Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

विजय गोयल ने केजरीवाल पर साधा निशाना, कहा- 5 साल प्रदूषण के लिए कुछ किया नहीं, अब ऑड-ईवन का नाटक क्यों

पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद विजय गोयल ने कहा कि केजरीवाल द्वारा ऑड-ईवन की घोषणा जनता को परेशान करने वाली है, इसलिए जनता उनका विरोध करेगी।

विजय गोयल ने केजरीवाल पर साधा निशाना, कहा- 5 साल प्रदूषण के लिए कुछ किया नहीं, अब ऑड-ईवन का नाटक क्योंVijay Goel Calls Odd Even As CM Kejriwals Drama Before Assembly Election 2020

दिल्ली सरकार द्वारा नवंबर में वाहनों को ऑड-ईवन तरीके से चलाने की घोषणा पर पूर्व केंद्रीय मंत्री व राज्यसभा सांसद विजय गोयल ने कटाक्ष करते हुए इसे नाटक करार दिया है। उन्होंने कहा कि तीनों निगमों व केंद्र सरकार के प्रयास से राजधानी में प्रदूषण में कुछ कमी दर्ज हुई है।

सरकार को भारी पड़ेगा प्रदूषण का दांव

लेकिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि वह इसे अपनी कामयाबी बता रहे थे। लेकिन अब वहीं केजरीवाल एक बार फिर से ऑड-ईवन का नाटक करने लगे है। क्योंकि उन्हें पता है कि विधानसभा चुनाव सिर पर है ऐसे में प्रदूषण का वार सरकार को भारी पड़ेगा।

ऑड-ईवन केजरीवाल का नाटक

गोयल ने कहा कि केजरीवाल द्वारा ऑड-ईवन की घोषणा जनता को परेशान करने वाली है, इसलिए जनता उनका विरोध करेगी। पिछली बार 2016 में 1 से 15 जनवरी तक ऑड-ईवन का नाटक हुआ था।

गोयल ने अपनी संस्था लोक अभियान का हवाला देते हुए कहा कि 180 लोगों से ऑड-ईवन योजना के बारे में पूछा था, जिसमें 90 फीसदी लोगों का जवाब था कि 5 साल तक तो केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण के लिए कुछ किया नहीं अब फिर से वही ऑड-ईवन का नाटक क्यों। आज केजरीवाल को प्रदूषण की याद आई है, जब चुनाव में सिर्फ 4 महीने बाकी बचे हैं। आज वे मास्क बांटने, ऑड-ईवन लागू करने की बात कर रहे हैं, जबकि 5 साल तक प्रदूषण के ऊपर उन्होंने कुछ नहीं किया।

केंद्र के प्रयासों से कम हुआ प्रदूषण

उन्होंने कहा कि दिल्ली में जो भी प्रदूषण थोड़ा बहुत कम हुआ, वह केन्द्र सरकार के प्रयासों से हुआ है। चाहे वह ईस्टर्न-वेस्टर्न हाइवे हो, जिसके कारण 60 हजार गाड़ियां दिल्ली से बाहर की बाहर निकल जाती हैं। चाहे वह मेरठ एक्सप्रेसवे हो या धौला कुंआ पर लूप बनाने की बात हो।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में अब ईंधन के लिए बीएस.6 लाने की जो बात की जा रही है, वह भी केन्द्र सरकार की योजना है। कंस्ट्रक्षन डस्ट को रोकने के लिए केन्द्र सरकार और एमसीडी ने ही निर्देश जारी किए हैंए ईंटों के भट्टे केन्द्र सरकार ने रोके हैं। कुल मिलाकर केजरीवाल सरकार ने तो प्रदूषण के लिए कुछ नहीं किया। आज भी दिल्ली में प्रदूषण की समस्या हल नहीं हुई।

Next Story
Share it
Top