Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जिंदगी पर दिखेगी ''आधे अधूरे'' की कहानी, दिखेगी ये जोड़ी

सीरियल की कहानी देवर-भाभी के उन रिश्तों पर आधारित है, जिसे परिवार-समाज गलत मानता है।

जिंदगी पर दिखेगी
मुंबई. लंबे समय बाद प्रोड्यूसर-डायरेक्टर अजय सिन्हा चैनल ‘जिंदगी’ के सीरियल ‘आधे-अधूरे’ से वापसी कर रहे हैं। सीरियल की कहानी देवर-भाभी के उन रिश्तों पर आधारित है, जिसे परिवार-समाज गलत मानता है। सीरियल में संबंधों की गहराई ही नहीं बेवफाई और एकतरफा संबंधों का खिंचाव भी नजर आएगा। सीरियल से जुड़ी बातें लेखक, प्रोड्यूसर-डायरेक्टर और मुख्य कलाकारों से।
कब किसकी जिंदगी में किन स्थितियों में रिश्ते ऐसे उलझ जाएं कि सवाल उठने लगें, कुछ कहा नहीं जा सकता। ऐसे ही उलझे रिश्तों की कहानी है चैनल ‘जिंदगी’ पर शुरू हो रहे सीरियल ‘आधे-अधूरे’ की। इसकी कहानी देवर-भाभी के उन रिश्तों पर आधारित है, जिसे कोई परिवार, समाज स्वीकार नहीं करेगा। सीरियल के प्रोड्यूसर-डायरेक्टर हैं अजय सिन्हा, जो ‘हसरतें’, ‘जुस्तजू’ और ‘अस्तित्व-एक प्रेम कहानी’ जैसे चर्चित सीरियल बना चुके हैं। इसमें कोई दो राय नहीं कि अजय रिश्तों की जटिलताओं को बखूबी समझते हैं, उसे पर्दे पर पूरी संवेदना से उतारते हैं। सीरियल की कहानी चूंकि पंजाबी पृष्ठभूमि की है तो इसकी शूटिंग भी पंजाब में हुई है।
लेखिका मीनाक्षी गुप्ता ने ‘आधे-अधूरे’ का कॉन्सेप्ट 2009 में तैयार कर लिया था, लेकिन वह कहानी पर और ज्यादा गहराई से काम करना चाहती थीं, इसलिए सीरियल निर्माण में देरी हुई। मीनाक्षी कहती हैं, ‘देखिए, इस तरह के रिश्तों को समाज में दबाकर रखा जाता रहा है। लोग इसके बारे में देखते-सुनते हैं लेकिन खुलकर बोलने से बचते हैं। मेरा मानना है कि ऐसे रिश्ते बनाए नहीं जाते, बल्कि परिस्थितयां ऐसे बनती हैं कि मजबूरन रिश्ते बन जाते हैं। वैसे इस तरह के सीरियल हमारे यहां बनते नहीं हैं लेकिन हमने इस दिशा में एक कोशिश की है।’
मीनाक्षी के अनुसार सीरियल ‘आधे अधूरे’ की कहानी वूमेन ओरिएंटेड है। कहानी पूरी तरह कैरेक्टर जस्सी के इर्द-गिर्द घूमती है। डायरेक्टर अजय सिन्हा भी सीरियल के बारे में बताते हैं, ‘जस्सी एक अच्छी पत्नी है, अच्छी भाभी है और अच्छी बहू भी है, बावजूद इसके उसके रिश्तों में आधा-अधूरापन है। कहानी बिल्कुल हटकर है।’ अजय स्पष्ट करते हैं, ‘अपने इस सीरियल के जरिए हम देवर-भाभी के संबंधों को प्रमोट या जस्टिफाई कतई नहीं करेंगे और न ही इसमें किसी तरह की अश्लीलता दिखेगी।
सीरियल में हमने जिंदगी और रिश्तों की जटिलताओं को पेश करने की कोशिश की है। उम्मीद है कि दर्शक इसे पंसद करेंगे।’
सीरियल के सभी कलाकार नए हैं। भाभी जस्सी का रोल सोनाली निकम और देवर वीरेंद्र का रोल रोहित भारद्वाज ने निभाया है। बीजी की भूमिका निभाई है गीता उदेशी ने। अन्य प्रमुख कलाकारों में प्रियंका खेड़ा, मोहक खुराना भी हैं। जस्सी का कैरेक्टर निभा रहीं सोनाली कहती हैं, ‘ये रोल आसान नहीं था, लेकिन मैंने इसे एक्सेप्ट किया। गुडी-गुडी कैरेक्टर तो कोई भी कर लेता है, बात तो चैलेंजिंग रोल करने में है।’
नीचे की स्लाइड्स में पढें, पूरी खबर-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top