशन कराया। रजनीकांत ने फिल्म इंडस्ट्री के लिए तमिल बोलना भी सीखा।

फिल्मों में आने के लिए उन्होंने शिवाजी राव गायकवाड़ से नाम बदलकर रजनीकांत रख लिया। 1975 में उनकी पहली तमिल फिल्म 'अपूर्वा रांगगल' आई। उसमें रजनीकांत को सपोर्टिंग रोल मिला। उनके इस किरदार को काफी सराहा गया। इसके बाद उन्हें कन्नड़ मूवीज में भी काम मिलने लगा। यही नहीं, उनके कई हिंदी फिल्मों में भी बखूबी काम किया।


उन्होंने हिंदी मूवी में जैसे 'दोस्ती दुश्मनी', 'बुलंदी', 'गिरफ्तार', 'इंसानियत के देवता', 'फूल बने अंगारे', 'इंसाफ कौन करेगा', 'खून का कर्ज', 'चालबाज', 'हम', '2.0' सुपरहिट मूवीज की। फिल्मों से एक जुड़ा किस्सा रजनीकांत का खूब फेमस है। दरअसल, रजनीकांत राजकुमार के साथ काम नहीं करना चाहते थे।

जब 'तिरंगा' फिल्म के लिए डायरेक्ट मेहुल कुमार ने रजनीकांत से बात की तो उन्होंने पहले फिल्म के लिए हां कर दी, लेकिन जब उन्हें पता चला कि फिल्म में राजकुमार भी है, तो उन्होंने फिल्म करने से मना कर दिया। रजनीकांत को सिनेमा में उनके योगदान के लिए साल 2000 में पद्मभूषण और 2016 में पद्मविभूषण से सम्मानित किया गया।

Next Story
Top