Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ड्राइवरों की छुटेगी गंदी फिल्में देखने की लत, सरकार चलाएगी अभियान

दिल्ली एयरपोर्ट के लिए रजिस्टर्ड ड्राइवर्स की एक साल चलेगी काउंसिलिंग

ड्राइवरों की छुटेगी गंदी फिल्में देखने की लत, सरकार चलाएगी अभियान

दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के 5000 टैक्सी ड्राइवरों का डी-एडिक्शन किया जा रहा है। इस प्रक्रिया के तहत ड्राइवरों की शराब और पोनोग्राफी की लत को खत्म करने करने के लिए काउंसिलिंग की जा रही है।

दिल्ली एयरपोर्ट से प्रतिदिन एक लाख मुसाफिरों के सुरक्षित सफर के लिए यह पहल चलाई जा रही है। ड्राइवर्स की यह काउंसिलिंग 1 साल तक चलेगी इसके बाद यह देखा जाएगा कि मुसाफिरों को कितना लाभ मिला।

इसे भी पढ़ें- मोदी को हराने के लिए शौरी का नया फार्मूला, सभी पार्टी एक कैंडिडेट उतारे

कई टैक्सी ड्राइवर इस कार्यक्रम में शामिल होने के बाद अपनी बुरी लत छोड़ चुके हैं और इस मुहिम को सही ठहरा रहे हैं।

पुलिस के मुताबिक आईजीआई एयरपोर्ट से हर रोज़ करीब 1 लाख लोग सफर करते हैं, जिसमें बड़ी संख्या में विदेशी भी होते हैं।

उनकी सुरक्षा के लिए ये कदम बेहद जरूरी है, क्योंकि अक्सर टैक्सी ड्राइवरों के बुरे बर्ताव की शिकायतें आती हैं।

सिखाया जा रहा है मैनर्स

दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पुलिस थाने में टैक्सी ड्राइवरों को बताया जा रहा है कि उन्हें सवारियों से कैसा बर्ताव करना है।

ड्राइविंग के वक़्त शराब से दूर रहना है। रिस्पॉन्सिबल ड्रिंकिंग क्या होती है और पोनोग्राफी से दूर कैसे रहा जा सकता है। दिल्ली पुलिस ये कदम इसलिए उठा रही है, क्योंकि टैक्सी ड्राइवर सबसे ज्यादा अपराध शराब के नशे में करते हैं।

डीसीपी एअरपोर्ट संजय भाटिया ने बताया, 'सबसे पहले मुसाफिर आकर लास्ट मील कनेक्टिविटी के लिए एयरपोर्ट पर टैक्सी ड्राइवर से मिलते हैं। उससे एक छवि भी बनती है। हम ये स्टडी करेंगे की इस प्रोग्राम से उनके बर्ताव में कितना फर्क आया है।

Next Story
Top