Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लोकसभा चुनाव : अर्थशास्त्री भी चक्कर खाकर गिर जाएं, दिल्ली की इस पार्टी के घोषणापत्र में किए ये बड़े वादे, सुनकर रह जाएंगे हैरान

भाजपा कांग्रेस से लेकर सारी बड़ी पार्टियां चुनाव जीतने के लिए पूरे देश में धड़ाधड़ रैलियां और रोड शो कर रहे हैं। जनता को लुभाने के लिए अपने घोषणा पत्र में तमाम वायदे कर रहे हैं। चुनावी वायदों के इस मौसम में एक सबसे बड़ा वादेबाज प्रत्याशी भी अपने चौकस वादे के साथ संसद भवन पहुंचना चाहता है।

लोकसभा चुनाव : अर्थशास्त्री भी चक्कर खाकर गिर जाएं, दिल्ली की इस पार्टी के घोषणापत्र में किए ये बड़े वादे,  सुनकर रह जाएंगे हैरान

देश में इन दिनों लोकसभा चुनाव चल रहे हैं। भाजपा कांग्रेस से लेकर सारी बड़ी पार्टियां चुनाव जीतने के लिए पूरे देश में धड़ाधड़ रैलियां और रोड शो कर रहे हैं। जनता को लुभाने के लिए अपने घोषणा पत्र में तमाम वायदे कर रहे हैं। चुनावी वायदों के इस मौसम में एक सबसे बड़ा वादेबाज प्रत्याशी भी अपने चौकस, चौचक वादे के साथ संसद भवन पहुंचना चाहता है।

उत्तर पूर्व दिल्ली लोकसभा क्षेत्र से अपनी उम्मीदवारी पेश कर रहे अमित शर्मा सांझी विरासत पार्टी से सम्बन्ध रखते हैं। प्रत्याशी अमित शर्मा ने अपना घोषणा पत्र जारी किया है। उनके वायदे सुनकर बड़े-बड़े अर्थशास्त्री कांप जाएंगे। अमित शर्मा ने बेरोजगारों को 10 हजार रुपए मासिक बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया है। विद्यार्थियों को फ्री मैट्रो और बस पास देने की बात की है। सिर्फ किराया ही नहीं पीएचडी तक की फीस माफ करने का वादा भी कर दिया है।

अमित शर्मा ने अपने घोषणा पत्र में सबकी जरूरत का खयाल रखा है। महिलाएं निराश न हों इसके लिए उन्हें मुफ्त में सोना देने की बात की है। राशन फ्री, हाउस टेक्स माफ, लड़की पैदा होने पर 50 हजार और शादी के वक्त ढाई लाख रुपए देने का भी वायदा किया है।

वादे एक बार शुरू किए तो करते ही चले गए अमित शर्मा। विधवाओं को पेंशन, अस्पतालों में 10 लाख का इलाज फ्री, कब्रिस्तान के लिए 25 बीघा जमीन मुफ्त तो दे ही रहे हैं साथ ही ईद पर हर मुस्लिम परिवार को बकरा भी फ्री देने की बात कर रहे हैं। हर वर्ग को ध्यान में रखते हुए शराबियों पर भी दया की गई है दिल्ली में अमित शर्मा के जीतते ही शराब आधे दाम पर कर दी जाएगी।

अमित शर्मा के इस घोषणा पत्र में सबके लिए सबकुछ है। अभी चुनाव आने में काफी वक्त है हो सकता है कि अमित जी 1-2 घोषणा पत्र और जारी करें। हो सकता है वो बताएं कि इतना देने के लिए पैसा कहां से लाएंगे।

बहरहाल ये पहली मर्तबा नहीं है कि ऐसे प्रत्याशी मैदान में हो। पिछले चुनाव मे इलाहाबाद से नीरज नाम के एक प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे थे। उनके पोस्टर में लिखा होता था कि देश संकट में है मेरा प्रधानमंत्री बनना बहुत जरूरी है। चुनाव एक त्योहार सरीखे है। यहां सबकुछ होता है। चुनावी मैदान पर भले न जीत पाएं पर सोशलमीडिया पर सबका दिल जीत लेते हैं।

Next Story
Share it
Top