Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मां ने एक लाख रुपए में बेच दी अपनी 15 साल की लड़की, 1 महीने पहले बेचा था एक साल का लड़का

बेटी के मुताबिक उसकी मां अब्दुल नाम के व्यक्ति के संपर्क में थी, जिसका बाल तस्करी का पुराना रिकॉर्ड था। उसने उसकी मां को पेशकश की कि अगर वह निशा की शादी हरियाणा में एक 62 साल के आदमी से कर देगी तो वह उसे एक लाख रुपये देगा।

मां ने एक लाख रुपए में बेच दी अपनी 15 साल की लड़की, 1 महीने पहले बेचा था एक साल का लड़काDelhi: Mother Sold Her 15 Year Old Girl For One Lakh Rupees

देश की राजधानी दिल्ली में मानव तस्करी का धंधा बेरोकटोक जारी है। दिल्ली पुलिस लड़कियों के खिलाफ अपराध और तस्करी पर अंकुश लगाने में विफल दिखायी देती है। मानव तस्करी का नया मामला बवाना इलाके में प्रकाश में आया है जहां एक मां ने एक लाख रुपए के लिए अपनी 15 साल की बेटी को बेच दिया।

वहीं एक महीने पहले इसी मां ने अपने एक साल के बेटे को बेच दिया था। हालांकि पीड़िता लड़की ने बहादुरी दिखाकर खरीददार के चुंगल से भागने में सफल रही और उसने दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की हेल्पलाइन पर संपर्क किया और आपबीती सुनाई। जिसके बाद डीसीडब्ल्यू टीम ने लड़की को तस्करों के चुंगल से बचाया।

डीसीडब्ल्यू ने मिली जानकारी के अनुसार 8 सितंबर को निशा (परिवर्तित नाम) की मां ने उससे कहा कि वे बदरपुर में उसकी बहन के यहां जा रहे हैं, लेकिन वह उसे निजामुद्दीन के एक होटल में ले गयी। होटल में सौदा करने के बाद निशा की मां ने उससे कहा कि उसे कहीं जाना है, शाहिद नाम का एक आदमी उसे घर ले जाएगा।

मगर शाहिद उसे उसके घर ले जाने के बजाय, उसे बवाना गांव की ईश्वर कॉलोनी में अपने घर ले गया। शाहिद के घर की लड़कियों ने निशा से कहा कि वह शादी का जोड़ा पहने और तैयार हो जाये।

पूछने पर उन्होंने उसे बताया कि उसकी मां ने उसे एक लाख रुपये में बेच दिया है और वह अब रकम वसूलने के लिए उसे ग्राहकों के साथ सोना पड़ेगा। हालांकि इस परिस्थिति में भी पीड़िता ने हिम्मत से काम लिया और एक दिन के भीतर ही निशा खरीददार को चकमा देकर वहां से भागने में कामयाब रही।

जिसके बाद वह सीधे बवाना जेजे कॉलोनी स्थित अपने घर वापस पहुंच गई। उसने अपने पड़ोसियों से मदद मांगी, जिन्होंने डीसीडब्ल्यू की 181 महिला हेल्पलाइन पर फोन किया। डीसीडब्ल्यू की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और लड़की को स्थानीय पुलिस स्टेशन ले गई।

निशा की मां बाल तस्कर के संपर्क में थी

निशा ने बताया कि उसकी मां अब्दुल नाम के व्यक्ति के संपर्क में थी, जिसका बाल तस्करी का पुराना रिकॉर्ड था। उसने उसकी मां को पेशकश की कि अगर वह निशा की शादी हरियाणा में एक 62 साल के आदमी से कर देगी तो वह उसे एक लाख रुपये देगा।

हालांकि, जब निशा को इस बारे में पता चला, तो उसने इस बात का विरोध किया और अपनी मां को चेतावनी दी कि अगर वह उसे शादी के लिए मजबूर करने की कोशिश करती है तो वह उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करेगी। अब्दुल वही शख्स है जिसने उसकी मां को शाहिद से मिलवाया था, जो इस मामले में मुख्य तस्कर है।

पिछले महीने एक साल के भाई को बेंच दिया था उसकी मां ने

पीड़िता ने कभी अपने पिता को नहीं देखा और वह अपनी मां, सौतेले पिता और 4 भाई-बहनों के साथ बवाना जेजे कॉलोनी में रहती थी। उसने बताया कि उसकी मां ने पिछले महीने उसके एक साल के भाई को भी एक तस्कर को बेच दिया था। उसकी मां कर्ज में डूबी हुई थी और उसने कर्ज लौटने के लिए अपना बच्चा बेच दिया था।

पुलिस ने आईपीसी की धारा 370अ के तहत मामले में एफआईआर दर्ज की है। पीड़िता को एक आश्रय गृह में भेज दिया गया है और पुलिस अभी तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं कर पाई है।

तस्करों के साथ मां को भी किया जाए गिरफ्तार : स्वाति

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि तस्करों के साथ मां को भी गिरफ्तार किया जाना चाहिए। इसके अलावा सौतेले पिता की भूमिका की भी पूरी जांच होनी चाहिए। एक साल के लापता लड़के का भी पता लगाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह पुलिस को नोटिस जारी कर रहे हैं और पुलिस से मामले में रिपोर्ट मांग रहे हैं।

Next Story
Share it
Top