Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

PCOS Society: महिलाओं के स्वास्थ्य समस्याओं पर आधारित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का हुआ समापन

एंड्रोजन एक्सास और पीसीओएस सोसाइटी के सहयोग से पीसीओएस सोसाइटी ऑफ इंडिया का तीसरा वार्षिक सम्मेलन गुरुग्राम के होटल लीला एम्बियंस में आयोजित किया गया। इस अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का केंद्र बिंदु ‘पीसीओएस: जीवन चक्र के माध्यम से’ रखा गया था।

PCOS Society: महिलाओं के स्वास्थ्य समस्याओं पर आधारित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का हुआ समापन

एंड्रोजन एक्सास और पीसीओएस सोसाइटी के सहयोग से पीसीओएस सोसाइटी ऑफ इंडिया का तीसरा वार्षिक सम्मेलन गुरुग्राम के होटल लीला एम्बियंस में आयोजित किया गया। चूंकि, पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम (पीसीओएस) महिलाओं को उनके जीवन के सभी चरणों में प्रभावित करता है, इसलिए इस अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का केंद्र बिंदु ‘पीसीओएस: जीवन चक्र के माध्यम से’ रखा गया था।

इस सम्मेलन को आयोजित करने का मुख्य उद्देशय जीवन के विभिन्न चरणों पर ध्यान केंद्रित करना था। जिसमें जन्मकुंडली, बचपन, किशोरावस्था, प्रजनन भी शामिल थी। उल्लेखनीय है कि ‘विश्व डॉक्टर्स दिवस’ नजदीक है। इसी कारणवश सारे डॉक्टर महिला स्वास्थय के एंजेडे को बढ़ावा देने के लिए मौजूद थे।

इस कार्यक्रम को पीसीओएस की नए अध्यक्ष डॉ. रेखा शर्मा, पद्मश्री से सम्मानित प्रोफेसर अल्का कृपलानी, कनाडा के मॉन्ट्रियल स्थित मैकहिल विश्वविद्यालय के डॉ. टोगस तुलंदी, पीसीओएस सोसाइटी ऑफ इंडिया के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. दुरु शाह, पीसीओएस सोसाइटी सम्मेलन के वैज्ञानिक अध्यक्ष माधुरी पाटिल, एई-पीसीओएस सोसायटी की सीईओ एनरिको कारमिना, पीसीओएस सोसाइटी के द एई अध्यक्ष हेलेना टेडे और कई अन्य प्रतिष्ठित व्यक्ति इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल थे।

कार्यक्रम से पहले तीन प्री-कांग्रेस कार्यशालाएं भी शामिल थी। लेकिन मेन कार्यक्रम काफी ज्यादा इंटरैक्टिव था और दोनों विषयों के गहन ज्ञान पर और बढ़ावा दिया गया। जिसमें विशेषज्ञों सहित दवा के विभिन्न विषयों के लिए सलाह, जटिल अंतःस्रावी समस्या को समझना जैसे विषय शामिल थे। समारोह के दौरान पहली बार ‘पीसीओएस प्रैक्टिशनर’ परीक्षा और सम्मेलन के दौरान ‘पीसीओएस क्विज’ का आयोजन किया गया।

आपको बता दें कि पीसीओस का गठन 6 अगस्त 2015 को किया गया। जिसके साथ ही एक और नई सोसायटी बनाई गई जिसे ‘पीसीओएस सोसाइटी’ (इंडिया) कहा जाता है, जो पीसीओएस के विषय पर केंद्रित है। यह एक बहु-अनुशासनात्मक सोसायटी है और इसमें स्त्री रोग विशेषज्ञ, एंडोक्राइनोलॉजिस्ट, त्वचा विशेषज्ञ और सभी स्वास्थ्य विशेषज्ञ शामिल हैं, जो पीसीओएस रोगियों से निपटते हैं।

Next Story
Top