Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Sheila Dikshit Passes Away : जानें दिल्ली में हार के बाद कैसे हुई थी शीला दीक्षित की वापसी

दिल्‍ली की पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित का शनिवार को एस्कॉर्ट अस्पताल में निधन हो गया है। 81 साल की शीला दीक्षित की तबियत खराब होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

Sheila Dikshit Passes Away : जानें दिल्ली में हार के बाद कैसे हुई थी शीला दीक्षित की वापसीSheila Dixit passing away know about return in delhi politics

दिल्‍ली की पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित का शनिवार को एस्कॉर्ट अस्पताल में निधन हो गया है। 81 साल की शीला दीक्षित की तबियत खराब होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

कांग्रेस पार्टी ने ट्वीट कर लिखा कि हमें शीला दीक्षित के निधन का अफसोस है। आजीवन कांग्रेस के अध्यक्ष और तीन बार दिल्ली के सीएम के रूप में उन्होंने काम किया और दिल्ली का चेहरा बदल दिया। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति हमारी संवेदना।

दिल्ली में 15 साल तक शासन करने वाली शीला दीक्षित जब आम आदमी पार्टी से हार गई थी तो उसके बाद उन्होंने केरल की राज्यपाल बनाया गया और फिर उसके बाद दिल्ली में कांग्रेस की नींव कमजोर हो गई। कई सालों तक दिल्ली का प्रतिनिधित्व बदलता रहा।

लेकिन 15 साल तक दिल्ली पर शासन करने वाली पहले महिला मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने लोकसभा चुनाव के दौरान दमदार वापसी की और दिल्ली की गद्दी को संभाला। उनसे पहले अजय माकन और पीसी चाको ने दिल्ली में कांग्रेस प्रदेश के रुप में काम किया।

लेकिन लोकसभा चुनाव के चुनावी समीकरण के बीच आम आदमी पार्टी और कांग्रेस सीट बंटवारे ने शीला दीक्षित और वरिष्ठ नेता पी सी चाको के बीच मतभेद खड़े हो गए।

जहां पीसी चाको गठबंधन के समर्थन में थे तो वहीं दूसरी तरफ शीला दीक्षित समर्थन के पक्ष में तो थी लेकिन कम सीटे देने को तैयार थी। लेकिन इसी बीच अंतिम फैसला राहुल गांधी पर छोड़ा गया और दिल्ली में कांग्रेस ने अकेले लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया। इसके बाद दिल्ली में कांग्रेस का राजनीतिक चेहरे बदला और फिर से शीला दीक्षित ने वापसी की और दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया।

लोकसभा चुनाव के दौरान भले ही कांग्रेस को सीट ना मिली हो लेकिन दिल्ली में जमीन तलाशने के लिए कांग्रेस को शीला दीक्षित का ही सहारा लेना पड़ा और आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिए कांग्रेस ने शीला को बड़ी जिम्मेदारी दे दी।

Share it
Top