Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नए साल के पहले ही दिन थमी दिल्ली की रफ्तार, इंडिया गेट पर जुटे 1 लाख लोग- ट्रैफिक बुरी तरह जाम

दिल्ली पुलिस की ओर से भी कहा गया है कि इंडिया गेट के पास 1 लाख से ज्यादा लोगों के जमा होने से यातायात अगले कई घंटे तक बाधित रहा है।

नए साल के पहले ही दिन थमी दिल्ली की रफ्तार, इंडिया गेट पर जुटे 1 लाख लोग- ट्रैफिक बुरी तरह जाम

नए साल पर देश के कई बड़े शहरों और पर्यटन स्थलों पर लोगों ने जहां जमकर एंजॉय किया वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के लोगों को महाजाम का सामना करना पड़ा। इसकी वजह बना नए साल पर ज्यादातर लोगों का इंडिया गेट को जश्न स्पॉट का चुनाव करना।

हालांकि अहमदाबाद, अमृतसर और अगरतला जैसे शहरों में लोगों ने खूब एंजॉय किया और नए साल को यादगार बनाया। अमृतसर में लोगों ने गोल्डन टैंपल में मथ्था टेका तो अहमदाबाद में लोगों ने बलून उड़ाकर जश्न मनाया। वहीं पूर्वोत्तर के शहर अगरतला में कई बच्चों के एक साथ जन्म से लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

यह भी पढ़ें- PAK हमें मूर्ख समझता है, 15 सालों में उसे मदद देना बेवकूफी: डोनाल्ड ट्रंप

नए साल के पहले दिन घूमने-फिरने और पार्टी करने घरों से बाहर निकले लोगों के कारण राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कई जगहों पर शाम को भारी जाम लग गया। इंडिया गेट के पास तिलक मार्ग पर शाम 5 बजे से गाड़ियों की लंबी कतारें देखी गईं।

दिल्ली पुलिस की ओर से भी कहा गया है कि इंडिया गेट के पास 1 लाख से ज्यादा लोगों के जमा होने से यातायात अगले कई घंटे तक बाधित रहा है। दिल्ली पुलिस ने माना है कि इंडिया गेट के आस-पास बड़ी तादाद में गाड़ियां मौजूद हैं।

यह भी पढ़ें- 'GST' रिटर्न में गलतियां सुधारने के नियम हुए आसान, इन्हें मिलेगी राहत

पास में कोई भी पार्किंग की सुविधा उपलब्ध नहीं है। ऐसे में लोगों को सलाह दी गई है कि वे इंडिया गेट के आस-पास जाने से बचें और किसी दूसरे वैकल्पिक मार्ग से आगे का सफर करें। कनॉट प्लेस, मंडी हाउस, अशोक रोड के पास भी भारी जाम की स्थिति बनी हुई है।

इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने लाजपत नगर फ्लाईओवर पर जाने से भी बचने की सलाह दी है। यहां कुछ मरम्मत का काम चल रहा है, इस कारण जाम की स्थिति बन सकती है।

छतरपुर मंदिर और साई मंदिर के आसपास के इलाके में भारी संख्या में श्रद्धालुओं के पहुंचने से जाम की स्थिति बन सकती है, इसलिए लोगों से उस इलाके में जाने से बचने को कहा गया है।

Next Story
Top