Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''आप'' PAC की बैठक खत्म, संजय सिंह, नवीन, सुशील गुप्ता जाएंगे राज्यसभा

दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने पहली बार राज्यसभा के लिए अपनी 3 सीटें पक्की कर ली हैं। पीएसी की बैठक में संजय सिंह, नवीन गुप्ता और सुशील गुप्ता को उम्मीदवार बनाने का फैसला किया गया है।

दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने पहली बार राज्यसभा के लिए अपनी 3 सीटें पक्की कर ली हैं। पीएसी की बैठक में संजय सिंह, नवीन गुप्ता और सुशील गुप्ता को उम्मीदवार बनाने का फैसला किया गया है। पीएसी आम आम आदमी पार्टी की निर्णय लेने वाली सर्वोच्च इकाई है।

आम आदमी पार्टी को 3 लोगों को राज्यसभा में भेजना है लेकिन केजरीवाल और मनीष सिसोदिया पिछले दिनों दिल्ली से बाहर थे इसलिए नाम तय नहीं हो पाए। अब आठ सदस्यीय पीएसी को नामों पर अंतिम फैसला कर दिया है। पीएसी की इस मीटिंग में कुमार विश्वास और आशुतोष शामिल नहीं हुए थे।

इसे भी पढ़ेंः कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद 'तीन तलाक बिल' आज राज्यसभा में करेंगे पेश, भाजपा ने इस दल से मांगी मदद

गौरतलब है कि कुमार विश्वास के समर्थकों ने आम आदमी पार्टी के मुख्य कार्यालय में कब्जा जमाकर कुमार विश्वास को राज्यसभा भेजने की मांग कर रहे थे। कुमार विश्वास के कहने के बाद समर्थक वहां से हटे। लेकिन समर्थकों के इस तरह के प्रदर्शन से केजरीवाल और कुमार विश्वास के बीच खाई और गहरी हो गई। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि सीट के लालची लोगों को पार्टी छोड़ने की नसीहत तक दे दी थी।

इनके नाम है चर्चा में

आम आदमी पार्टी ने अभी तक सदस्यों के नामों को लेकर पत्ते नहीं खोले हैं लेकिन चर्चाओं का बाजार गर्म है कि कि पार्टी 2 बाहरी उम्मीदवारों को राज्यसभा भेजने को तैयार दिख रही है। सूत्रों के हवाले से 2 नामों का पता चला है जिन्हें पार्टी राज्यसभा भेज सकती है। पहला नाम है सुशील गुप्ता का जो दिल्ली के बड़े कारोबारी हैं।

दिल्ली में इनके स्कूल और अस्पताल हैं। वह पहले कांग्रेस में थे और एक महीना पहले ही कांग्रेस से इस्तीफा दिया था। दूसरा नाम नवीन गुप्ता का सामने आ रहा है जो पेशे से चार्टर्ड अकाऊंटैंट हैं और फिलहाल द इंस्टीच्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाऊंटैंट ऑफ इंडिया के वाइस प्रैसीडैंट हैं।

संजय सिंह पर मुहर

वहीं यूपी के प्रभारी और पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह का राज्यसभा जाना लगभग तय है और पार्टी में उनके नाम पर सहमति बन चुकी है। दूसरी ओर रेस में विश्वास का भी नाम शामिल है। बता दें कि दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में से 66 पर आम आदमी पार्टी का कब्जा है, ऐसे में तीनों उम्मीदवारों का चुना जाना लगभग तय है। इसलिए उम्मीदवारी को लेकर विपक्षी दल, भाजपा और कांग्रेस खेमों में कोई हलचल नहीं है।

5 जनवरी नामांकन का आखिरी दिन

5 जनवरी को राज्यसभा के लिए नामांकन की आखिरी तारीख है। अगर आप इन दोनों नामों पर फैसला करती है तो यह पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास के लिए बड़ा झटका माना जाएगा। हालांकि आम आदमी पार्टी पहले से कह रही थी कि राज्यसभा में वह अलग-अलग क्षेत्र के पेशेवरों को भेजना चाहती है।

Next Story
Top