Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत में हैं नाइट्रोजन ऑक्साइड के तीन सबसे बड़े हॉटस्पॉटः रिपोर्ट

दिल्ली में प्रदूषण की गंभीर स्थिति बने रहने के बीच एक नए अध्ययन में पाया गया है कि नाइट्रोजन ऑक्साइड उत्सर्जन के विश्व के तीन सबसे बड़े ‘‘हॉटस्पॉट'''' भारत में हैं और इनमें से एक दिल्ली-एनसीआर में है। ये ऐसे हॉटस्पॉट हैं, जो हवा में मौजूद महीन कण (पार्टिकुलेट मैटर) के बनने की एक मुख्य वजह हैं और भारत में वायु प्रदूषण में इसकी भी एक मुख्य भूमिका होती है।

भारत में हैं नाइट्रोजन ऑक्साइड के तीन सबसे बड़े हॉटस्पॉटः रिपोर्ट

दिल्ली में प्रदूषण की गंभीर स्थिति बने रहने के बीच एक नए अध्ययन में पाया गया है कि नाइट्रोजन ऑक्साइड उत्सर्जन के विश्व के तीन सबसे बड़े ‘‘हॉटस्पॉट' भारत में हैं और इनमें से एक दिल्ली-एनसीआर में है। ये ऐसे हॉटस्पॉट हैं, जो हवा में मौजूद महीन कण (पार्टिकुलेट मैटर) के बनने की एक मुख्य वजह हैं और भारत में वायु प्रदूषण में इसकी भी एक मुख्य भूमिका होती है।

ग्रीनपीस का यह अध्ययन उस वक्त आया है ,जब दिल्ली में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। सोमवार को शहर में धुंध छाई रही और वायु गुणवत्ता “बहुत खराब” की श्रेणी की बनी रही।
नाइट्रोजन ऑक्साइड (एनओ2) अपने आप में एक खतरनाक प्रदूषक तत्व है और यह हवा में मौजूद महीन कण (पीएम) 2.5 तथा ओजोन के निर्माण के लिए भी जिम्मेदार होता है जिन्हें सबसे खतरनाक वायु प्रदूषक माना जाता है।
एक जून से 31 अगस्त तक हासिल किए गए उपग्रहीय आंकड़ों के विश्लेषण के मुताबिक हॉटस्पॉट की सबसे ज्यादा संख्या चीन में (कुल 10) है। अरब देशों में आठ, यूरोपीय संघ में चार और भारत, अमेरिका एवं डीआर कॉन्गो में तीन-तीन हैं।
Next Story
Top