Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Birthday Special Charlie Chaplin : अमेरिका के राष्ट्रपति से ज्यादा कमाते थे चार्ली चैपलिन

'सर चार्ल्स स्पेंसर चैपलिन' जिन्हें हम चार्ली चैपलिन के रूप में बेहतर जानते हैं उनका आज जन्मदिन है। 16 अप्रैल 1889 को जन्मे चार्ली ने एक अंग्रेजी हास्य अभिनेता के रूप में अपनी पहचान बनायीं।आज उनके जन्मदिन पर जानिए चार्ली चैपलिन की जिन्दगी की कुछ रोचक बातें।

Birthday Special Charlie Chaplin : अमेरिका के राष्ट्रपति से ज्यादा कमाते थे चार्ली चैपलिन
X

'सर चार्ल्स स्पेंसर चैपलिन' जिन्हें हम चार्ली चैपलिन के रूप में बेहतर जानते हैं उनका आज जन्मदिन है। 16 अप्रैल 1889 को जन्मे चार्ली ने एक अंग्रेजी हास्य अभिनेता के रूप में अपनी पहचान बनायीं चार्ली फिल्म निर्माता और संगीतकार भी थे, जो मूक फिल्मों के युग में सबसे बड़े स्टार बन के उभरे। 25 दिसंबर 1977 में उनकी मृत्यु से एक साल पहले तक चार्ली ने लगभग 75 वर्ष तक करियर को अपना समय दिया। आज उनके जन्मदिन पर जानिए चार्ली चैपलिन की जिन्दगी की कुछ रोचक बातें।


चार्ली चैपलिन जन्म 16 अप्रैल 1889 को लंदन में हुआ था। चार्ली चैपलिन ने पहली बार 21 साल की उम्र में संयुक्त राज्य अमेरिका पहुचे और उन्होंने अपनी जबरदस्त प्रतिभा की बदौलत सिनेमा उद्योग में प्रवेश किया। चैपलिन के सबसे यादगार किरदार 'लिटिल ट्रैम्प' के लिए उन्हें मूक फिल्मों के बेस्ट अभिनेताओं और निर्देशकों में से एक माना जाता है।


चैपलिन के माता-पिता दोनों मनोरंजन उद्योग से थे। पांच साल की उम्र में, चैपलिन ने अपनी मां (जो कि लैरिंजाइटिस से पीड़ित थी) को एक संगीत-हॉल शो में रिप्लेस किया था। चार्ली चैपलिन ने सैनिकों की भीड़ के सामने अपना पहला गाना जैक जोन्स गाया था।12 साल की उम्र में वह 'शर्लक होम्स' के गाने में 'बिली द पेज बॉय' के रूप में दिखाई दिए थे।


1915 में चैपलिन ने 'चार्ली चैपलिन लुक-ए-कॉन्टेस्ट'(Charlie Chaplin look-a-like contest) में हिस्सा लिया। लेकिन हैरानी तब हुई जब जज और दर्शकों ने महसूस नहीं किया कि वह असली चार्ली चैपलिन हैं। बताया गया है कि वो कॉन्टेस्ट जीतने के बजाय चार्ली को तीसरा स्थान मिला था।



चार्ली चैपलिन 'टाइम मैगज़ीन' के कवर पर दिखाई देने वाले पहले अभिनेता थे। मैगज़ीन ने अपने प्रभावशाली और विवादास्पद चेहरों के सेक्शन के चार्ली को चुना और 6 जुलाई 1925 के अंक में चार्ली चैपलिन को जगह मिली।चैप्लिन ने अपनी कई फिल्मों के लिए खुद संगीत तैयार किया जबकि उन्होंने कभी भी संगीत का उचित प्रशिक्षण नहीं लिया था। 1972 में चैपलिन ने 'लाइमलाइट' (1952) में संगीत के लिए ऑस्कर जीता।


आपको ये जानकर हैरानी होगी कि 1916 में संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति को प्रति वर्ष $ 75,000 डॉलर का वेतन दिया जाता था। वंही 1916 में ही चैपलिन ने म्यूचुअल फ़िल्म कॉरपोरेशन ऑफ़ न्यूयॉर्क के साथ एक कॉन्ट्रैक्ट किया जिसके बाद उन्हें $ 670,000 डॉलर दिया जाता था।


अमेरिका में लगभग 40 वर्षों तक रहने के बावजूद चैपलिन कभी भी अमेरिकी नागरिक नहीं बने। फिल्म मॉडर्न टाइम्स के बाद उन्होंने कम्युनिस्ट सहानुभूति प्राप्त करने वाले के रूप में जाना जाता था। 1952 में अमेरिकी सरकार ने उनके परमिट को रद्द कर दिया जिसका मतलब था कि चैपलिन को इंग्लैंड में छुट्टी के बाद अमेरिका में वापस जाने की अनुमति नहीं थी। परिणामस्वरूप चैपलिन स्विट्जरलैंड चले गए और वंहा उन्होंने अपना बाकि जीवन बिताया। वह केवल अपने ऑस्कर अवार्ड को लेने के लिए 1972 में अमेरिका आये थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top