Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देखें देश की सबसे बड़ी आरुषि मर्डर मिस्ट्री कैसे है आज भी एक पहेली

सीबीआई की पांचवी दलील थी कि हेमराज की लाश को छत पर रखने के बाद राजेश तलवार वापस फ्लैट में आए और सबूत मिटाने के दौरान उन्होंने लगातार शराब पी। सीबीआई ने ये भी दावा किया कि शराब की बोतल पर आरुषि और हेमराज का खून भी मिला था। तवार दंतपि हर बार सीबीआई को झूठा ठहराते रहे हैं। फिलहाल गाजियाबाद स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने 26 नवंबर, 2013 को राजेश व नुपुर को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। उनका दोषी ठहराया जा चुका है। आरुषि इनकी बेटी थी। राजेश, नुपुर फिलहाल गाजियाबाद की डासना जेल में सजा काट रहे हैं।
Next Story