Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अपराध मुक्त और स्वच्छ राजनीति के लिए एक और आंदोलन की जरुरत- अन्ना हजारे

अन्ना हजारे ने 23 मार्च से पुनः जोश के साथ अपना जन आंदोलन शुरु करने की घोषणा की और कहा कि युवकों को लोकतंत्र सुधार और लोकपाल नियुक्ति के जन आंदोलन में भाग लेना चाहिए।

अपराध मुक्त और स्वच्छ राजनीति के लिए एक और आंदोलन की जरुरत- अन्ना हजारे
X

नई दिल्ली। देश को भ्रष्टाचार से दूर करने और बेहतर बनाने के लिए अब एक ओर आंदोलन की जरूरत है। उक्त संबोधन स्वच्छ राजनीति और अपराध मुक्त भारत विषय पर आयोजित संगोष्ठी में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित और जाने माने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कहे।

भारतीय मतदाता संगठन द्वारा काॅन्स्टीट्यूशन क्लब में आयोजित संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस मौके पर अन्ना हजारे ने 23 मार्च से पुनः जोश के साथ अपना जन आंदोलन शुरु करने की घोषणा की और कहा कि युवकों को लोकतंत्र सुधार और लोकपाल नियुक्ति के जन आंदोलन में भाग लेना चाहिए।

इस अवसर पर भारतीय मतदाता संगठन के अध्यक्ष रिखब चन्द जैन ने कहा कि भारत के लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए देश की राजनैतिक पार्टियां राष्ट्रनीति पर चलें, दलगत नीति के स्वार्थ को त्यागें तथा दागी अपराधी तत्वों को सत्ता में न लायें तभी भारत अपराध मुक्त हो सकता है। सुशासन के लिए किसी भी राजतंत्र में सुरक्षा और शांति तभी रह सकती है जब अपराध न हों, नागरिक निश्चित निर्भय हो। वर्तमान में अपराधी बेकाबू हो रहे हैं। अपराध हर वर्ष बढ़ रहे हैं। संसद एवं विधान सभाओं में दागी अपराधी बढ़ रहे हैं। बिहार में 58 प्रतिशत विधायक दागी हैं, तो यू.पी. में प्रतिशत दागी विधायक हैं। मंत्रिमंडलों में तो 30 प्रतिशत दागी सांसद / विधायक हैं। स्वच्छता सदा ऊपर से नीचे लायी जाती है।
उन्होने कहा, राजनैतिक पार्टियां या तो स्वैच्छा से मतदाताओं को चुनाव में सिर्फ सही, निःस्वार्थी, सेवा भाव, योग्य प्रत्याशी ही प्रस्तुत करें। नेक नियति से चुनाव प्रक्रिया में भाग लें। चुनाव खर्च सीमा पार न करें, प्रत्याशी चयन को धन, बल से प्रभावित न करें, टिकट न बेचें, वोट न खरीदें, धर्म और जाति के आधार पर चुनाव में न चलें, वोट बैंक और ध्रुवीकरण का सहारा न लें तभी राजनैतिक स्वच्छता आ सकती है। सुशासन तभी सम्भव है। गरीबी, भय, अशान्ति और असुरक्षा खत्म हो सकती है। प्रशासन एवं पुलिस तथा अन्य सुधर तभी सम्भव होगें, तभी विकास तेजी से होगा।
जैन ने यह भी कहा कि अगर राजनैतिक पार्टियां सुधार न लायें, राष्ट्र पहले नीति न अपनायें, स्वार्थवश राजधर्म और राष्ट्रधर्म पर न चलें तो उन पर कानूनी लगाम लगे और खासकर चुनावी टिकट बंटवारे के लिए कानूनी गाईडलाइन लागू हो। पार्टी कर्णधर मनमानी न चला पायें, गैर जिम्मेदारी के साथ गलत, दागी, अपराधियों को सत्ता में न लायें।
महिला और युवाओं को उन्होंने बताया अब समय आ गया है। आॅल वूमेन पार्टी और आॅल यूथ पार्टी बने तभी युवकों और महिलाओं को सत्ता के अवसर जल्दी सुलभ मिल सकेगें। ऐसा होनी ही राष्ट्रहित में है। देश के चमकते सितारे हर कार्य क्षेत्र से, बार एसोसिएशन, प्रबुद्ध नागरिक, सज्जन नागरिक, निष्क्रियता छोड़कर एकजुट होकर राजनीति में स्वच्छता के लिए समर्पित भाव से आगे आयें, संवाद द्वारा संघर्ष करें।
विशिष्ट अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय को लोकतंत्र महाप्रहरी सम्मान से नवाजा गया। उपाध्याय ने लोकतंत्र की मजबूती एवं सुरक्षा के लिए जनहित याचिकाओं के माध्यम से अनेक आदेश सर्वोच्च न्यायालय से पारित करवाये हैं। उपाध्याय ने इस दिशा में और घनिष्ठ प्रयास करने का आश्वासन दिया। इस मौके पर सचिव राजेंद्र स्वामी ने कहा कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए मीडिया के विशिष्ट योगदान की आवश्यकता है और पत्रकारों को बेहतर निष्पक्षता के साथ आगे आना चाहिए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top