Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अमिताभ बच्चन का भाजपा से मोहभंग, कांग्रेस से बढाया दोस्ती का हाथ!

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन का भाजपा से मोहभंग हो रहा है। कांग्रेस के प्रति उनके मन में फिर से प्रेम हिलोरें मार रहा है।

अमिताभ बच्चन का भाजपा से मोहभंग, कांग्रेस से बढाया दोस्ती का हाथ!

क्या सदी के महानायक अमिताभ बच्चन का भाजपा से मोहभंग हो रहा है? या फिर कांग्रेस के प्रति उनके मन में फिर से प्रेम हिलोरें मार रहा है? लेकिन अचानक ये बदलाव क्यों? कहीं बदलती राजनीतिक फिजां का उन्हें इल्म तो नहीं हो रहा?

कांग्रेस पार्टी के अशोक रोड स्थित पार्टी मुख्यालय में दोपहर बाद कयासों का ये सिलसिला शुरू हुआ जो देर शाम तक चलता रहा।

दरअसल, अमिताभ बच्चन ने अचानक ट्विटर पर पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को फॉलो किया फिर एआईसीसी के ऑफिसियल एकाउंट को भी फॉलो किया।

इसे भी पढ़ें- 'शहंशाह' के 30 साल, अमिताभ बच्चन को नहीं थी रिलीज की उम्मीद, जया ने लिखी थी स्क्रिप्ट

पार्टी के प्रमुख प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, सीपी जोशी, पी. चिदंबरम, कपिल सिब्बल, अजय माकन और प्रियंका चतुर्वेदी और संजय झा जैसे नेताओं को भी उन्होंने एक के बाद एक कर फॉलो करना शुरू किया तो जाहिर है एआईसीसी में नई बहस की शुरूआत होनी ही थी।

नेहरू गांधी परिवार से बच्चन परिवार का याराना किसी से छिपा नहीं। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी से अमिताभ मित्रता ऐसी कि उनके कहने पर 1984 में इलाहाबाद संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ कर हेमवंती नंदन बहुगुणा जैसे बड़े नेता को पटखनी दी थी।

उनकी मां तेजी बच्चन की मित्रता इंदिरा गांधी से थी। दोनों परिवारों के बीच नजदीकियां ऐसी कि सोनिया गांधी भारत में शादी से पहले अपनी फर्स्ट इंडिया विजिट पर बच्चन परिवार की ही मेहमान रहीं।

किसी कारणवश अमिताभ का न सिर्फ राजनीति से मोहभंग हुआ बल्कि गांधी परिवार से दूरियां बढ़ती रहीं। इस बीच उनकी नजदीकियां सपा नेता अमर सिंह से हुई।

उनके माध्यम से वे सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के नजदीक आए। उनकी पत्नी जया बच्चन सपा से राज्यसभा सांसद हैं।

इसे भी पढ़ें- महानायक अमिताभ बच्चन ने बॉलीवुड में पूरे किए 49 साल, कुछ यूं किया अपनी खुशी का इजहार

यह बात अलग है कि अमिताभ बच्चन तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के करीब आए और गुजरात के पर्यटन मंत्रालय के लिए उन्होंने एक के बाद एक कई विज्ञापन किए। वे राज्य के ब्रांड एंबेस्डर भी बनाए गए।

बतौर प्रधानमंत्री भी नरेंद्र मोदी ने उन्हें केंद्र सरकार के स्वच्छता अभियान से जोड़ा। ये सब करते हुए वे न सिर्फ कांग्रेस से दूर रहे बल्कि गांधी परिवार के नजदीक भी कभी नहीं दिखे।

लेकिन अचानक जिस तरह से उन्होंने ट्विटर के माध्यम से कांग्रेस की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया है इससे नए समीकरण के संकेत का अनुमान लगाया जा रहा है।

उन्होंने राहुल गांधी को भले ही फॉलो किया हो मगर राहुल गांधी उन्हें फॉलो नहीं किया। अलबत्ता, एआईसीसी की ऑफिसियल ट्विटर हैंडल को फॉलो करने पर अमिताभ बच्चन को शुक्रिया कहते हुए उन्हें भी फॉलो किया गया।

Next Story
Top