Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अर्नब गोस्वामी के समर्थन में कंगना रनौत ने शेयर किया वीडियो, बोलीं- 'इस देश में राष्ट्रवादी आवाज बेहद कम हैं'

अर्नब गोस्वामी के समर्थन में कंगना रनौत ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर की। इस वीडियो में कंगना कहती नजर आ रही है कि 'इस देश में राष्ट्रवादी आवाज बेहद कम हैं'

अर्नब गोस्वामी के समर्थन में कंगना रनौत ने शेयर किया वीडियो, बोलीं- इस देश में राष्ट्रवादी आवाज बेहद कम हैं
X

रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के चीफ एडिटर अर्नब गोस्वामी दो साल आत्महत्या के लिए उकसाने वाले केस में जेल में बंद है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर सभी लोग अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रहे है। इस कड़ी में उनके समर्थन में बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत आई और लोगों को राष्ट्रवाद के प्रति जगाती नजर आई। कंगना ने ट्वीटर पर एक वीडियो शेयर की। वीडियो में कंगना ने सभी जर्नलिस्ट समूहों पर निशाना साधा है। इसके अलावा, उन्होंने एक उदाहरण के जरिए अपनी बात को समझाने की कोशिश की है।

वीडियो में कंगना कहती नजर आ रही है- 'मेरी एक फिल्म आई थीं 'मेंटल है क्या', उसके एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मैनें एक जर्नलिस्ट पूछा कि तुम रानी लक्ष्मीबाई के बारे में बहुत गलत लिखा.. बहस हुई.... बहस टल गई, इवेंट अच्छे से गया, लेकिन चार-पांच घंटों में बहुत सारे लोग इकट्ठे होते है, कोई अपने आप को जर्नलिस्ट बताते है। हजारों की तदाद में मंडली बनाते है, जिसको सरकार को मान्यता नहीं देती और ये ऐलान होता है कि कंगना की फिल्म को बैन कर दिया जाए। इसके पीछा का कारण ये है कि मेरी पिछली फिल्म बहुत बड़ी हिट हो गई थी, मुझको सब प्रोडक्शन हाउस ने बैन किया, फिर भी फिल्म मैनें खुद डायरेक्ट की।'

वीडियो में कंगना आगे कहती नजर आ रही है कि 'इनको डर हो गया... इनकी राष्ट्रवादी आवाज ज्यादा मजबूत नहीं होनी चाहिए... दूर तक नहीं जानी चाहिए। मेरी फिल्म आई, उसको नुकसान किया, उस मंडली का ये संकल्प पूरा हो गया, अब उनका कोई पता नहीं। अर्णब गोस्वामी कितनों दिनों से जेल में है। अब कोई जर्नलिस्ट मंडली नहीं बनाएगा... किसी ने कुछ नहीं कहा, हाईकोर्ट खुद कह रहा है कि ये गलत है, लेकिन कोई कुछ नहीं कह रहा। देखा!, कितनी कम राष्ट्रवादी आवाज है इस देश में और लॉबी कितनी मजबूत है।'

इसके आदे कंगना ने एक उदाहरण के तौर पर अपनी बात को समझाने की कोशिश की। कंगना ने कहा- 'मैं आपको अमेरिका का उदाहरण देती हूं। ट्रंप में कितनी भी बुराईयां हो मगर ये बात सच है कि वो चाइनीज वायरस को चाइनीज वायरस कहता है। आज अगर ट्रंप सत्ता में नहीं है, तो सबसे ज्यादा फायदा होगा चाइना को, तो आप देखिए इन विदेशी शक्तियों ने उनका वोटिंग सिस्टम की हाईजैक कर लिया, जैसा कभी हुआ ही नहीं इतिहास में.. ये शक्ति है... इसी तरह से भारत को भी पूरी तरह से कंट्रोल कर रहे है। हमारे यहां पर कुछ अच्छे लोग है, लेकिन आपका जागना बहुत जरुरी है।'

कंगना लोगों को जागरूक करती हुईं दिखाई दी। कंगना ने कहा- 'जब भी आप कुछ खरीदते है, तो सोचिए कि ये राष्ट्रवाद में मदद करेगा या नहीं.... जब भी आप किसी को देखते है... चाहे जर्नलिस्ट को देखते है या बुक पढ़ते है तो आप सोचिए कि इन लोगों के विचार क्या है। इन लोगों का मकसद क्या है ?'

Next Story