Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

NCB ने 1.140 किलो ड्रग्स के साथ चार छात्रों किया गिरफ्तार, DU के इस कॉलेज का छात्र है सरगना

नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने दिल्ली में चार लड़कों को 1.140 किलो ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया है। ये चार लड़के देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्र है।

NCB ने 1.140 किलो ड्रग्स के साथ चार छात्रों किया गिरफ्तार, DU के इस कॉलेज का छात्र है सरगना

नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने दिल्ली में चार लड़कों को 1.140 किलो ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया है। ये चार लड़के देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्र है।

गिरफ्तार छात्रों में से दो छात्र दिल्ली यूनिवर्सिटी के हिंदू कॉलेज से, एक जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय और एक छात्र एमिटी यूनिवर्सिटी का है। पुलिस ने इनके पास से ड्रग्स के साथ तीन एलएसडी ब्लॉट पेपर जब्त भी किए हैं। इस चरस की खपत दिल्ली विश्वविद्यलाय के नॉर्थ कैम्पस में और उसके आसपास छात्रों की नए साल की पार्टी में की जानी थी।

इसे भी पढ़ेंः नए नाम के साथ रिलीज होगी फिल्म 'पद्मावती', सेंसर बोर्ड ने दिखाई हरी झंडी!

पुलिस ने मिली जानकारी के मुताबिक, ये छात्र नए साल की पार्टी की तैयारी कर रहे थे और यह ड्रग्स उसी जश्न के लिए मंगाई गई थी। पुलिस इस बात का पता लगाने में जुटी है कि छात्र किसी गिरोह से जुड़े हैं या फिर ड्रग्स निजी इस्तेमाल निजी के लिए लाए थे।

एनडीएसएस एक्ट तहत गिरफ्तारी

इन्हें नार्कोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंसेज एक्ट के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया है। एनसीबी के उप महानिदेशक (उत्तर) एस. के. झा ने कहा, ‘अनिरुद्ध माथुर, तेनजिन फुनचोंग और सैम मलिक सभी चरस लेने के आदी हैं और वे गौरव से चरस लेते थे।’

हिंदू कॉलेज का स्टूडेंस है गिरोह का सरगना

झा ने कहा, ‘उन्होंने यह भी बताया कि दिल्ली विश्वविद्यालय कैम्पस क्षेत्र में मादक पदार्थ बड़े स्तर पर लिए जाते हैं। उन्होंने इस गिरोह में शामिल मादक पदार्थों के तस्करों तथा अन्यों के बारे में भी सूचना दी जिसकी पुष्टि की जा रही है।’ एनसीबी ने बताया कि हिंदू कॉलेज के छात्र गौरव का नाम इस गिरोह के सरगना के रूप में सामने आया है।

आपको बता दें कि नए साल के मौके पर कई जगहों से ड्रग की तस्करी और उनकी आपूर्ति के मामले सामने आते रहते हैं और स्मगलर्स की धरपकड़ भी होती रहती है। लेकिन यूनिवर्सिटी के छात्रों का इस तरह की चीजों में शामिल होना निश्चित तौर पर एक चिंताजनक बात है।

Next Story
Top