Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Happy Birthday Amrish Puri: लोगों की एलआईसी कर घर चलाते थे अमरीश पुरी, इस ब्रेक के बाद बने थे खूंखार विलेन

अपनी दमदार आवाज से बॉलीवुड में राज करने वाले अभिनेता अमरीश पुरी का आज जन्मदिन है। अमरीश पुरी का जन्म 22 जून 1932 को पंजाब राज्य के जालंधर में हुआ था।

Happy Birthday Amrish Puri: लोगों की एलआईसी कर घर चलाते थे अमरीश पुरी, इस ब्रेक के बाद बने थे खूंखार विलेन

अपनी दमदार आवाज से बॉलीवुड में राज करने वाले अभिनेता अमरीश पुरी का आज जन्मदिन है। अमरीश पुरी का जन्म 22 जून 1932 को पंजाब राज्य के जालंधर में हुआ था।

अमरीश ने अपने करियर की शुरुआत मराठी सिनेमा से की। साल 1967 में उनकी पहली मराठी फिल्म 'शंततु! कोर्ट चालू आहे' आई थी। इस फिल्म में उन्होंने एक अंधे का किरदार निभाया था।

अमरीश को साल 1971 में बॉलीवुड में पहला रोल मिला था। उनकी बॉलीवुड में पहली फिल्म 'रेशमा और शेरा' थी। इस फिल्म में अमरीश के साथ सुनील दत्त और वहीदा रहमान मुख्य भूमिका में थे।

आपको बता दें कि अमरीश ने अपनी पहली फिल्म के साथ ही एक खलनायक के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की। इसके बाद उन्हें बॉलीवुड में फिल्में मिलनी शुरु हो गई।

अमरीश पुरी ने अपने खलनायक वाले अंदाज को ही अपना लिया और लोगों ने इसे बखूबी पसंद भी किया। साथ ही हिंदी सिनेमा में विलेन के साथ ही उनके करियर को धार मिलनी शुरु हो गई।

शायद आपको पता ना हों कि अमरीश पुरी ने हॉलीवुड फिल्म के निर्माता स्टीवन स्पीलबर्ग के साथ भी काम किया है। अमरीश पुरी ने स्टीवन के साथ फिल्म 'इंडियाना जोंस एंड द टेंपल ऑफ डूम' की। इस फिल्म में अमरीश पुरी ने एक मां काली के भक्त का किरदार निभाया था।

अमरीश ने अपने करियर में कई फिल्में की हैं। कुर्बानी, नसीब, हीरो, अंधाकानून, दुनिया, मेरी जंग और सल्तनत आदि कई फिल्में की और इसी तरह अपने किरदार से अमरीश पुरी ने लोगों के दिलों में अपनी अलग पहचान बना ली।

लकिन जल्द ही बॉलीवुड के इस विलेन ने 12 जनवरी 2005 को इस दुनिया से विदा ले लिया और हमने हिंदी सिनेमा से एक सितारे को खो दिया। भले ही वह आज हमारे बीच ना हों लेकिन उऩका किरदार, डायलॉग्स आज भी लोगों की पसंद हैं।

Next Story
Top