Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

MCD के गद्दारों की तलाश करेगी AAP, बुलाई बैठक

नॉर्थ एमसीडी के स्थायी समिति के कल मेयर पद लिए हुए चुनाव में बीजेपी के आदेश गुप्ता मेयर चुने गए हैं जबकि राजेश लावड़िया निर्विरोध चुन लिए गए हैं

MCD के गद्दारों की तलाश करेगी AAP,  बुलाई बैठक

नॉर्थ एमसीडी के स्थायी समिति के कल मेयर पद लिए हुए चुनाव में बीजेपी के आदेश गुप्ता मेयर चुने गए हैं जबकि राजेश लावड़िया निर्विरोध चुन लिए गए हैं, बीजेपी की ही बीना वीरमानी व निशा मान स्थायी समिति के सदस्य के तौर पर आसानी से चुन लिए गए। वहीं इस चुनाव में हार के बाद आम आदमी पार्टी में बवाल खड़ा हो गया है।

आम आदमी पार्टी के नेता राकेश कुमार की हार के बाद पार्टी के भीतर छिपे गद्दारों की तलाश शुरु हो गई है। इसके लिए बकायदा आप की ओर से आज एक बैठक भी बुलाई गई है, जिसमें सदस्यों को कसम दिलाकर पूछा जाएगा कि पार्टी कैसे हार गई।

ये भी पढ़ें- जबरन वसूली मामले में चार मई को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश होगा गैंगस्टर अबू सलेम

वैसे पार्टी ने गद्दारों की तलाश कर ली है, बस उन पर आरोप तय करना बाकी है। हार को लेकर पार्टी के दो पार्षद निशाने पर हैं।
स्थायी समिति के तीसरे सदस्य को चुने जाने लेकर आप नेता राकेश कुमार व कांग्रेस दल के नेता मुकेश गोयल ने पर्चा भरा था। चूंकि नॉर्थ एमसीडी में आप के 21 पार्षद और कांग्रेस के 16 पार्षद हैं, इसलिए राकेश कुमार के जीत के दावे किए जा रहे थे। लेकिन बाजी मुकेश गोयल मार ले गए।
इस उलटफेर से आम आदमी पार्टी में बवाल शुरू हो गया है और इस बात पर हैरानी जताई जा रही है कि आखिर बहुमत के बावजूद पार्टी इस पद को कैसे हार गई। इसके लिए आज पार्टी की बैठक बुलाई गई है।
आप नेता राकेश कुमार का कहना है कि यह शर्मसार करने की बात है कि पार्टी के दो पार्षदों ने कांग्रेस के नेता को वोट दे दिया। यह तो बहुत बड़ी गद्दारी हुई है और गद्दार को तलाश कर उसे बाहर निकालना जरूरी है ताकि हमारी पार्टी अलग नजर आए।
राकेश कुमार ने पार्टी पार्षद मोहम्मद सादिक और साहिल कुरैशी पर शक जताया है कि उन्होंने कांग्रेस को वोट दिया है।
नेता विपक्ष का कहना है कि वह इसकी शिकायत पार्टी की आज होने वाली बैठक में करेंगे और दोषी पार्षदों को पार्टी से निकालने से मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी से विश्वासघात बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
सूत्र बताते हैं कि आज होने वाली बैठक में सभी पार्षदों को कसम दिलाकर पूछे जाने की संभावना है कि उन्होंने आप उम्मीदवार को वोट दिया था या नहीं।
Next Story
Top