Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हैप्पी बर्थडे सुनील दत्तः तो इस कारण नरगिस सुनील दत्त की लाई हुई साड़ियां कभी नही पहनती थी

अभिनेता सुनील दत्त ने अपने कॅरियर की शुरुआत फिल्म मदर इंडिया से की। उनका जन्म 6 जून 1929 को हुआ था। उनकी पहली फिल्म ''मदर इंडिया'' को दर्शकों ने खूब सराहा और उसे काफी पसंद किया।

हैप्पी बर्थडे सुनील दत्तः तो इस कारण नरगिस सुनील दत्त की लाई हुई साड़ियां कभी नही पहनती थी

6 जून 1929 को पंजाब राज्य के झेलम जिले में अभिनेता सुनील दत्त का जन्न हुआ था। लेकिन अब यह इलाका पाकिस्तान में है। उनका असली नाम बलराज दत्त था।

उनहोंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म 'मदर इंडिया' से की। उसी फिल्मी ने उन्हें आसमान की बुलंदियों पर चढ़ा दिया। उनकी पहली फिल्म 'मदर इंडिया' को दर्शकों ने खूब सराहा और उसे काफी पसंद किया।

सुनीत दत्त ने रेडियो सिलोन में बतौर अनाउंसर काम किया है। वहां से शुरु हुआ उनका सफर जिस मुकाम तक पहुंचा वो काफी प्रेरक हैं। अपने 40 साल के लंबे करियर के दौरान सुनील दत्त ने 20 से ज्यादा फिल्मों में विलेन के किरदार को किया है।

उन्होंने 1958 में अभिनेत्री नरगिस से शादी की। उनकी दो बेटियां और एक बेटा है। लेकिन उनके बेटे संजय दत्त को नशे की खराब आदत लग गई। जिसके कारण उन्हें काफी शर्मिंदा होना पड़ा।

सुनील दत्त को अपने बेहरतरीन और शानदार प्रदर्शन के लिए 2 बार फिल्म फेयर का अवॉर्ड भी मिल चुका है। साल 1964 और 1966 में सुनील दत्त को फिल्म 'मुझे जीने दो' और 'खानदान' के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार मिला।

सुनील दत्त की जिंदगी से जुड़ा एक मजेदार किस्सा यह भी है कि उनकी पत्नी नरगिस दत्त उनकी लाई हुई साड़ियों को कभी नही पहनती थी। सुनील दत्त द्वारा लाई गई साड़ियां नरगिस को कभी पसंद और जंचती नही थी।

उन्होंने फिल्मी जगत में अपने लिए एक अलग ख्याति हासिल की है। सुनील दत्त ने फिल्मी दुनिया से निकलकर राजनिति के गलियारों में भी कदम रखा। साल 1984 में उन्होंने राजनिति में कदम रखा।

सुनील दत्त ने कांग्रेस के टिकट पर उत्तर-पश्चिम मुंबई से लोकसभा सीट का चुनाव लड़ा। साथ ही सुनील दत्त वहां से लगातार पांच बार सांसद चुने गए। उन्हें कांग्रेस कार्यकाल में खेल और युवा मामलों का मंत्री बनाया गया था।

सुनील दत्त ने अपनी आखिरी फिल्म अपने बेटे के साथ की। उस फिल्म का नाम 'Munna Bhai MBBS' था। लेकिन इस फिल्म में सुनील दत्त के अभिनय करने के साथ ही उनकी मौत हो गई। उनकी मौत 25 मई 2005 में हुई और इसी के साथ बॉलीवुड की दुनिया से एक और सितारे ने हमें अलविदा कह दिया।

Next Story
Top