Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ट्विटर पर जावेद अख्तर और IPS की जंग, यूजर्स ने लिये खूब मजे

नागरिकता कानून को लेकर जामिया के छात्रों का प्रदर्शन जारी है। छात्रों ने दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया है कि उनपर पुलिस ने लाठीचार्ज किया है.. यही नहीं फायरिंग भी की है। इस कड़ी में जावेद अख्तर ने पुलिस की इस कार्रवाई का विरोध जताते हुुए ट्वीट किया, जिसका जवाब आईपीएस ने बखूबी दिया।

ट्विटर पर जावेद अख्तर और IPS की जंग, यूजर्स ने लिये खूब मजेजावेद अख्तर

नागरिकता कानून को लेकर देशभर में लोग विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। जिसमें जामिया (Jamia) के छात्र भी शामिल है। छात्रों के उग्र प्रदर्शन को रोकने के चलते पुलिस को कार्रवाई कर रही है, उस पर सवाल उठ रहे है। पुलिस की बर्बर कार्रवाई का आरोप लगाया जा रहा है।

इस कड़ी में लेखक और गीतकार जावेद अख्तर (javed akhtar) ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Millia Islamia) के छात्रों की पिटाई की निंदा करते हुए पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए। उन्होंने इसके विरोध में ट्वीट कर दिल्ली पुलिस पर निशाना साधा, इस ट्वीट पर जवाब भी आईपीएस ने बड़ी ही बेबाकी से दिया।


जावेद अख्तर ने ट्वीट में लिखा- कानून के मुताबिक, किसी भी हालातों में पुलिस यूनिवर्सिटी के कैंपस में यूनिवर्सिटी के अधिकारियों की इजाजत के बिना नहीं घुस सकती है... जामिया कैंपस में बिना इजाजत घुसकर पुलिस ने एक ऐसी मिसाल कायम की है जो हर यूनिवर्सिटी के लिए एक खतरा है...'

जावेद के इस ट्वीट पर आईपीएस संदीप मित्तल ने करारा जवाब दिया। आईपीएस संदीप मित्तल ने तंज कसते हुए जावेद अख्तर को लीगल एक्सपर्ट बताया और लिखा- ' डीयर, लीगल एक्सपर्ट... प्लीज लॉ ऑफ लैंड, सेंशन नंबर और अधिनियम जैसों के बारे में थोड़ा और विस्तार से समझाएं ताकि हमें भी जानकारी हो सकें'

ट्वीट पर जावेद अख्तर और आईपीएस की इस जुबानी जंग को देख यूजर्स ने भी खूब मजे लिए। प्रभात यादव नाम के यूजर ने लिखा- 'सर तो शायर हैं... उनको कानून का कहां पता होगा... व्हाट्स एप पर आया होगा, कॉपी कर चिपका दिए'... वहीं दूसरे यूजर ने लिखा- 'जावेद साहब लॉ की जानकारी रखा मुंह से थूकने जितना सरल नहीं है'...

आपको बता दें कि 15 दिसंबर को नागरिकता कानून के खिलाफ जामिया के छात्रों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस ने भीड़ पर लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे.. लेकिन आरोप है कि पुलिस ने फायरिंग की.. इन आरोपों पर पुलिस ने झूठा करार दिया है। पुलिस की कार्रवाई से नाराज डीयू के छात्रों ने भी प्रदर्शन किया।

Next Story
Top