Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ये गिरोह करता था मासूमों को गायब, फिर करवाता था ये गंदा काम

दिल्ली पुलिस ने छोटी बच्चियों का अपहरण बेचने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया है।

ये गिरोह करता था मासूमों को गायब, फिर करवाता था ये गंदा काम

दिल्ली पुलिस ने छोटी बच्चियों का अपहरण बेचने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने इस गिरोह के एक शख्स को गिरफ्तार किया है। यह गिरोह बच्चियों को एक ऐसे गिरोह को बेचता था, जहां से उसे बड़े होने पर उन्हें देह व्यापार के धंधे में धकेल दिया जाता था।

क्या है मामला

उस्मानपुर पुलिस थाने में 24 अक्टूबर को रोहित नाम व्यक्ति ने पुलिस को शिकायत दी कि उसकी 4 साल की छोटी बेटी घर के सामने से खेलते-खेलते अचानक गायब हो गई। आसपास सारा इलाका देखने के बाद भी उसका कोई बेटी का कोई सुराग नहीं मिला।

इसे भी पढ़ें- शादी के बाद पत्नी से मन भर गया तो भाई के साथ मिलकर करने लगा ये गंदा काम

पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि बच्ची के साथ उस वक्त एक 5 साल का लड़का खेल रहा था। पुलिस ने बच्चे से पूछताछ की तो उसने बताया कि पास के रहने वाले एक विकलांग अंकल ने हम दोनों को टॉफी दिलाई, जिसके बाद मैं घर चला गया।

पुलिस ने बगल की गली में रहने वाले दिव्यांग शादाब को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने बच्ची के अपहरण की बात कबूल कर ली। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि बच्ची का अपहरण कर यूपी के फिरोजाबाद में बेच दिया। पुलिस की टीम शादाब को लेकर फिरोजाबाद पहुंची तो वहां नागिन नाम की महिला के पास से बच्ची सुरक्षित मिल गई। इसके बाद पुलिस ने शादाब और नागिन को गिरफ्तार कर लिया।

इसे भी पढ़ें- जानिए कैसे एक इंजीनियर लड़की बन गई वेश्या

पूछताछ में महिला ने पुलिस को बताया कि वह बच्चियों को खरीदकर बड़ा होने पर जिस्मफरोशी के धंधे में धकेल देते है। शादाब ने एक लाख बच्ची का सौदा किया था। पुलिस दोनों को रिमांड पर लेकर यह पूछताछ कर रही है कि इन दोनों ने अब तक कितने बच्चों का अपहरण कर बेचा है।

Next Story
Top