Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

परवीन बाबी की पहली फिल्म हीरो का था छक्काबाज, सलमान खान से था ये कनेक्‍शन

हिंदी फिल्मों की हीरोइन को पश्चिमी रंग-ढंग देने वाली परवीन बाबी यूं तो जूनागढ़ (गुजरात) रियासत की राजकुमारी थीं मगर उनका रुझान मॉडलिंग तथा फिल्मों की ओर था।

परवीन बाबी की पहली फिल्म हीरो का था छक्काबाज, सलमान खान से था ये कनेक्‍शन

हिंदी फिल्मों की हीरोइन को पश्चिमी रंग-ढंग देने वाली परवीन बाबी यूं तो जूनागढ़ (गुजरात) रियासत की राजकुमारी थीं मगर उनका रुझान मॉडलिंग तथा फिल्मों की ओर था। 1970 में चेतना जैसी बोल्ड फिल्म बनाने वाले निर्देशक बी.आर. इशारा ने 1972 में परवीन बाबी को अहमदाबाद यूनिवर्सिटी में देखा तो अपनी नई फिल्म चरित्र में हीरोइन बनने का ऑफर दे दिया। हिमाचल से मुंबई आए बाबू राम इशारा ने जब परवीन बाबी को लॉन्च करने का फैसला किया, तो इस हीरोइन के साथ कोई बड़ा हीरो काम करने को तैयार नहीं था। ऐसे में इशारा ने उन दिनों इंडियन क्रिकेट टीम के सबसे हैंडसम चेहरे सलीम दुर्रानी को चरित्र ऑफर की। दुर्रानी भारतीय इतिहास के एकमात्र क्रिकेटर हैं, जो अफगानिस्तान में पैदा हुए। 1960 और 70 के दशक में धूम मचाने वाले दुर्रानी के पिता अब्दुल अजीज ने भी अविभाजित भारत के लिए अनधिकृत टेस्ट खेला था। विभाजन के बाद अजीज ने पाकिस्तान में रहने फैसला किया और 12 साल के सलीम भारत आ गए।


सलीम दुर्रानी इसलिए दर्शकों के चहेते थे कि वह ऑन-डिमांड छक्का मारते थे। जिन दिनों इशारा ने दुर्रानी को अपनी फिल्म में हीरो बनाया, वह अपने खेल के शिखर पर थे। उन्होंने इशारा से कहा कि उन्हें फिल्म में हीरो बनाकर वह गलती कर रहे हैं मगर बाबू राम इरादों के पक्के थे और अपनी धुन में काम करते थे। दुर्रानी को फिल्म के लिए उस दौर में 80 हजार रुपये मिले। बताया जाता है कि सलीम को पाकीजा जैसी यादगार फिल्म के निर्माता-निर्देशक और मीना कुमारी के पति कमाल आमरोही ने भी अपनी फिल्म के लिए साइन किया था परंतु वह कभी शुरू ही नहीं हो सकी। सलीम दुर्रानी का एक और बॉलीवुड कनेक्शन यह है कि आज के सुपरस्टार सलमान खान ने करीब हफ्ते भर तक गंभीरता से उनसे क्रिकेट की कोचिंग ली थी। सलमान को बचपन में उनके पिता सलीम खान क्रिकेटर बनाने का सपना देखते थे मगर दुर्रानी की कोचिंग के लिए सलमान को सुबह जल्दी जागना पड़ता था। जो उनसे ज्यादा हो नहीं पाया।


फिल्म प्रचार डॉट कॉम के अनुसार, इशारा के काम करने का अपना अंदाज था। फिल्म चरित्र के क्रेडिट में परवीन बाबी के साथ उन्होंने लिखा द हॉटेस्ट डिस्कवरी (गर्मागरम खोज) और सलीम दुर्रानी के नाम के साथ दर्ज किया, एस क्रिकेटर ऑफ इंडिया (भारत के शानदार क्रिकेटर)। चरित्र में परवीन बाबी ने बोल्ड कपड़ों में कुछ सीन दिए और नतीज यह कि फिल्म फ्लॉप होने बावजूद, वह दर्शकों और ग्लैमरस फिल्म पत्रिकाओं की नजर में चढ़ गईं। सलीम दुर्रानी और परवीन बाबी फिल्म में साथ काम करने से पहले एक-दूसरे को जानते थे। अतः उस दौर की पत्रिकाओं में दोनों के रोमांस के किस्से भी छपे मगर दुर्रानी ने हमेशा इस बात को खारिज किया और कहा कि परवीन सदा उनकी अच्छी दोस्त रहीं, इससे अधिक कुछ नहीं।


एक गैर फिल्मी हीरो के साथ डेब्यू करने वाली परवीन बाद में फिल्मी सितारों के आकर्षण में ऐसी बंधी कि उनके अफेयरों के चर्चे पत्रिकाओं में धड़ल्ले से छपने लगे। शादीशुदा कबीर बेदी उनकी सबसे पहली कमजोरी बने। फिर डैनी के साथ इश्क ऐसे परवान चढ़ा कि परवीन शादी करके फिल्में छोड़ने को तैयार हो गईं। इसके बाद शादीशुदा महेश भट्ट पर वह फिदा हुईं और यह रोमांस उनके लिए ट्रेजडी साबित हुआ। परवीन के साथ अपने इश्क को लेकर महेश भट्ट ने फिल्म अर्थ बनाई, जिसमें स्मिता पाटिल ने परवीन पर आधारित दूसरी औरत का रोल निभाया। महेश भट्ट का यह फिल्म बनाना परवीन बाबी को अच्छा नहीं लगा। उन्होंने हमेशा के लिए महेश भट्ट से संबंध खत्म कर लिए।

Next Story
Top