Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यौन उत्पीड़न मामला: कोर्ट ने आरके पचौरी के खिलाफ आरोप तय करने का दिया आदेश

दिल्ली की साकेत कोर्ट ने यौन उत्पीड़न के एक मामले में टेरी के पूर्व प्रमुख और मशहूर पर्यावरणविद आर के पचौरी के खिलाफ आरोप तय करने का आदेश दिया है।

यौन उत्पीड़न मामला: कोर्ट ने आरके पचौरी के खिलाफ आरोप तय करने का दिया आदेश

दिल्ली की साकेत कोर्ट ने यौन उत्पीड़न के एक मामले में द एनर्जी एंड रिसोर्सेस इंस्टीट्यूट (टेरी) के पूर्व प्रमुख और मशहूर पर्यावरणविद आर के पचौरी के खिलाफ आरोप तय करने का आदेश दिया है।

आर के पचौरी पर उनकी ही एक पूर्व सचिव ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। पचौरी पर आरोप लगाने वाली ये महिला यूरोपीय हैं। महिला के इन आरोपों के बाद पचौरी को टेरी अध्यक्ष का पद छोड़ना पड़ा था।

पीड़ित महिला ने साल 2015 में आर के पचौरी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने इस मामले में सबूत के तौर पर कई मोबाइल मैसेज, व्हाट्स मैसेज और ई-मेल आदि जानकारी कोर्ट के सामने पेश की है। इस मामले में अगली सुनवाई 20 अक्टूबर को होगी।

इसे भी पढ़ें- 'कांग्रेस कोर कमेटी' की बैठक कल, चुनावी रणनीति समेत अहम मुद्दों पर हो सकती है चर्चा

कौन है आर के पचौरी?

राजेन्द्र कुमार पचौरी या आर के पचौरी का जैम 20 अगस्त 1940 को नैनीताल में हुआ था। पचौरी 1981 में वह द एनर्जी रिसर्च इंस्टीट्यूटटेरी (टेरी) के डायरेक्टर बने थे।

आर के पचौरी अब करीब 21 किताबें लिख चुके हैं। उन्हें 20 अप्रैल 2002 को आईपीसीसी का अध्यक्ष चुने गए। जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण से जुड़े तमाम संस्थानों और फोरम में पचौरी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

पर्यावरण के क्षेत्र में उनके महत्वूपर्ण योगदान को देखते हुए भारत सरकार ने उन्हें 2001 में पद्म भूषण से सम्मानित किया था।

Next Story
Top