Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Friendship-Day Special: बॉलीवुड सितारों के बेस्ट फ्रेंड की कहानी

दोस्ती का मतलब है, हर पल का साथ। दोस्त दूर भी हो तो उसके अहसास बने रहें। दोस्ती का मतलब यह भी है- गुलजार जिंदगी। जिंदगी में दोस्त की कितनी अहमियत होती है, उसका साथ दिलो-दिमाग को कितनी ताकत देता है, बता रहे हैं कुछ जाने-माने फिल्म-सितारे...

Friendship-Day Special: बॉलीवुड सितारों के बेस्ट फ्रेंड की कहानी

दोस्ती का मतलब है, हर पल का साथ। दोस्त दूर भी हो तो उसके अहसास बने रहें। दोस्ती का मतलब यह भी है- गुलजार जिंदगी। जिंदगी में दोस्त की कितनी अहमियत होती है, उसका साथ दिलो-दिमाग को कितनी ताकत देता है, बता रहे हैं कुछ जाने-माने फिल्म-सितारे...

फ्रेंडशिप-डे स्पेशल : बॉलीवुड सितारों के बेस्ट फ्रेंड की कहानी

दोस्ती में कोई अमीर-गरीब नहीं होता। बस दोस्ती होती है। मेरा एक ऐसा ही दोस्त एक रिक्शा वाला है। जिसका नाम राम लखन है। वह बनारस में रहता है। हमारी दोस्ती तब हुई थी, जब मैं 'थ्री इडियट्स' के प्रमोशन के लिए बनारस गया था। उस दौरान मैं उसके रिक्शे में खूब घूमा। मुझे उसकी कंपनी में बहुत मजा आया था। एक बार उसके बेटे की शादी थी, तो उसने मुझे अपने बेटे की शादी का कार्ड भेजा। उसने कार्ड तो भेज दिया लेकिन उसको जरा भी विश्वास नहीं था कि मैं उसके बेटे की शादी में आऊंगा। क्योंकि वो गरीब था, एक चाल में रहता था। चूंकि वो मेरा अच्छा दोस्त था, इसलिए मैंने तय किया कि मैं उसके बेटे की शादी में जरूर जाऊंगा। जब मैं उसके बेटे की शादी में बनारस पहुंचा तो वो बहुत खुश हुआ। उसके साथ शादी में पूरा वक्त बिताया। जब मैं वहां से जाने लगा तो उसकी आंखों में आंसू आ गए, बोला, 'आमिर भाई, मुझे इतनी खुशी पहले कभी नहीं मिली, जो आज आपके आने से मिली है।' मेरा वो दोस्त आज भी मेरे दिल के बहुत करीब है।

कैटरीना कैफ

अगर मैं अच्छे और सबसे सच्चे दोस्त की बात करूं तो सलमान खान मेरे सबसे अच्छे-सच्चे दोस्त हैं। सलमान जैसे दोस्त बहुत कम लोगों को नसीब होते हैं। सलमान में एक माइनस प्वांइट भी है, वो यह कि सबकी बहुत खिंचाई करते हैं। मेरा तो वो इतना ज्यादा मजाक उड़ाते हैं कि मुझे रोना आ जाता है। कई बार मुझे लगता है कि सलमान मेरी इनसल्ट कर रहे हैं। लेकिन बाद में जब मैंने उनके साथ काफी वक्त गुजारा तो पाया कि वो किसी को दुख नहीं पहुंचाना चाहते। मजाक करना उनके स्वभाव में है। अब जब कभी वह मेरी टांग खिंचाई करते हैं तो मैं भी उनको टक्कर में जवाब देती हूं। मेरे जवाब पर सलमान को बहुत हंसी आती है, वो मेरी तुनक-मिजाजी का पूरा मजा लेते हैं। बहुत कम लोग होते हैं, जिनकी दोस्ती नि:स्वार्थ होती है। सलमान उनमें से एक हैं। उन्होंने मेरे साथ हमेशा दोस्ती निभाई। हमेशा मुझे गाइड किया। मेरे साथ खुशी में भले ही सलमान शामिल ना हों, लेकिन दुख में वो हमेशा मेरे साथ खड़े रहे हैं। फ्रेंडशिप-डे के मौके पर मैं सलमान को स्पेशल थैंक्स बोलना चाहूंगी, मुझे अपना दोस्त बनाए रखने के लिए। सलमान मेरे नंबर वन फ्रेंड हैं।

कपिल शर्मा

मेरा सबसे अच्छा और करीबी दोस्त दिनेश है, जो हमारे शो में ड्रम बजाता है। हम दोनों बचपन के दोस्त हैं। हम साथ में अमृतसर में भी घूमते-फिरते थे। चूंकि हम दोनों ही म्यूजिकल माइंडेड हैं, इस लिए हमारी कुछ ज्यादा ही जमती थी। पुराने दिनों में जब कभी हमारा मूड अच्छा होता था। हम दो-दो पैग मार कर पुराने गाने गाया करते थे। मैं गाता था, वो पूरे दिल से गिटार बजाता था। गिटार के अलावा उसको ढोलक और बाकी इंस्ट्रुमेंट्स भी अच्छे बजाने आते हैं। दिनेश मुझे इतना प्यारा है कि अगर वो मेरी नजरों से दूर हो जाए तो मैं बेचैन हो जाता हूं। बीच में जब मैं बीमार हो गया था तो वो बहुत दुखी रहता था। एक बार दिनेश पता नहीं कहां पूरे दिन के लिए गायब हो गया। ना उसका फोन लग रहा था, ना ही उसका कुछ पता चल रहा था। उस वक्त मैं इतना घबरा गया कि मेरी तबीयत ही गड़बड़ाने लगी, क्योंकि मैं उसके बगैर ज्यादा देर नहीं रह सकता। पूरे दिन के बाद जब वो मिला तो मैंने उसको बहुत पीटा। बेचारा वो मुझसे पिटता रहा, क्योंकि वो समझ गया कि मैं उसको कितना प्यार करता हूं।

आलिया भट्ट

मेरी पहली फिल्म का हीरो वरुण धवन मेरा सबसे अच्छा दोस्त है। दोस्ती में मैं उसकी खूब टांग खिंचाई करती हूं। इस पर वो मुझे अकसर पीट भी देता है। मुझे आज भी याद है, हम एक फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में होटल में ठहरे थे, वहां पर मैंने इतनी धमाल की कि वरुण के नाक में दम कर दिया। वरुण ने मुझे शांत रहने की काफी कोशिश की लेकिन मैं इतनी ज्यादा मस्ती के मूड में थी कि उसकी एक न सुनी। वरुण और मैं, जहां डाइट कॉन्शस हैं, वही बहुत बड़े खब्बू भी हैं। हम जहां शूटिंग में जाते हैं, उस शहर की सबसे फेमस डिश जरूर खाते हैं। जब हम 'कलंक' की शूटिंग कर रहे थे, हम शूटिंग पैकअप होते ही वहां का स्ट्रीट फूड खाने पहुंच जाते थे। हम जहां जाते, दोनों बुर्का पहन कर जाते थे ताकि हमें कोई पहचान ना सके। मुझे देखकर तो कोई इतना रिएक्ट नहीं करता था लेकिन वरुण को देखकर जरूर लोग चौंकते थे कि यह मैडम बुर्के में किस तरह की हैं? उस वक्त हम बहुत हंसते थे। वरुण और मेरी बहुत अच्छी दोस्ती है, इसीलिए हम हर फिल्म में एक-दूसरे के साथ बहुत सहज महसूस करते हैं। यही वजह है कि मैंने अपने एक्टिंग करियर में उसके साथ सबसे ज्यादा फिल्में की हैं। मुझे वरुण इसलिए भी बहुत पंसद है, क्योंकि वो बहुत ईमानदार है, दोस्ती हो या प्यार, हर जगह सौ प्रतिशत ईमानदार है।

अजय देवगन

वैसे तो इंडस्ट्री में मेरे कई सारे दोस्त हैं फिर चाहे वो सलमान खान हों, संजय दत्त या रितेश देशमुख। लेकिन इन सबके अलावा मेरे सबसे करीबी जो दोस्त है, वो है रोहित शेट्टी। रोहित और मैं तब से दोस्त हैं, जब मैं अपनी पहली फिल्म 'फूल और कांटे' कर रहा था। उस वक्त वो असिस्टेंट डायरेक्टर था। हमारी तब से आज तक दोस्ती बरकरार है। हम जब साथ शूटिंग करते हैं तो दोनों मिलकर अपने को-स्टार्स से खूब मजे लेते हैं। खासतौर पर हीरोइनें तो हमारे प्रेंक से बहुत डरती हैं। एक बार हमने परिणीति चोपड़ा को इतना परेशान किया था कि उसकी हालत खराब हो गई। मेरे कहने पर रोहित ने उसको एक सीन में ऐसे डायलॉग दिए, जो बिना मतलब के थे, जिनका फिल्म की सीन से कोई मतलब नहीं था। वो डायलॉग उसको मेरे सामने रोमांटिक अंदाज में बोलने थे, जो बहुत ही फनी थे। हम सबने उस वक्त तय किया था कि चाहे जो हो जाए, कोई हंसेगा नहीं। वो डायलॉग बोलते वक्त परिणीति जोर-जोर से हंस रही थी, हम एकदम सीरियस थे। यह देखकर परिणीति बहुत ज्यादा परेशान हो गई। फाइनली मैं ही अपनी हंसी नहीं रोक पाया और जोर से हंसने लगा। मुझे हंसते देख, रोहित भी हंस-हंस के बेहाल हो गया। परिणीति समझ गई कि हम उसे बेवकूफ बना रहे हैं। उसके बाद वो हमें जो मारने दौड़ी है कि मैं बता नहीं सकता। कहने का मतलब यह है कि रोहित मेरा जितना अच्छा दोस्त है, उतना ही मजाकिया भी है। उसकी कंपनी में मुझे बहुत ज्यादा मजा आता है।

आयुष्मान खुराना

मेरे बेस्ट फ्रेंड का नाम रोचक कोहली है। हम दोनों बचपन से ही बेस्ट फ्रेंड हैं। हम म्यूजिक लवर हैं, वो मुझे अच्छी-अच्छी ट्यूनिंग कंपोज करके दिया करता था। मैं उसके साथ कॉलेज के स्टेज पर परफॉर्म किया करता था। एक बार हमारे कॉलेज का एनुअल फंक्शन था। उस दौरान उसने एक धुन कंपोज करके दी। गाने की आवाज मेरी थी और म्यूजिक उसका था। उस वक्त जब मैंने वो गाना कॉलेज के स्टेज पर गाया तो लोग इतने मंत्रमुग्ध हो गए कि गाना खत्म होने के बाद लोगों ने मुझे मारे खुशी के कंधों पर उठा लिया। यह देखकर मेरा दोस्त बिल्कुल भी दुखी नहीं हुआ या जला कि मुझे गाने का सारा क्रेडिट कैसे मिल गया। बल्कि वो खुश होकर जोर-जोर से ताली बजाने लगा। जब मैंने सबको बताया कि गाना मेरे इस दोस्त ने लिखा है और इसका म्यूजिक भी उसी ने दिया है तो लोगों ने हम दोनों को अपने कंधों पर उठा लिया। उसके बाद हम कॉलेज के हीरो बन गए। आज जब मैं वो दिन याद करता हूं तो बहुत रोमांचित हो जाता हूं। हम आज भी अच्छे दोस्त हैं लेकिन उसका प्रोफेशन दूसरा है, वो अब म्यूजिक की फील्ड में नहीं है लेकिन शौक हमारा अब भी बरकरार है।

श्रद्धा कपूर

टाइगर मेरा सबसे अच्छा दोस्त है। हमने साथ में 'बागी' फिल्म की थी। उसके बाद से हमारी गहरी दोस्ती हो गई। एक्चुअली वो पहले से मुझे बहुत एडमायर करता था। जब मैं स्कूल में पढ़ती थी, वो भी मेरे ही स्कूल में पढ़ता था। उस वक्त से ही मैं बहुत स्टाइलिस्ट थी। उसको मैं बहुत पसंद थी। लिहाजा वो मुझे छिप-छिप के देखा करता था। ये बात उसने मुझे उस दिन बताईं, जब हमने 'बागी' फिल्म की शूटिंग शुरू की थी। उस वक्त उसकी बात सुनकर मैं बहुत हंसी थी। शूटिंग के दौरान मैंने महसूस किया कि टाइगर बहुत मस्तीखोर है लेकिन वो सबके साथ मजाक नहीं करता। बस उन्हीं के साथ फ्री होता है, जिनके साथ उसकी गहरी दोस्ती है। टाइगर और मैं डांस और एक्सरसाइज के बहुत शौकीन हैं। जब भी हमें वक्त मिलता था, टाइगर मुझे नए-नए स्टेप्स सिखाया करता था। मुझे हेल्थ के लिए भी जब कोई टिप्स चाहिए होती है तो भी मैं तुंरत टाइगर को कॉल करती हूं। टाइगर मेरा बहुत अच्छा और सच्चा दोस्त है।

सारा अली खान

मेरी बेस्ट फ्रेंड काम्या अरोरा है, वह मेरी जान है। उससे हमारी बहुत गहरी-तगड़ी दोस्ती है। मैं अपनी हर खुशी सबसे पहले उसी के साथ शेयर करती हूं। जब तक मैं उसको अपने दिल की बात बोल नहीं लेती, मेरा खाना हजम नहीं होता है। उसने मुझे जब 'सिंबा' में रणवीर सिंह के साथ टपोरी स्टाइल का डांस करते हुए देखा तो वो थिएटर में मारे खुशी के सीटी मारने लगी। मुझे उसकी खुशी देखकर हंसी भी आ रही थी। काम्या और मेरी पसंद बहुत मिलती है। जब भी मुझे डांस करने का शौक होता है या शॉपिंग करने की इच्छा होती है या कुछ खास खाने का मन होता है तो मैं सबसे पहले काम्या को ही कॉल करती हूं। अगर वो मेरे साथ नहीं होती है तो मुझे कुछ भी करने में मजा नहीं आता। वो इतनी ज्यादा बातूनी है कि टाइम कैसे पास हो जाता है पता ही नहीं चलता। यही वजह है कि मुझे उसकी कंपनी में बहुत मजा आता है। फ्रेंडशिप-डे के मौक पर मैं उसको हैप्पी फ्रेंडशिप-डे कहना चाहूंगी। इस वादे के साथ कि ये दोस्ती हम मरते दम तक नहीं छोड़ेंगे।

Next Story
Top