Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रगति मैदान में दिखेगा वाटर शो का शानदार नजारा, मिलेगी नई तकनीक और कई जानकारियां

200 से ज्यादा एग्जीबिटर्स, 15 हजार से ज्याद बिजनेस विजिटर्स, 100 से ज्यादा इंटरनेशनल एक्टीबिटर्स। जी हां, दक्षिण एशिया के सबसे बड़े वाटर शो को देखना है तो आइए प्रगति मैदान।

प्रगति मैदान में दिखेगा वाटर शो का शानदार नजारा, मिलेगी नई तकनीक और कई जानकारियां
X

200 से ज्यादा एग्जीबिटर्स, 15 हजार से ज्याद बिजनेस विजिटर्स, 100 से ज्यादा इंटरनेशनल एक्टीबिटर्स। जी हां, दक्षिण एशिया के सबसे बड़े वाटर शो को देखना है तो आइए प्रगति मैदान।

यहां इंटरनेशनल वॉटर कॉन्फ्रेंस और ट्रेनिंग वर्कशॉप शिक्षा हासिल करने और नेटवर्क बनाने के लिहाज से बेहतरीन मौका मिलेगा। यह पहली बार है जब भारत में वाटर से जुड़ी नई तकनीक देखने को मिलेगी।
गुरुवार को नई दिल्ली में जल संसाधन पर आयोजित तीन दिवसीय मेगा प्रदर्शनी का उद्घाटन नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा के महानिदेशक राजीव रंजन मिश्रा, केंद्रीय भूजल बोर्ड के चेयरमैन के.सी. नायक और महाराष्ट्र जल संसाधन नियामक प्राधिकरण के अध्यक्ष के.पी. बख्शी ने किया।
इस प्रदर्शनी के आयोजन में केंद्रीय भूजल बोर्ड (सीजीडब्ल्यूबी), एनर्जी एंड रिसोर्सेज इंस्टिट्यूट (टीईआरआई), दिल्ली जल बोर्ड और महाराष्ट्र जल संसाधन नियामक प्राधिकरण (एमडब्ल्यूआरआरए) से पूर्ण समर्थन मिला।
200 से ज्यादा एग्जीबिटर्स और 15 हजार से ज्यादा बिजनेस विजिटर्स के साथ “एवरीथिंग अबाउट वॉटर एक्सपो” जल संसाधन या वेस्ट वॉटर मैनेजमेंट से जुड़े प्रोफेशनल्स का इस साल सबसे बड़ा जमावड़ा है। दुनिया भर के 100 से ज्यादा इंटरनेशनल एक्जीबिटर्स ने पहली बार भारत में किसी समारोह में नई तकनीक का प्रदर्शन करेंगे।
ऑस्ट्रेलिया इस प्रदर्शनी में एक भागीदार देश के रूप में शिरकत कर रहा है। प्रदर्शनी में नीदरलैंड, हंगरी, चीन और ताइवान के इंटरनेशनल पैवेलियन लगाए गए हैं। इस शो में 32 से ज्यादा देशों के प्रतिनिधियों ने भागीदारी की। यह इस इवेंट की वास्तविक अंतरराष्ट्रीय प्रकृति और इस सेक्टर के मजबूत ग्लोबलाइजेशन को प्रदर्शित करता है।
इंटरनेशनल वॉटर कॉन्फ्रेंस और ट्रेनिंग वर्कशॉप शिक्षा हासिल करने और नेटवर्क बनाने के लिहाज से बेहतरीन मौका साबित होगा। इंटरनेशनल एग्जीबिटर्स की बड़ी संख्या और इस साल प्रदर्शनी के आकार में हुई बढ़ोतरी इस इवेंट को इंडस्ट्री से मिल रहे समर्थन का स्पष्ट संकेत है, जिसे अब वॉटर और वेस्ट वॉटर इंडस्ट्री के प्रतिनिधियों के सबसे विशाल जमावड़े में से एक माना जाता है।
भारत को वॉटर सेक्टर का पावर हाउस बनाते हुए जल संसाधन पर इस साल की प्रदर्शनी में वॉटर इंडस्ट्री से जुड़े सभी भागीदारों के लिए कारोबार के विशाल अवसरों का मौका मिलेगा। इस प्रदर्शनी से वॉटर ओईएम, सिस्टम इंटिग्रेटर्स, डीलर, डिस्ट्रिब्यूटर्स और इंडस्ट्री में व्यापारिक सहयोग बढ़ाने का बेहतरीन अवसर मिलेगा।
प्रदर्शनी में भारत और दुनिया भर से वॉटर और वेस्ट वॉटर के कंप्लीट प्रॉडक्ट सेगमेंट में नए-नए आविष्कारों और आधुनिक तकनीक का प्रदर्शन किया गया। नई और आधुनिक तकनीक की झलक दिखाने के लिए लाइव टेक्नोलॉजी का डिस्प्ले किया गया और प्रॉडक्ट्स के डेमो दिए गए।
ईए वॉटर बिजनेस की हेड निशा अग्रवाल ने कहा, “पिछले कुछ सालों में हमने कुछ बड़ी परियोजनाओं जैसे गंगा की सफाई के राष्ट्रीय मिशन, स्मार्ट शहरों की पहल और स्वच्छता अभियान पर काफी सक्रियता देखी है।
इन पहलों ने जल संसाधन से जुड़े समुदाय पर इस क्षेत्र में आगे बढ़ने की काफी बड़ी जिम्मेदारी डाल दी है क्योंकि जल संसाधन के प्रबंधन और स्वच्छता से ही स्थिर विकास की गति निरंतर बनी रहती है। “द एवरीथिंग अबाउट वॉटर एक्सपो” में विकास का बेहतर मॉडल बनाने के लिए विकास और पर्यावरण के बीच संतुलन बनाने का प्रयास किया गया।
सभी प्रमुख भागीदारों को जल प्रबंधन से संबंधित चुनौतियों, समाधान और अवसरों के प्रति जागरूक और संवेदनशील रहना चाहिए। अगले साल प्रदर्शनी किस जगह आयोजित की जाएगी इस संबंध में कई लोग कार्यक्रम के वेन्यू पर और संबंधित वेवसाइट www.eawater.com/expo पर पूछताछ कर रहे हैं।
मुझे पूरा विश्वास है कि इस एक्सपो में बनाए गए कई संपर्क लाभदायक संयुक्त उपक्रम या पाटर्नरशिप में तब्दील होंगे। हमारी टीम इस तरह के संपर्कों की सुविधा प्रदान करने और उन्हें समर्थन देने के लिए हर समय उपलब्ध है।“ यह प्रोग्राम प्रगति मैदान के हॉल नंबर 12 ए में 23 अगस्त से 25 अगस्त तक चलेगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story