logo
Breaking

Interview : अक्षिता मुद्गल ने बताया अब आगे के लिए क्या प्लानिंग है

सीरियल ‘भाखरवड़ी’ में अक्षिता मुद्गल वैल्यूज को मानने वाली लड़की गायत्री का रोल कर रही हैं। इस सीरियल की यूएसपी वह क्या मानती हैं? डांसर से एक्टर बनने का उनका सफर कैसे शुरू हुआ? आगे वह किस तरह का काम करना चाहती हैं? बातचीत अक्षिता मुद्गल से।

Interview : अक्षिता मुद्गल ने बताया अब आगे के लिए क्या प्लानिंग है

अक्षिता मुद्गल आगरा की रहने वाली हैं। रियालिटी शो ‘डांस इंडिया डांस लिटिल मास्टर्स-2’ में सबसे पहले उन्होंने हिस्सा लिया था। शो खत्म होने पर वे आगरा वापस चली लेकिन किस्मत में मुंबई फिर आना लिखा था। मुंबई आकर कम समय में ही कुछ विज्ञापन फिल्मों और ‘हाफ मैरिज’, ‘मिटेगी लक्ष्मण रेखा’ जैसे सीरियल में अक्षिता ने एक्टिंग की। इन दिनों वह सब टीवी के शो ‘भाखरवड़ी’ में नजर आ रही हैं। हाल ही में अक्षिता से सीरियल को लेकर लंबी बातचीत हुई। पेश है, बातचीत के चुनिंदा अंश-

डांसिंग से एक्टिंग की तरह आपका आना कैसे हुआ?

मैं आगरा से हूं लेकिन मेरा ज्यादा समय दिल्ली में ही बीता, इसलिए कह सकती हूं कि मैं दिल्ली से हूं। मैं डांसर रही हूं इसलिए हफ्ते में 3-4 बार दिल्ली आना होता ही था। जब मैंने ‘डांस इंडिया डांस’ में हिस्सा लिया तो मेरा मुंबई आना हुआ। मैं ‘डांस इंडिया डांस लिटिल मास्टर्स सीजन-2’ में आई थी। लेकिन शो खत्म होने के बाद वापस आगरा चली गई। उसके बाद पता नहीं कैसे लोगों के पास मेरा नंबर पहुंच गया और मुझे ऑडिशन के लिए कॉल आने लगे। फिर लगा कि चलो यही करते हैं। वैसे भी बचपन से मेरे अंदर एक्टिंग करने का हुनर था। फिर घरवालों ने डिसाइड किया कि एक महीने के लिए मुंबई जाकर देखते हैं। इस एक महीने में ही मुझे विज्ञापन फिल्मों, डेली सोप के ऑफर आने लगे यानी, बहुत जल्द ही मुझे सब कुछ मिलने लगा। फिर मैंने पक्का मन बना लिया कि अब मुझे एक्टिंग ही करनी है। मेरे परिवार ने हर तरह से मेरा साथ दिया। सब लोग मेरे लिए मुंबई शिफ्ट हो गए। अब मैं डांसर से एक्टर बन चुकी हूं लेकिन अभी भी डांसिंग से नाता बना हुआ है। एक्टिंग के लिए मैंने डांस नहीं छोड़ा है।

आप सीरियल ‘भाखरवड़ी’ से कैसे जुड़ गईं?

यह भी एक बहुत मजेदार घटना है। मैं अपने घर पर टीवी देख रही थी कि ‘भाखरवड़ी’ सीरियल का प्रोमो आया। यह इस सीरियल का पहला प्रोमो था। मैंने देखते ही कहा कि वाह यह तो बहुत ही मजेदार सीरियल लग रहा है। अगले ही दिन यानी पहली जनवरी को इस सीरियल के ऑडिशन का कॉल आया। दो जनवरी को मैंने ऑडिशन दिया, तीन तारीख को मुझे प्रोडक्शन से फोन आया, चार जनवरी को यह पक्का हो गया कि मैं इस सीरियल में हूं और पांच जनवरी को मैं ‘भाखरवड़ी’ के सेट पर थी। सात जनवरी को हमने एक और प्रोमो शूट किया। उसके बाद मैंने शूटिंग शुरू कर दी।

इस सीरियल की यूएसपी आपकी नजर में क्या है?

यह बहुत ही अच्छा सीरियल है। मेरा कैरेक्टर बिल्कुल मेरे जैसा है, जैसी मैं असल जिंदगी में हूं वैसी ही गायत्री भी है। इस सीरियल में हर बात बहुत यूनीक है। अगर आप एक्टर्स की बात करें तो हर एक्टर अपने कैरेक्टर में रमा हुआ है। सभी एक से एक दिग्गज और मंझे हुए एक्टर हैं। सभी कैरेक्टर्स को जिस तरह से हमारे राइटर आतिश कपाड़िया जी ने लिखा है, वो बहुत ही लाजवाब है। इस शो के मेकर जेडी सर हैं। इस सीरियल में प्यार, ड्रामा, कॉमेडी और इमोशंस सब कुछ है।

अपने किरदार गायत्री के बारे में थोड़ा डिटेल में बताएं?

गायत्री बहुत ही सिंपल, प्यारी-सी लड़की है। पेशे से वह आयुर्वेदिक न्यूट्रीशनिस्ट है। गायत्री की सोच परंपरावादी है। वह सोचती है कि हर काम अपने वक्त से होना चाहिए। वह अपनी परंपरा और मूल्यों को फॉलो करने वाली लड़की है। वह अपने माता-पिता को इस तरह रखती है, जैसे वो उन दोनों की मां हो। उसके परिवार में बस तीन ही लोग हैं, वो और उसके माता-पिता, लेकिन उसे बड़ा परिवार पसंद है, जिसमें सब मिल-जुल कर रहें।

जैसा आपने बताया कि आपको बहुत जल्दी यह अहसास हो गया था कि आपको एक्टिंग में आगे बढ़ना है तो क्या इसके लिए आपने तैयारी भी की?

मेरे एक्टर बनने में डांसर होना एक बड़ा प्लस प्वाइंट था। कहीं न कहीं गायत्री के रोल के लिए मेकर्स को अच्छी डांसर चाहिए थी। हां, एक्टिंग में आने के लिए मैंने जरूर बहुत मेहनत की, मैंने वर्कशॉप किए। फिर जब मैं छोटी थी तब मिरर के आगे खड़ी होकर खूब एक्टिंग करती थी। अब बहुत सारी बातें तो सेट पर रोज सीखने को मिलती हैं। इस तरह रोज कुछ नया सीखती हूं।

अब आगे के लिए क्या प्लानिंग है?

मैं तो चाहती हूं कि अभी ‘भाखरवड़ी’ पांच साल तक चले। अभी तो मेरा पूरा फोकस इस सीरियल पर है। लोगों को सीरियल पसंद भी आ रहा है। इसके बाद तो जैसे-जैसे प्रोजेक्ट आएंगे उसमें से बेस्ट सेलेक्ट करूंगी।

Share it
Top