Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तैमूर नगर मर्डर केसः एसएचओ समेत पांच पर गिरी गाज

न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी इलाके के तैमूर नगर में रविवार देर रात ड्रग माफियाओं द्वारा रूपेश (31) नामक युवक की हत्या के केस में स्थानीय एसएचओ व एक सब इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर किया गया है जबकि एक हेडकांस्टेबल व दो कांस्टेबल सस्पेंड किये गये हैं।

तैमूर नगर मर्डर केसः एसएचओ समेत पांच पर गिरी गाज

न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी इलाके के तैमूर नगर में रविवार देर रात ड्रग माफियाओं द्वारा रूपेश (31) नामक युवक की हत्या के केस में स्थानीय एसएचओ व एक सब इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर किया गया है जबकि एक हेडकांस्टेबल व दो कांस्टेबल सस्पेंड किये गये हैं।

एडिशनल डीसीपी साउथ-ईस्ट के नेतृत्व में मामले की विजिलेंस के बाद यह निर्णय सीनियर अधिकारियों द्वारा लिया गया है। डीसीपी साउथ-ईस्ट चिन्मय बिश्वाल ने बताया कि इलाके में हत्या के बाद स्थानीय एसएचओ और पुलिस पर संगीन आरोप लगाये गये थे।

लोगों का आरोप था कि लोकल पुलिस ड्रग्स माफियाओं का शुरू से बचाव करती रही है। कई बार शिकायतों के बाद भी पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया था। उधर बीट स्टाफ हमेशा लोगों की शिकायतों की अनदेखी करते थे। मामले में विजिलेंस जांच के बाद एसएचओ सुनील कुमार और सब इंस्पेक्टर राजेंद्र को लाइन हाजिर किया गया है।

यह भी पढ़ेंः चीन में सी-प्लेन एजी 600 का सफल परीक्षण किया, रफ्तार 145 किलोमीटर प्रति घंटे

वहीं हेडकांस्टेबल अजय, कांस्टेबल सुरेंद्र और हरिचंद को सस्पेंड कर दिया गया है। गौरतलब है कि तैमूर नगर इलाके में रविवार देर रात रूपेश की उसके बच्चों के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। रूपेश ने गालियां दे रहे एक हमलावर को टोक दिया था।

वारदात सीसीटीवी में भी कैद हो गई थी। घटना से गुस्साये लोगों ने पुलिस की बाइक में आग लगा दी थी। साथ ही पुलिस की एक जिप्सी समेत दर्जनों वाहनों में तोड़फोड़ की गई थी। पुलिस को स्थिति काबू करने के लिये आंसू गैस के गोले तक छोड़ने पड़े थे।

इसके बाद सोमवार को भी दिनभर हंगामे व प्रदर्शन का दौर चलता रहा। परिजनों और स्थानीय लोगों ने शव को सड़क पर रखकर घंटो जाम लगाया। इलाके में उत्पन्न हुई लॉ एंड आर्डर की समस्या को देखते हुये विजिलेंस जांच के आदेश ज्वाइंट कमिश्नर ने दिये थे।

Next Story
Top