Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली: 67 वर्षीय मौलाना ने 9 वर्षीय मासूम से किया दुष्कर्म, 48 घंटे तड़पती रहे मासूम

दिल्ली के रोहिणी में नाबालिग से एक 67 वर्षीय मौलाना ने बलात्कार की घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी मौलाना जकीर आलम को मदरसे से ही गिरफ्तार कर लिया।

दिल्ली: 67 वर्षीय मौलाना ने 9 वर्षीय मासूम से किया दुष्कर्म, 48 घंटे तड़पती रहे मासूम

रोहिणी जिले के थाना नरेला अंतर्गत नौ वर्षीय छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। छात्रा आरोपी को अपना दादा बताती थी और उसके पास मदरसे में पढ़ने के लिए जाती थी। वारदात को अंजाम 67 वर्षीय मौलाना ने दिया।

रविवार रात को मदरसे से आने के बाद बच्ची गुमशुम हो गई। दो दिन बाद छात्रा की ज्यादा तबीयत खराब होने के परिजन उसे लेकर अस्पताल गए। जहां डॉक्टरों ने छात्रा के साथ दुष्कर्म की बात परिजनों को बताई।
परिजनों के पूछने पर छात्रा ने उन्हें सारी आप बीती सुनाई। इसके बाद परिजनों ने तुरंत नरेला थाना पुलिस व दिल्ली महिला आयोग को सूचना दी।
पुलिस ने मामला दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट का मामला दर्ज कर आरोपी मौलाना जकीर आलम को मदरसे से ही गिरफ्तार कर लिया। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।
पुलिस के मुताबिक मयूरी (बदला हुआ नाम) अपने परिवार के साथ जेजे कॉलोनी में रहती है। परिवार में माता पिता, भाई और दो बहनें हैं। पिता नगर निगम में मजदूर है और माँ मानसिक रूप से बीमार है। बच्ची घर में पास बने एक मदरसा बना हुआ है।
जहां बड़ी संख्या में बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं। बच्ची भी वहां पढ़ाई के लिए जाती थी। इस मदरसे में मौलाना जकीर आलम बच्चों को पढ़ाते थे। वारदात रविवार रात की है।
रात को बच्ची बाकी के बच्चों के साथ पढ़ाई के लिए गई थी। लेकिन पढ़ाई का समय पूरा होने पर बाकि के बच्चे चले गए और मौलाना में बच्ची को अपने पास ही रूकने के लिए कहा। थोड़ी देर बाद मौलाना ने मदरसे का गेट लकड़ी के बांस से बंद कर दिया और बच्ची के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया।
वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी ने किसी को बताने पर बच्ची को जान से मारने की धमकी देकर उसके घर भेज दिया।
वारदात के बाद से ही बच्ची को लगातार ब्लीडिंग हो रही थी, बावजूद इसके वह मौलाना की धमकी से डरे होने के चलते परिजनों को कुछ नहीं बता पाई। मंगलवार को ब्लीडिंग ज्यादा होेने और पेट दर्द की समस्या बढ़ने पर उसने परिजनों को दर्द की समस्या बताई।
जिसके बाद बच्ची की मौसी उसे अस्पताल लेकर पहुंची। जहां उसके साथ हुई घटना के बारे में परिजनों को पता चला। बाद में उसकी मौसी ने ही महिला आयोग और पुलिस को मामले की सूचना दी।
Next Story
Top