Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिवाली से पहले दिल्ली बनी ''जहरीली गैस का चैंबर'', लोगों का घुट रहा दम

दिल्ली की वायु गुणवत्ता बिगड़ने की स्थिति इस मौसम में पहली बार मंगलवार को ''गंभीर'' हो गई क्योंकि पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने में तेजी आ गई है। इससे दिल्ली की हवा में जहर घुलता जा रहा है।

दिवाली से पहले दिल्ली बनी

दिल्ली की वायु गुणवत्ता बिगड़ने की स्थिति इस मौसम में पहली बार मंगलवार को 'गंभीर' हो गई क्योंकि पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने में तेजी आ गई है। इससे दिल्ली की हवा में जहर घुलता जा रहा है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) अधिकारियों ने बताया कि समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) अपराह्न तीन बजे 401 था जो कि 'गंभीर' श्रेणी में पड़ता है। यह इस मौसम में उच्चतम स्तर है।

इसे भी पढ़ें- मध्य प्रदेश: 24 घंटे में दो बार कन्फ्यूज हुए राहुल गांधी, सोशल मीडिया पर हुए ट्रोल

इसमें 0 से 50 एक्यूआई को 'अच्छा', 51 से 100 को 'संतोषजनक', 101 से 200 को 'मध्यम', 201 से 300 को 'खराब', 301 से 400 को 'बहुत खराब' और 401 से 500 को 'गंभीर' माना जाता है।

केंद्र संचालित 'सिस्टम आफ एयर क्वालिटी फोरकास्टिंग एंड रिसर्च' (एसएएफएआर) ने वायु गुणवत्ता में आयी इस गिरावट के लिए पिछले 24 घंटे में काफी मात्रा में पराली जलाने और हवा शांत रहने को जिम्मेदार ठहराया।

इसे भी पढ़ें- नक्सल हमला: शहीदों की मौत पर राजनीति शुरू, कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशाना

एसएएफएआर अधिकारियों ने कहा कि वायु में पीएम 2.5 से करीब 28 प्रतिशत प्रदूषण पराली जलाने जैसे क्षेत्रीय कारकों के चलते हुआ।

इंडियन इंस्टीट्यूट आफ ट्रॉपिकल मेटियोरोलॉजी (आईआईटीएम) ने उपग्रह से ली गई तस्वीरों में दिल्ली के आसपास के राज्यों में कई स्थानों पर आग लगी देखी।

Next Story
Top