Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मेजर की पत्नी से प्यार-शादी से इनकार, 24 घंटे में इस तरह सुलझी मर्डर मिस्ट्री

पुलिस ने बताया कि मेजर निखिल हांडा मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा से प्रेम करने लगा था। उससे शादी करना चाहता था।

मेजर की पत्नी से प्यार-शादी से इनकार, 24 घंटे में इस तरह सुलझी मर्डर मिस्ट्री

पश्चिमी दिल्ली में थल सेना के मेजर की पत्नी शैलजा की हत्या की गुत्थी 24 घंटे में सुलझा ली गई। पुलिस ने आरोपी मेजर निखिल हांडा को उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के दौराला से गिरफ्तार किया कर लिया। मेजर निखिल हांडा से पूछताछ में प्रेम प्रसंग के मामले की पुष्टि हुई है।

पुलिस ने बताया कि मेजर निखिल हांडा मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा से प्रेम करने लगा था। उससे शादी करना चाहता था, लेकिन शैलजा ने जब शादी से इनकार कर दिया तो गुस्से में निखिल ने चाकू से गला रेतकर शैलजा की हत्या कर दी।

मृतका के मोबाइल फोन की जांच की गई तो अाखिरी कॉल डिटेल निखिल हांडा की मिली। इसके आधार पर ही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस जांच में मेजर की पत्नी के दूसरे मेजर से प्रेम प्रसंग होने की बात सामने आ रही थी।

पुलिस से पूछताछ में मेजर अमित द्विवेदी ने पत्नी का एक दूसरे मेजर से संबंध होने का शक जताया था। रविवार सुबह को पूछताछ में अमित ने बताया कि दिल्ली आने से पहले दीमापुर में उनकी पोस्टिंग थी, यहां पर उनकी पत्नी की नजदीकियां एक दूसरे मेजर से बढ़ गई थीं।

दिल्ली आने के बाद भी उनकी पत्नी की उस मेजर से बातचीत होती थी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सेना के मेजर निखिल हांडा को दिल्ली पुलिस की टीम ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद उन्होंने मेरठ में अपने समकक्ष अधिकारियों को इसके बारे में जानकारी दी।

गौरतलब है कि कल रात दिल्ली छावनी के बरार स्कवायर के पास महिला का शव पाया गया था। उसका गला रेता हुआ था। शुरूआत में पुलिस को सूचना दी गई कि महिला की दुर्घटना में मौत हो गई है। लेकिन बाद में जब उन लोगों ने शव का मुआयना किया तो पता चला कि उसका गला रेता हुआ था।

आरोपी ने कथित रूप से उसके चेहरे को एक कार से कुचल दिया था, ताकि यह घटना एक दुर्घटना प्रतीत हो सके। महिला को उसके पति के आधिकारिक वाहन से एक चालक ने कल आर्मी बेस हास्पिटल में छोड़ा था।

बाद में, जब वह उसे ले जाने के लिए आया तब उसने उसे वहां नहीं पाया और यह पता चला कि वह अपनी फिजियोथेरेपी सत्र में भी शामिल नहीं हुई थी।

तीन साल से संबंध

मेजर निखिल और मेजर अमित द्विवेदी के परिवार के बीच पिछले तीन साल से अच्छे संबंध थे। दीमापुर में पोस्टिंग के दौरान दोनों मेजर्स के बीच पारिवारिक संबंध बढ़े, लेकिन इस बीच मेजर निखिल का झुकाव शैलजा की ओर बढ़ता ही चला गया।

मोबाइल कॉल से धरा गया

पुलिस ने बताया कि मृतका शैलजा के मोबाइल की डिटेल्स जब खंगाली गईं तो पता चला कि मेजर निखिल ने शैलजा को ढेर सारे कॉल किए थे। ज्यादा कॉल किए जाने की वजह से पुलिस को मेजर निखिल पर पहला शक हुआ।

पुलिस ने जब मेजर निखिल से कॉन्टैक्ट करने की कोशिश की तो पुलिस को समझ आया कि वह भागने की कोशिश कर रहा है, जिससे पुलिस का मेजर निखिल पर शक और बढ़ गया।

Next Story
Top