Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अंधेरे का फायदा उठाकर भागना चाहते थे मवेशी चोर, चार दबोचे

बीती रात पुलिस को मवेशी चोरी की खबर मिली, पुलिस पहुंची तो चार लोगों को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया है।

धरसींवा में ट्रक ने मवेशियों को रौंदा, 10 गायों की मौत, ग्रामिणों ने किया सड़क जामfile Photo

मोबाइल पेट्रोल वैन (पीसीआर) ने पशु चुराने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों का नाम शादाब (58), आसिफ (40), नवाब (42) और शबुद्दीन (55) है। पुलिस ने आरोपियों के पास से एक टेंपो और एक बछड़ा बरामद किया है। जांच में पुलिस को पता चला कि टेंपो पर लगी नंबर प्लेट भी फर्जी थी। पीसीआर ने आरोपियों को प्रेम नगर थाना पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है।

डीसीपी (पीसीआर) शरत कुमार सिंह के मुताबिक, मंगलवार तड़के करीब 02:35 बजे पुलिस को गांव रानी खेरा, इलाके से पशु चुराने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही मौके पर पीसीआर में तैनात हेड कांस्टेबल विनीत और कांस्टेबल प्रदीप (ड्राइवर) मौके पर पहुंच गए। कॉलर ने पुलिस को बताया कि चोर सात-आठ की संख्या में आते है और वह पहले भी कई भैंसे चुरा चुके है।

यह सुनते ही पीसीआर और पेट्रोलिंग टीम तुरंत हरकत में आई और वह घटना स्थल की ओर रवाना हो गए। उसी दौरान उन्हें एक टेंपो संदिग्ध हालत में घूमता दिखाई दिया। पुलिस टीम ने टेंपो को रूकने का इशारा दिया तो टेंपो चालक ने टेंपो की रफ्तार और बढ़ा दी। टीम ने पीछा कर टेंपो को रोक लिया।

उसी वक्त प्रखर वैन में तैनात हेंड कांस्टेबल दिनेश और कांस्टेबल अरुण भी मौके पर पहुंच गए। यह देख टेंपो में बैठे 8-10 आरोपी टेंपो को मौके पर छोड़कर अलग-अलग दिशा में भागने लगे। पुलिस टीम ने पीछा कर चार आरोपियों को दबोच लिया, जबकि अन्य आरोपी वहां से भाग गए।

आरोपियों को आई मामूली चोटें

उधर पुलिस टीम के साथ-साथ गांव के लोग भी मौके पर पहुंच गए। इस पर आरोपियों ने लोगों का विरोध किया। इस दौरान आरोपियों को मामूली चोटें भी आई। पुलिस घायल आरोपियों को संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल में लेकर गई। जहां प्राथिमक उपचार के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर फरार आरोपियों के बारे में जानकारी जुटाने की कोशिश कर रही है।

Next Story
Share it
Top